स्वच्छता व प्रकाश की प्रतीक दीपावली

ब्रह्मानंद राजपूत
दिवाली या दीपावली हिंदुस्तान में मनाया जाने वाला एक प्राचीन पर्व है जो कि हर साल कार्तिक मास की अमावस्या को मनाया जाता है, इसके पीछे पौराणिक मान्यता है कि दीपावली के दिन हिंदुओं के आराध्य अयोध्या के राजा श्री रामचंद्र अपने चैदह वर्ष का वनवास काटकर अयोध्या वापस लौटे थे। इससे Read more

प्रिया वच्छानी उल्हासनगर की दीपावली पर विशेष कविता

प्रिया वच्छानी
क्यूं न इस दीवाली इक प्यार का दीप जलाया जाये किसी के घर के बुझे दीप को रोशन कर अपने दीप से उसके घर को भी रोशनी से नहलाया जाए क्यों न इस दीवाली इक प्यार का दीप जलाया जाये ब्रांड भले न पहने हम पर गरीब बच्चों को दिलाकर कपडे व पटाखे उसकी मासूम मुस्कराहट संग मुस्कुराया जाये भुला Read more

मिट्टी के दीये !

देवेन्द्रराज सुथार
हर अंगना हर देहरी हर हिये ! ज्योर्तिमय हो जग में मिट्टी के दीये ! अमावस्या के श्यामपट्ट पर फैलायें प्रकाश ! ज्योतिकलश बन जो सारा तम पियें ! आशाओं के अगनित स्वरों को लियें ! हर दिशा में प्रकाशमान हो मिट्टी के दीये ! वायु के विप्लव वेग से न भयभीत हो ! प्रखर प्रज्वलित ज्योति बन Read more

जानिये उन जगहों को जहाँ माता लक्ष्मी निवास करना पसंद करती है—पार्ट1

डा. जे.के.गर्ग
दीपावली पर धन,सम्पन्नता,सुख- खुशी की कामना रखने वाले सभी व्यक्ति माता लक्ष्मी जी पूजा करते है | साधारणतया हम अपने-अपने घरों की बाहरी सफाई करते हैं, रंग रोशन भी करवाते हैं, घरों को सजाते भी हैं | हम दीपावली पर अपने आप से सवाल पूछें क्या हमारा दिल सभी अवगुणों यानि क्रोध,इर्ष्य Read more

दीपावली भीतर से जागृति का सन्देश देता है

lalit-garg
दीपावली का त्यौहार भारतीय संस्कृति का गौरव है, क्योंकि दीपावली रोशनी का पर्व है और दीया प्रकाश का प्रतीक है और तमस को दूर करता है। यही दीया हमारे जीवन में रोशनी के अलावा हमारे लिये जीवन की सीख भी है, जीवन निर्वाह का साधन भी है। दीया भले मिट्टी का हो मगर वह हमारे जीने का आदर् Read more

दुःख दारिद्र्य दूर करने व रूप प्राप्ति का अवसर नरक चतुर्दशी

दयानन्द शास्त्री
प्रिय पाठकों/मित्रों, कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को नरक चतुर्दशी, यम चतुर्दशी, नरका चौदस का त्योहार मनाया जाता है। इस द‍िन को हुनुमान जयंती के रूप में भी मनाते हुए बजंरग बली की पूजा-अर्चना करते हैं। प्रचलित मान्यताओं के अनुसार महाबली भगवान् हनुमान जी ने आज ही के द Read more

दीपावली है लौकिकता और आध्यात्मिकता का अनूठा पर्व

lalit-garg
दीपावली का पर्व ज्योति का पर्व है। दीपावली का पर्व पुरुषार्थ का पर्व है। यह आत्म साक्षात्कार का पर्व है। यह हमारे आभामंडल को विशुद्ध और पर्यावरण की स्वच्छता के प्रति जागरूकता का संदेश देने का पर्व है। यह अपने भीतर सुषुप्त चेतना को जगाने का अनुपम पर्व है। जिंदगी भी हमसे यही च Read more

दीपावली 2017 पर्व पर लक्ष्मी प्राप्ति के कुछ उपाय

दयानन्द शास्त्री
इस धरती पर हर जातक धन और ऐश्वर्य की चाह रखता है,और इसके लिए कड़ी मेहनत के साथ साथ तरह तरह के उपाय भी करता है।माँ लक्ष्मी को धन की देवी कहा जाता है।कहते है कि माँ लक्ष्मी की आराधना से जीवन में किसी भी भौतिक सुख सुविधा की कमी नहीं रहती है। दीवाली पर माँ लक्ष्मी की पूजा आराधना क Read more

भगवान विष्णु के हर अवतार में माता लक्ष्मी भी अवतरित हुयी

डा. जे.के.गर्ग
श्री लक्ष्मी का अर्थ है सभी प्रकार के धन, साधारणतया शास्त्रों में 8 प्रकार की धन लक्ष्मी का वर्णन किया जाता है यानि आदि लक्ष्मी , धान्य लक्ष्मी, धैर्य लक्ष्मी , गज लक्ष्मी, संतान लक्ष्मी, विजयलक्ष्मी, विद्या लक्ष्मी एवं धनलक्ष्मी | शास्त्रों के अन्दर माता लक्ष्मी के सैक Read more

दीपावली का वास्तविक अर्थ समझे

muni jayant kumar
-ः मुनि जयंत कुमार:- भारतवर्ष में जितने भी पर्व हंै, उनमें दीपावली सर्वाधिक लोकप्रिय और जन-जन के मन में हर्ष-उल्लास पैदा करने वाला पर्व है। वैदिक प्रार्थना है- ‘तमसो मा ज्योतिर्गमयः।’ अर्थात् अंधकार से प्रकाश में ले जाने वाला पर्व है- ’दीपावली’। दीपावली के पूर्व लोग दुकानों Read more

पाँच दिन का पर्व हैं —— दीपावली भाग 1

डा. जे.के.गर्ग
दीवाली कार्तिक महीने में कृष्ण पक्ष की तेरस से कार्तिक शुक्ला दूज (5दिन) यानि धनतेरस, नरक चतुर्दशी, अमावस्या (दीपावली), कार्तिक सुधा पधमी एवं यम द्वितीया या भाई दूज | तक हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। इन सभी दिनों के बारे में कई किंवदंतियॉं और पोराणिक गाथायें प्रचलित है। Read more