50 दिन बाद मोदी का लटका मुंह ताकते ही रह गए लोग

नोटबंदी से हो रही परेशानी से कोई राहत नहीं दे पाए ध्यान बंटाने के लिए की गई नई घोषणाएं अप्रासंगिक -तेजवानी गिरधर- हर आम आदमी, ठेठ मजदूर तक को उम्मीद थी कि पचास दिन की मोहलत पूरी होने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी नोटबंदी के संत्रास से मुक्ति का कोई ऐलान करेंगे, मगर निराशा ही … Read more

नोटबंदी की नाकामी का ठीकरा बैंकों पर फूटेगा?

क्या चंद भ्रष्ट बैंक वाले ही दोषी हैं, सरकार की कोई जिम्मेदारी नहीं? हालांकि नोटबंदी का फैसला जिस प्रकार जल्दबाजी में उठाया गया और उससे आम जनता को हो रही परेशानी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पहले ही घिरते दिखाई दे रहे थे, मगर जिस प्रकार लगातार बैंकों से मिलीभगत करके करोड़ों रुपए के नोट बैंकों … Read more

जनता का आक्रोष फूटा नहीं तो जरूर इसके कुछ कारण हैं

इसमें कोई दोराय नहीं कि नोटबंदी के कदम से आम जनता बेहद, बेहद परेशान है, जिसे कि स्वयं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी मानते हैं, तभी तो हालात सुधारने के लिए पचास दिन की मोहलत मांगते हैं, बावजूद इसके विपक्ष सरकार को घेरने में कामयाब नहीं हो पाया। बेशक संसद में विपक्ष ने हंगामा कर कार्यवाही … Read more

मोदी के नाम पर कहीं ये अराजकता के संकेत तो नहीं

नोटबंदी की वजह से देश में फैली आर्थिक अराजकता के विरोध में आगामी 28 नवंबर को विपक्ष की ओर से आहूत भारत बंद के दौरान जगह-जगह मोदी समर्थकों व विरोधियों के बीच भिड़ंत होने का अंदेशा नजर आ रहा है। कम से कम सोशल मीडिया पर जिस प्रकार की पोस्ट धड़ल्ले से डाली जा रही … Read more

मोदीवादी इतने आशंकित क्यों?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से 8 नवंबर की रात यकायक पांच सौ व एक हजार का नोट बंद करने की घोषणा के बाद बाजार में जो अफरातफरी मची, बैंकों व एटीएम मशीनों पर जो लंबी लंबी कतारें लगीं, और जिस प्रकार आम लोगों का गुस्सा फूट रहा है, उसे देखते हुए लगता है कि … Read more

क्या मोदी अकेले पड़ रहे हैं?

क्या नोटबंदी के मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अकेले पडऩे वाले हैं? यह सवाल चौंकाने वाला है। निहायत काल्पनिक और हास्यास्पद भी। इसे बेतुका व तुक्का भी कहा जा सकता है। सोशल मीडिया पर गंदी गालियों और बेशर्म दलीलों के बीच जब मैने भी इससे संबंधित पोस्ट पढ़ी तो चौंक उठा। जहां तक मेरी जानकारी … Read more

… तो फिर खत्म कीजिए अदालतें, पुलिस को ही दे दीजिए सजा ए मौत का अधिकार

भोपाल एनकाउंटर अगर असली है… तो पुलिस वालों को सौ-सौ सलाम…और अगर फर्जी है तब तो उनको …लाखों सलाम..!! ये एक पोस्ट है, जो फेसबुक और वाट्स ऐप पर धड़ल्ले से चल रही है। कदाचित तथाकथित देशभक्त ही ऐसी पोस्ट को आगे से आगे बढ़ा रहे हैं। अंदाजा लगाया जा सकता है कि दुनिया के … Read more

मोदी के गले की हड्डी हैं वसुंधरा

राजनीति के जानकार मानते हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भाजपा में एक तानाशाह के रूप में स्थापित हैं। वजह साफ है कि अकेले उनके नाम पर ही भाजपा पहली बार पूर्ण बहुमत के साथ सत्ता पर काबिज हुई है। उन्हें राज्य स्तर पर क्षत्रपों की मौजूदगी कत्तई पसंद नहीं। विशेष रूप से राजस्थान की बात … Read more

जनता का नुमाइंदा होना चाहिए स्मार्ट सिटी कारपोरेशन लिमिटेड का अध्यक्ष

अन्य सभी संबंधित पक्षों के अतिरिक्त जिला कलेक्टर वैभव गोयल के विशेष प्रयासों और नगर निगम मेयर धर्मेन्द्र गहलोत के रुचि लेने से अब जब कि अजमेर को देशभर की तीसरी सूची में स्मार्ट सिटी बनाने के लिए शामिल कर लिया गया है तो स्वाभाविक रूप से यह सवाल उठता है कि आखिर इसका काम … Read more

भक्त होना बुरा नहीं, मगर अंधभक्ति, लानत है

कोई किसी का भक्त हो, तो इसमें कोई बुराई नहीं। भक्ति निजी आस्था का मामला है, उस पर सवाल खड़ा करना ही गलत है, मगर अफसोस तब होता है कि जब कुछ अंध भक्त अपने भगवान के तनिक विपरीत मगर सच्ची टिप्पणी को भी बर्दाश्त नहीं कर पाते और लगते हैं अनर्गल प्रलाप करने। घटिया … Read more

भगवान श्रीकृष्ण पर अभद्र टिप्पणियों से आहत व आक्रोषित हैं धर्म प्रेमी

यह एक विंडबना ही कही जाएगी कि जहां एक ओर हिंदू समाज में भगवान श्रीकृष्ण को सर्वगुण संपन्न, चौसठ कला प्रवीण और योगीराज माना जाता है, वहीं दूसरी ओर उनकी जन्माष्ठमी के मौके पर कई छिछोरे उनके बारे में अनर्गल टिप्पणियां और चुटकलेबाजी करते हैं। इसको लेकर धर्मप्रमियों कड़ा को ऐतराज है। एक तरफ मनचले … Read more