हवाई अड्डा पायलट की अजमेर को सबसे बड़ी सौगात

पायलट ने ही शुरू करवाया था एयरपोर्ट का काम, झूठा श्रेय लेने की कोशिश में भाजपा
हमने प्रधानमंत्री को बुलाया उन्होंने सिर्फ सी.एम. से काम चलाया
bhoopendra singhअजमेर,11 अक्टूबर। किशनगढ़ एयरपोर्ट अजमेर जिले को राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री सचिन पायलट की सबसे बड़ी देन है। उन्होंने किशनगढ़ एयरपोर्ट स्थापना में जिले से लेकर दिल्ली तक तमाम अड़चनों को दूर करवाकर तत्कालीन प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह से इसका श्रीगणेश करवाया। भाजपा सिर्फ इसका फीता काटकर श्रेय लेने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस ने जहाँ प्रधानमंत्री को बुलाकर इस एयरपोर्ट और जिले का मान बढ़ाया वही भाजपा को सिर्फ मुख्यमंत्री और केंद्र के एक राज्यमंत्री से काम चलाना पडा। अजमेर का आमजन व कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष पायलट का आभार व्यक्त करती है कि उन्होंने जिले को यह सबसे बड़ी सौगात दी।
कांग्रेस ने एयरपोर्ट का पत्थर लगाने के भाजपा के आरोप पर जिला कांग्रेस कमेटी अजमेर देहात अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह राठौड़ ने इस आरोप पर तथ्यों के आधार पर पलटवार किया है। राठौड़ ने बताया कि अजमेर हवाई अड्डे में सबसे बड़ी अड़चन इसकी जयपुर हवाई अड्डे से दूरी थी। एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के नियम थे कि दो हवाई अड्डों के बीच की दूरी 130 किलोमीटर से अधिक होनी चाहिए। किशनगढ़ जयपुर हवाई अड्डे से मात्र 100 किलोमीटर दूरी पर है। पायलट ने अपने प्रभाव का इस्तेमाल कर केन्द्र सरकार से यह नियम ही बदलवा दिया।
उन्होंने बताया कि हवाई अड्डे का काम शुरू होने में एक और बड़ी अड़चन, इसकी भूमि का अदालती विवाद में फँसा होना था। पायलट ने इस मामले में अटॉर्नी जनरल ऑफ इंडिया से बात कर शीघ्र पैरवी करवाई। भारत के अटॉर्नी जनरल ऑफ इंडिया ने सुप्रीम कोर्ट में पैरवी की। इससे मामले के निस्तारण में तेजी आई। भूमि का स्थगन आदेश हटने के बाद हवाई अड्डे के निर्माण का रास्ता साफ हुआ।
पायलट ने हवाई अड्डे के कारण विस्थापित होने वाले किसानो का भी पूरा ध्यान रखा। उन्होंने सरकार से समन्वय स्थापित कर मुआवजा राशि को कई गुना बढवाया। एयरपोर्ट आथॅरिटी ऑफ इंडिया ने निर्माण के लिए जब सर्वे किया तो क्षेत्र से गुजरने वाली हाई टेंशन लाइन सबसे बड़ी बाधक थी। पायलट ने राज्य सरकार से चर्चा कर लाइन को भूमिगत् करवाने के लिए विशेष बजट दिलवाया। पर्यावरण स्वीकृति के लिए भी पायलट ने तुरंत आदेश जारी करवाये।
राठौड़ ने कहा कि यह पायलट का ही प्रभाव और जोश था कि तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री मनमोहन सिंह ने स्वयं हवाई अड्डे का 2013 में शिलान्यास किया।
अजमेर को हवाई अड्डे की सौगात देने पर विधायक रामनारायण गुर्जर, पूर्व मुख्य सचेतक रघु शर्मा, पूर्व राज्यमंत्री नसीम अख्तर, पूर्व संसदीय सचिव ब्रह्मदेव कुमावत, पूर्व विधायक नाथूराम सिनोदिया, हाजी कयूम खान, महेंद्र सिंह गुर्जर, विशेष पिछड़ा वर्ग के प्रदेश उपाध्यक्ष संग्राम सिंह गुर्जर, राजू गुप्ताजी, युवक कांग्रेस जिलाध्यक्ष राकेश शर्मा, सेवादल के रतन यादव, ओबीसी के सत्यनारायण कुमावत, अल्पसंख्यक के महमूद खान, किसान एवं खेत मज़दूर के कानाराम चौटिया, खेलकूद प्रकोष्ठ के अनुराग दाधिच, व्यापार एवं उद्योग प्रकोष्ठ के नरेंद्र पारख, विचार प्रकोष्ठ के एस पी दाधिच, डीसीसी उपाध्यक्ष छोटूराम गुजराल, हरिसिंह राठौड़, नंदाराम थाकण, छीतरमल टेपण, सौरभ बजाड़, मुकेश मोर्य, इंदिरा रावत, कैलाश मिश्रा, अभयराज पदावत, हमीदा बानो, प्रद्युमन सिंह महासचिव पुष्पेंद्र सिंह शक्तावत, राजेंद्र शर्मा, रतन पवार, लादूराम बैरवा, मोती गुर्जर,अनवर खान चीता, भागचंद रावत, हुसैन खान, भवर बहादुर चीता, बाबूलाल दगदी, मोहन कुमावत, रणजीत सिंह नोसल, मांगीलाल गुर्जर, हरिसिंह गुर्जर, भीमसिंह चौधरी, हगामी लाल बैरवा, कानाराम मेघवाल, रामदेव गुर्जर, सरस्वती शर्मा, दोलत सिंह मेड़तिया, एस के मस्ताना, कैलाश जाट, रामदेव मेघवंशी, ब्रजराज सिंह राठौर, बृजेश तिवारी, भैरूलाल गुर्जर, प्रवक्ता अजय शर्मा, कमल वर्मा सचिव धर्मेंद्र चौधरी निर्मल जैन, परवेज नकवी, श्री रामप्रसाद कीर, देवेंद्र पारीक, हाजी रशीद गुराक, गुलाम मुस्तफा, दलजीत चौधरी, राजेंद्र सिंह राठौड़, सीमा बोयत, जगदीश मंडावलीया, तेजेन्द्र सिंह राठौड़, जीवण भाकर, भंवर मेघवाल, सलीम खान, जसवंत सिंह राठौड़, मीनू कंवर, दुर्गेश कंवर, भंवर गोपाल गौड़, सुमेर चौधरी, श्रवण गुर्जर, विजय सिंह पवार, नूतन गहलोत, अभिषेक जैन, ओम प्रकाश पंचोली, धर्मसिंह भाटी, जसोदा गुर्जर, नवीन गहलोत, इमाइल काठात, रफीक मोहम्मद, सुखलाल नायक, कन्हैयालाल जांगिड़, रामकरण रावत, विजय धाभाई, गोगाराम जाट, मस्तान काठात, कार्यकारिणी सदस्य जयकिशन कहार, गोपाल सेन, हंसराज गुर्जर, हरचंद रेगर, राजेश कुमावत, जसराज चौधरी, किशनलाल माली, शाहबुद्दीन, विपेंद्र सिंह, रामेश्वर माली, पप्पू काठात, पांचूराम गुर्जर, राकेश टंडन, जमील अहमद सिलावट, हाथीराम देवड़ा, रामधन बैरवा, गोपाल स्वरूप कुमावत एवं सभी कांग्रेसजनो ने इसके लिए पायलट का आभार व्यक्त किया।

Print Friendly

Choose your typing language Ajmer Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>