जनता तो भगवान बनाती है साहब लेकिन शैतान आप

डाँ नीलम महेंद्र
13 मई 2002 को एक हताश और मजबूर लड़की, डरी सहमी सी देश के प्रधानमंत्री को एक गुमनाम ख़त लिखती है। आखिर देश का आम आदमी उन्हीं की तरफ तो आस से देखता है जब वह हर जगह से हार जाता है। निसंदेह इस पत्र की जानकारी उनके कार्यालय में तैनात तमाम वरिष्ठ नौकरशाहों को भी निश्चित ही होगी। सा Read more

हरियाणा संकट -“सुनियोजित” या “प्रायोजित”

sohanpal singh
हरियाणा के पंचकुला और अन्य स्थानों पर बलात्कारी राम रहीम के समर्थकों का जमवाड़ा एक सुनियोजित सडयंत्र से अधिक एक प्रायोजित कार्य कर्म सा प्रतीत होता है ,क्योंकि जिस बाबा के डेरे पर प्रदेश सरकार का पूरा मंत्री मंडल माथा टेकने और शुक्रिया अदा करने के लिए पहुँचता हो उस सरकार Read more

ढोंगी ओर शैतान बाबाओ से बचो

विनीत जैन
आज जिस तरह से देश मे धर्म के नाम पर दुकाने चल रही है और उन दुकानों की उपज बाबा राम रहीम इंसान जैसे ढोंगी बाबा होते है जो कि पूरी तरह तड़क भड़क से रहते है और हजारो करोड़ की दौलत के मालिक होते है , पता नही ये लोग कोनसी पट्टी पढ़ाते है जनता को की जनता इनके गलत कारनामे देखते हुए भी Read more

सुप्रीम कोर्ट का फैसला अंतिम पड़ाव नहीं

संजय सक्सेना
संजय सक्सेना,लखनऊ स्ुाप्रीम कोर्ट ने तीन तलाक पर अपना फैसला सुना दिया है। इस कुप्रथा को सख्ती से रोकने के लिये अगर कानून बनाने की जरूरत पड़ेगी तो मोदी सरकार इसके लिये भी तैयार है। सबसे अच्छी बात यह है कि तीन तलाक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट के फैसले का लगभग पूरा मुस्लिम समाज एक स Read more

फिर सरकार का मतबल क्या, धर्म के नाम पर गुंडागर्दी क्यों

ओम माथुर
बलात्कार के आरोप में राम रहीम को सजा सुनाए जाने के बाद हरियाणा में डेरा सच्चा सौदा के समर्थकों ने जो उत्पात मचाया है, उसके लिए कोई और नहीं सीधे तौर पर हरियाणा सरकार जिम्मेदार है। हाईकोर्ट द्वारा सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम करने के आदेशों और अर्ध सैनिक बलों के साथ ही सेना को भी Read more

बेलगाम रेल और पटरी से उतरती जिंदगी

अब्दुल रशीद
अब्दुल रशीद।। देश के राष्ट्रपति और फिर प्रधानमंत्री ने ‘न्यू इंडिया’ का सपना देशवासियों को दिखाया। उसे पूरा करने का आह्वान लालकिले के प्राचीर से स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री द्वारा भी किया गया। एक भारतीय होने के नाते हमें गर्व होता है ऐसी बातों को सुनकर लेकिन सिर्फ बातों Read more

थाली में जहर

महेन्द्र सिंह भेरूंदा
आज खाद्य पदार्थो में बहुत मिलावट है उसमें दुग्ध उत्पाद की मिलावट सबसे अग्रणी है पूरा दूध नकली बनाने का लोगो ने गुर सीख लिया है , नकली दूध का दही नकली और नकली दही का घी व छाछ नकली तो बताओ हमारे शरीर को कई आवश्यक तत्व देने वाला दुग्ध उत्पाद ही नकली और हानिकारक है तो शरीर को रो Read more

सरकार की नजर में मोत की कीमत में इतना फर्क क्यो

हेमेन्द्र सोनी
सरकारी आंकड़ों का आंकलन किया जाये तो जब भी देश मे किसी की मोत होती है और उस पर सरकारी मुआवजे का एलान होता है तो उस होने वाले एलान मे मुआवज़ा राशी का बहुत बड़ा अंतर देखने को मिलता है । सरकार की नजर में अलग अलग प्रकार से हुई मौत की कीमत अलग अलग तय की जाती है । “क्या सरकार क Read more

तिरंगा को दलगत राजनीति से धुंधलाना!

lalit-garg
भारत का राष्ट्रीय झंडा, भारत के लोगों की आशाओं और आकांक्षाओं का प्रतिरूप है। यह राष्ट्रीय गौरव का प्रतीक है। हमने अपनी आजादी की लड़ाई इसी तिरंगे की छत्रछाया में लड़ी। विडंबना यह है कि अनगिनत कुर्बानियों के बाद हमने आजादी तो हासिल कर ली, शासन चलाने के लिए अपनी जरूरत के हिसाब से Read more

सावधान! कन्‍हैया निशाने पर हैं…

krishna-kanhaiya-mathura
जन्‍माष्‍टमी को दो दिन बचे हैं और मथुरा के मंदिरों-घाटों-आश्रमों-गेस्‍ट हाउसों में भारी भीड़ है। इस भीड़ में अधिकांशत: पूर्वी प्रदेश के दर्शनार्थी ही हैं, इसके बाद क्रमश: अगले नंबरों पर पंजाब, दिल्‍ली, हरियाणा और राजस्थान व पश्‍चिम बंगाल के लोग आते हैं। हर बार की तरह इस ब Read more

दैहिक आकर्षण और भौतिक शोषण के बीच पिसते नारी तन-मन की मुक्ति कैसे होगी

डॉ. मोहनलाल गुप्ता
हरियाणा के विकास बराला तथा उसके साथी ने कहा है कि वे वर्णिका का अपहरण नहीं करना चाहते थे, केवल उसे देखना चाहते थे क्योंकि वह भी विकास तथा उसके दोस्त आशीष को, अपनी कार में से देखती हुई निकली थी। हमारे पास दो विकल्प हैं, या तो विकास की बात सच मान ली जाए या फिर असत्य मान ली जाए Read more