About तेजवानी गिरधर

अजमेरनामा वेब न्यूज पोर्टल के चीफ एडीटर तेजवानी गिरधर राजनीतिक विश्लेषक के रूप में जाने जाते हैं। दैनिक भास्कर में सिटी चीफ सहित अनेक दैनिक समाचार पत्रों में संपादकीय प्रभारी व संपादक रहे हैं। राजस्थान श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश सचिव व जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ राजस्थान के अजमेर जिला अध्यक्ष रह चुके हैं। अजमेर के इतिहास पर उनका एक ग्रंथ अजमेर एट ए ग्लांस प्रकाशित हो चुका है।जागरण, नवभारत टाहम्स सहित अनेक साइट पर उनके ब्लाग नियमित चल रहे हैं। संपर्क सूत्र:- मोबाइल नंबर-7742067000, ईमेल आईडी- tejwanig@ajmernama.com, tejwanig@gmail.com

मोदी के अश्वमेघ यज्ञ को कोई बाधा मंजूर नहीं?

तेजवानी गिरधर
-तेजवानी गिरधर- देश के इतिहास में पहली बार जिस प्रकार भाजपा ने नरेन्द्र मोदी को ब्रांड बना कर सत्ता पर कब्जा किया है, उस सफल प्रयोग ने भाजपा की मानसिकता बना दी है कि भले ही कॉमन सिविल कोड, राम मंदिर, कश्मीर में धारा 370 सहित कट्टर हिंदुत्व के अन्य एजेंडे समानांतर रूप से कायम Read more

आगे चल कर मोदी के लिए समस्या बन सकते हैं योगी?

तेजवानी गिरधर
उत्तर प्रदेश में बंपर बहुमत के बाद जिस नाटकीय ढंग से मुख्यमंत्री की कुर्सी पर योगी आदित्यनाथ काबिज हुए हैं, उसको लेकर इस आशंका का बीजारोपण हो गया है कि आगे चल कर योगी मोदी के लिए परेशानी का कारण बन सकते हैं। यह सवाल इसलिए मौजूं हैं क्योंकि मोदी एक तानाशाह की तरह काम कर रहे ह Read more

क्या राजस्थान में भी मोदी के नाम पर लड़ा जाएगा चुनाव?

तेजवानी गिरधर
उत्तरप्रदेश में मुख्यमंत्री के रूप में किसी का चेहरा सामने रखने की बजाय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर चुनाव लडऩे से मिली बंपर कामयाबी के बाद भाजपा में इस बात पर गंभीरता से विचार हो रहा बताया कि राजस्थान में भी आगामी विधानसभा चुनाव मोदी के नाम पर लड़ा जाए। यह लगभग सर्व Read more

अकबर का किला ही है उसका नाम

तेजवानी गिरधर
नया बाजार स्थित अकबर के किले का नाम बदल कर अजमेर का किला करने को लेकर किसी खादिम तरन्नुम चिश्ती की ओर से शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी को भेजे गए धमकी भरे पत्र की वजह से यह किला एकबारगी फिर से चर्चा में आ गया है। असल में यह विवाद पूर्व में भी हुआ था, जब इसमें मरम Read more

सत्ता पक्ष के विधायकों का गुस्सा, यानि जनाक्रोष की घंटी

तेजवानी गिरधर
किसी भी लोकतांत्रिक व्यवस्था में सभी को संतुष्ट नहीं किया जा सकता। इस कारण कोई भी सरकार कितना भी जनहित का ध्यान रखे, असंतोष बना ही रहता है। रहा सवाल विपक्ष का तो वह उद्देश्य विशेष से भी विरोध कर सकता है, जो जनाक्रोष मान लिया जाता है, लेकिन अगर सत्ता पक्ष ही विपक्ष की भूमिका Read more

यानि कि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने पल्लू झाड़ लिया

तेजवानी गिरधर
नोटबंदी को लेकर सवालों का सामना कर रहे रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के यह कहने के साथ ही कि उसके बोर्ड ने सरकार की सलाह पर नोटबंदी की सिफारिश की थी, यह साफ हो गया है कि वह सीधे तौर पर इसके लिए जिम्मेदार होते हुए भी अपना पल्लू झाड़ रहा है। इतना ही नहीं, इसके साथ यह स्वीकारोक्ति भी ह Read more

50 दिन बाद मोदी का लटका मुंह ताकते ही रह गए लोग

तेजवानी गिरधर
नोटबंदी से हो रही परेशानी से कोई राहत नहीं दे पाए ध्यान बंटाने के लिए की गई नई घोषणाएं अप्रासंगिक -तेजवानी गिरधर- हर आम आदमी, ठेठ मजदूर तक को उम्मीद थी कि पचास दिन की मोहलत पूरी होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नोटबंदी के संत्रास से मुक्ति का कोई ऐलान करेंगे, मगर निरा Read more

जनता का आक्रोष फूटा नहीं तो जरूर इसके कुछ कारण हैं

तेजवानी गिरधर
इसमें कोई दोराय नहीं कि नोटबंदी के कदम से आम जनता बेहद, बेहद परेशान है, जिसे कि स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी मानते हैं, तभी तो हालात सुधारने के लिए पचास दिन की मोहलत मांगते हैं, बावजूद इसके विपक्ष सरकार को घेरने में कामयाब नहीं हो पाया। बेशक संसद में विपक्ष ने हंगामा Read more

मोदी के नाम पर कहीं ये अराजकता के संकेत तो नहीं

तेजवानी गिरधर
नोटबंदी की वजह से देश में फैली आर्थिक अराजकता के विरोध में आगामी 28 नवंबर को विपक्ष की ओर से आहूत भारत बंद के दौरान जगह-जगह मोदी समर्थकों व विरोधियों के बीच भिड़ंत होने का अंदेशा नजर आ रहा है। कम से कम सोशल मीडिया पर जिस प्रकार की पोस्ट धड़ल्ले से डाली जा रही हैं, उससे तो यह Read more

नोटबंदी के फैंसले पर पीएम मोदी का जनमत संग्रह

ब्रह्मानंद राजपूत
1000 रुपये और 500 रुपये के पुराने नोटों के विमुद्रीकरण के फैसले को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से दस सवाल पूछे हैं। कालाधन और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए मोदी सरकार ने नोटबंदी का फैसला लिया और अब खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटबंदी पर जनता से राय Read more

मोदीवादी इतने आशंकित क्यों?

तेजवानी गिरधर
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से 8 नवंबर की रात यकायक पांच सौ व एक हजार का नोट बंद करने की घोषणा के बाद बाजार में जो अफरातफरी मची, बैंकों व एटीएम मशीनों पर जो लंबी लंबी कतारें लगीं, और जिस प्रकार आम लोगों का गुस्सा फूट रहा है, उसे देखते हुए लगता है कि मोदीवादी आशंकित हैं Read more