डॉक्टर नीलम महेंद्र को अटल पत्रकारिता सम्मान

नई दिल्ली , डॉक्टर नीलम महेंद्र को अटल बिहारी वाजपेयी पत्रकारिता सम्मान- 2018 से सम्मानित किया गया।चर्चित वेबसाइट प्रवक्ता. कॉम की ओर से यह सम्मान उनके लेखन के लिए दिया गया।प्रवक्ता के दस वर्ष पूर्ण होने पर यह कार्यक्रम दिल्ली में कॉन्स्टिट्यूशन क्लब में आयोजित हुआ।कार्यक्रम की अध्यक्षता इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कलाकेंद्र के सदस्य सचिव … Read more

“डॉटर्स आर प्रिशियस” महोत्सव-2 के लिए डेप रक्षकों को दिया प्रशिक्षण

24 जनवरी को आयोजित होगा बेटी बचाओ का महाकुम्भ **************** बीकानेर। 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर डाॅटर्स आर प्रिशियस महोत्सव-2 के ऐतिहासिक आयोजन को लेकर स्थानीय किसान भवन में 150 डेप रक्षको/कन्या रक्षको को ‘बेटियां अनमोल है’ संदेश प्रभावशाली ढंग से आमजन के दिलों में पहॅुचाने का प्रशिक्षण दिया गया। सीएमएचओ … Read more

वैश्विक राजनीति में भारत की बदलती भूमिका

ये वो नया भारत है जो पुराने मिथक तोड़ रहा है, ये वो भारत है जो नई परिभाषाएं गढ़ रहा है, ये वो भारत है जो आत्मरक्षा में जवाब दे रहा है ये वो भारत है जिसके जवाब पर विश्व सवाल नहीं उठा रहा है । पुलवामा हमले के जवाब में पाक स्थित आतंकी ठिकानों … Read more

नए भारत का आगाज़

यह सेना की बहुत बड़ी सफलता है कि उसने पुलवामा हमले के मास्टरमाइंड अब्दुल रशीद गाज़ी को आखिरकार मार गिराया हालांकि इस ऑपरेशन में एक मेजर समेत हमारे चार जांबांज सिपाही वीरगति को प्राप्त हुए। देश इस समय बेहद कठिन दौर से गुज़र रहा है क्योंकि हमारे सैनिकों की शहादत का सिलसिला लगातार जारी है। … Read more

सामाजिक न्याय की तरफ एक ठोस कदम

भारत की राजनीति का वो दुर्लभ दिन जब विपक्ष अपनी विपक्ष की भूमिका चाहते हुए भी नहीं नहीं निभा पाया और न चाहते हुए भी वह सरकार का समर्थन करने के लिए मजबूर हो गया, इसे क्या कहा जाए? कांग्रेस यह कह कर क्रेडिट लेने की असफल कोशिश कर रही है कि बिना उसके समर्थन … Read more

बांग्लादेश चुनाव परिणाम भाजपा के लिए केस स्टडी हो सकते हैं

वैसे तो आने वाला हर साल अपने साथ उत्साह और उम्मीदों की नई किरणें ले कर आता है, लेकिन यह साल कुछ खास है। क्योंकि आमतौर पर देश की राजनीति में रूचि न रखने वाले लोग भी इस बार यह देखने के लिए उत्सुक हैं कि 2019 में राजनीति का ऊँठ किस करवट बैठेगा। खास … Read more

नववर्ष

बेशक आज हमारा कैलेंडर बदल गया लेकिन ऋतु नहीं बदली, न मौसम बदला, ना ही पृथ्वी का चक्र बदला, ना पेड़ों ने पत्ते बदले , ना शाखों ने नए फूल ओढ़े, ना हवाओं का रुख़ बदला , ना ही प्रकृति ने खुद को बदला, फिर हम क्यों खुद को बदलते जा रहे हैं? जो कहती … Read more

समय है ज्ञान को किताबों से बाहर निकालने का

आज सोशल मीडिया केवल अपनी बात कहने का एक सशक्त माध्यम नहीं रह गया है बल्कि काफी हद तक वो समाज का आईना भी बन गया है। क्योंकि कई बार उसके माध्यम से हमें अपने आसपास की वो कड़वी सच्चाई देखने को मिल जाती है जिसके बारे में हमें पता तो होता है लेकिन उसके … Read more

क़र्ज़ माफ़ी सत्ता की चाबी

तीन राज्यों में विधानसभा चुनावों के नतीजों के परिणामस्वरूप कांग्रेस की सरकार क्या बनी, न सिर्फ एक मृतप्राय अवस्था में पहुंच चुकी पार्टी को संजीवनी मिल गई, बल्कि भविष्य की जीत का मंत्र भी मिल गया। जी हाँ, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने इरादे स्पष्ट कर चुके हैं कि किसानों की कर्जमाफी के रूप में … Read more

मानवाधिकार दिवस समय है आत्ममंथन करने का

द्वितीय विश्वयुद्ध के दौरान सम्पूर्ण विश्व में मानव समाज एक बहुत ही बुरे दौर से गुजर रहा था। यह वो समय था जब मानव सभ्यता और मानवता दोनों ही शर्मसार हो रही थीं। क्योंकि युद्ध समाप्त होने के बाद भी गरीब और असहायों पर अत्याचार, जुल्म, हिंसा और भेदभाव जारी थे। यही वो परिस्थितियाँ थीं … Read more

दिन ब दिन टूटते रिश्ते

हाल ही में जापान की राजकुमारी ने अपने दिल की आवाज सुनी और एक साधारण युवक से शादी की। अपने प्रेम की खातिर जापान के नियमों के मुताबिक, उन्हें राजघराने से अपना नाता तोड़ना पड़ा। उनके इस विवाह के बाद अब वे खुद भी राजकुमारी से एक साधारण नागरिक बन गईं हैं। कैम्ब्रिज के ड्यूक … Read more