मकर सक्रांति पर होने वाली दुर्घटना से बचाव के लिए पोस्टर का विमोचन

IMG-20180113-WA0104महावीर इंटरनेशनल अजयमेरु और सर्वोदय अहिंसा के सयुंक्त तत्वावधान मैं आज महावीर स्मारक सेवा समिति सदर कोतवाली के पास आज मकर सक्रांति के अवसर पर पतंगबाजी के दौरान मांजे के प्रयोग से होने वाली दुर्घटना से बचाव के लिए आज पोस्टर का विमोचन किया गया। महावीर इंटरनेशनल के अध्यक्ष अशोक छाजेड़ और मीडिया प्रभारी कमल गंगवाल ने बताया कि मकर संक्रांति के अवसर पर सभी लोग पतंगों मैं चाइनीज़ मांझे का प्रयोग किया जाता है इससे हमारी उंगलिया भी कट जाती है, जिन वांहन चालकों के नाक कान गला आदि से रगड़ता हुआ ये मांझा निकलता है उनके अंगों को कटने से नही बचा जा सकता,बिजली के तारों पर मांझे की खींचतान से तार टकरा जाते है,आग लगने और बिजली जाना आम बात है। इससे बेजुबान पक्षि मांझे मैं उलझकर घायल हो जाते है पंख ,आंख, आदि को क्षति होती है ,और कई पक्षी तो मरण को प्राप्त होंते । कई दुपहिया वाहन चालक के सामने पतंग व मांझे मैं उलझने की वजह से दुर्घटना की आकांशा रहती है ,पतंग संभालने के फेर मैं या कटी पतंग को पकड़ने के चक्कर मे बच्चे व बड़े आदि संतुलन खो गिर जाते है ,इसलिये पक्षियों और आमजन की दुर्घटना न हो हेतु जागरूकता के लिए ही ये पोस्टर छपवा कर आम जन मैं वितरित कर मांझे का प्रयोग नही करने के बारे मे बताया गया ।मकर सक्रांति हमारै लिए भले ही मौज मस्ती का दिन हो लेकिन आकाश मैं उड़ने वाले निरिह बेजुबान पक्षियों के लिए किसी प्रलय से कम नही है। साथ ही सभी से अपील की गई कि मकर सक्रांति के अवसर पर सभी लोग गायों को हरा चारा , आदि खिलाते और डालते है वो कृपया सड़क के बीच में न डाले तथा सड़क के किनारे ही खिलाएं इससे से गायों और वहां वाहन चालको को दुर्घटना आदि से बचाव होगा । इसके साथ ही सामाजिक सरोकार कार्यक्रम के अंतर्गत महावीर इंटरनेशनल अजयमेरु समय समय पर निशुल्क आयुर्वेदिक दवा वितरण कैम्प, स्कूली बच्चो के लिए गणवेश, स्वेटर वितरण, अस्पताल मे मरीजो के लिए फल वितरण, पोधारोपण इत्यादि कार्यक्रम करवाते रहते है । इस अवसर पर अशोक छाजेड़, कमल गंगवाल, गजेंद्र पंचोली, विजय जैन पांड्या, सिद्धार्थ, माहुल, प्रकाश छाजेड़,राज कुमार गर्ग, गौतम चंद जैन, विकास अग्रवाल, निकिता पंचोली, उपस्थित थे सयोजन विजय जैन पांड्या ने किया ।*

सयोंजक
विजयजैन पांड्या
मोबाइल नं 9783933641

Print Friendly

Choose your typing language Ajmer Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>