किसान और किसानी

भारत भले ही कृषि प्रधान देश हो और कृषि आधारित अर्थव्यवस्था कहलाता हो पर जब उत्तर से दक्षिण तक चाहे राजस्थान , छत्तीसगढ़ ,UP, महाराष्ट्र , तमिलनाडु कोई सा भी राज्य हो अगर हर जगह किसान सडको के रास्ते संघर्ष कर रहा है तो सोचने का विषय है कि दुसरो का पेट पालने के लिए … Read more

भटका हुआ है विकास का माॅडल

आम आदमी के आर्थिक स्तर को ऊपर उठाने के हमारे आजाद भारत के संकल्प को मंजिल तक पहुंचाने में अब तक की सभी सरकारें नाकाम रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से बहुत अपेक्षाएं हैं, लेकिन आर्थिक संतुलन स्थापित करने एवं अमीर एव गरीब की खाई को पाटने की दृष्टि से उनकी एवं उनकी सरकार की … Read more

उठो, जागो, आगे बढो

उठो, जागो, आगे बढो, अपनी शक्ति पहचानो। पार्टीवादिता से बाहर आओ, युवा हो तुम, जागो, पहचानो, कौन हो तुम, तुम हो तो ये पार्टीयां है, जो तुम नहीं तो कुछ भी नहीं, विवेकानन्द के वंशज हो तुम, इस देश का भविष्य हो तुम, तुम ही हो जो बदल सकते हो, इस देश को, तुम ही … Read more

अति सर्वत्र वर्जयेत्

यदि कोई फल कच्चा रह जाता है तो किसी के काम का नहीं होगा और यदि फल पक जाता है,तो वह सबके लिए फलदायी हो जाएगा,किन्तु वही फल ज्यादा पक जाए तो वह सड़ा गला कहलाएॅगा उसमें कीडे पडेंगे और अत्यन्त हानिकारक व दुर्गन्ंध फैलाने वाला होगा। फल का ज्यादा पकना किसी के हित में … Read more

घर जवाई

होने वाली बहु रहिस अधिकारी की बेटी थी जो ष्षादी से पहले अपने बीमार ससुरजी को देखने आई। पॉव पड़ कर बहु ने पूछा क्या हो गया पापाजी ? ससुरजी- पेट दर्द है । बासी खा लिया था । बहु बोली क्या फ्रीज नहीं है पापाजी ? ससुरजी – भगवान की दया से सब कुछ … Read more

छत्तीसगढ़ में क्राउडफंडिंग की सुबह

तमाम सार्वजनिक योजनाओं, धार्मिक कार्यों, जनकल्याण उपक्रमों और व्यक्तिगत जरूरतों को पूरा करने के लिए लोग क्राउडफंडिंग का सहारा ले रहे हैं। यह भारतीय चन्दे का आयात किया हुआ एक स्वरूप है, एक प्रक्रिया है। इसमें जहां पारदर्शिता होती है वही जनता के घन के दुरुपयोग होने की संभावनाएं नगण्य हो जाती है। आज जब … Read more

राजनीति के ये ब्वायज क्लब …!!

कहीं जन्म – कहीं मृत्यु की तर्ज पर देश के दक्षिण में जब एक बूढ़े अभिनेता की राजनैतिक महात्वाकांक्षा हिलोरे मार रही थी, उसी दौरान देश की राजधानी के एक राजनैतिक दल में राज्यसभा की सदस्यता को लेकर महाभारत ही छिड़ा हुआ था। विभिन्न तरह के आंदोलनों में ओजस्वी भाषण देने वाले तमाम एक्टिविस्ट राज्यसभा … Read more

स्वामी विवेकानन्द के अनमोल बोल वचन

आकांक्षा, अज्ञानता और असमानता ही बंधन की त्रिमूर्तियां हैं | जब लोग तुम्हे गाली दें तो तुम उन्हें आशीर्वाद दो। सोचो, तुम्हारे झूठे दंभ को बाहर निकालकर वो तुम्हारी कितनी मदद कर रहे हैं। खुद को कमजोर समझना सबसे बड़ा पाप है। पढ़ने के लिए जरूरी है एकाग्रता, एकाग्रता के लिए जरूरी है ध्यान। ध्यान … Read more

तीन तलाक और उसके परिणाम

हमें तो ऐसा लगता है की तीन तलाक़ के मुद्दे पर बीजेपी फंस गई है ? एक ओर तो बीजेपी मुसल्मानो को गरियाती रहती है बीफ़ बैन आड़ में खाना और व्यापार दोनों को ही क्षतविक्षत करके केवल मुस्लिम बहनो पर प्यार उढ़ेलने का पवित्र कार्य तीन तलाक को क़ानून के अंतर्गत लाने के लिये … Read more

मशहूर शायर अनवर जलालपुरी के निधन से गमगीन हुआ माहौल

ख्वाहिश मुझे जीने की ज़ियादा भी नहीं है वैसे अभी मरने का इरादा भी नहीं है हर चेहरा किसी नक्श के मानिन्द उभर जाए ये दिल का वरक़ इतना तो सादा भी नहीं है वह शख़्स मेरा साथ न दे पाऐगा जिसका दिल साफ नहीं ज़ेहन कुशादा भी नहीं है…. जी हां ये नज्‍़म कहने … Read more

रजनीकांत राजनीति की एक नई सुबह

नयावर्ष प्रारंभ होते ही सुपर स्टार रजनीकांत ने सबको चैका दिया। उनकी राजनीति में आने की घोषणा ने जहां राजनीति के क्षेत्र में एक नयी सुबह का अहसास कराया वहीं राजनीति को एक नये दौर में ले जाने की संभावनाओं को भी उजागर किया है। रविवार को रजनीकांत ने कहा कि उनकी पार्टी का नारा … Read more