भारतियों के दिलों में रहने वाले राष्ट्र नायक अटल बिहारी वाजपेयी

डा. जे.के.गर्ग
(अटलजी के 93वें जन्म दिवस पर समस्त भारतियों दुवारा उनके शतायु होने एवं स्वस्थ रहने के कामना के साथ) Part 3 बचपन से ही अटल जी की सार्वजनिक कार्यों में विशेष रुचि थी। उन दिनों ग्वालियर रियासत दोहरी गुलामी में थ Read more

भारतियों के दिलों में रहने वाले राष्ट्र नायक अटल बिहारी वाजपेयी

डा. जे.के.गर्ग
(अटलजी के 93वें जन्म दिवस पर समस्त भारतियों दुवारा उनके शतायु होने एवं स्वस्थ रहने के कामना के साथ) Part 2 अटल जी के भाषणों में ऐसा जादू होता था कि लोग उन्हें निरंतर घंटों सुनते ही रहना चाहते थे। उनकी वाणी में सद Read more

भारतियों के दिलों में रहने वाले राष्ट्र नायक अटल बिहारी वाजपेयी

डा. जे.के.गर्ग
(अटलजी के 93वें जन्म दिवस पर समस्त भारतियों दुवारा उनके शतायु होने एवं स्वस्थ रहने के कामना के साथ) Part1 अनेकों राजनितीकज्ञ शीर्ष पद पर पहुचेतें हैं किन्तु उनमें से विरले ही स्टेट्समैन बनते हैं जिनके लिये Read more

हंसते—मुस्कराते जीये जिन्दगी Part 5

डा. जे.के.गर्ग
जिंदगी का मंत्र — हर हाल में जिंदगी का साथ निभाते चले जाओ, किंतु हर ग़म , हर फ़िक्र को , धुएँ में नही ,हँसी में उडाते जाओ। यदि सच पूछा जाए तो मुनष्य और जानवर में अंतर ही क्या है, सिवा इसके कि मुनष्य हँस सकता है परंतु जानवर हँस नहीं सकता। अर्थात ‘हँसना मानवता का गुण है Read more

हंसते—मुस्कराते जीये जिन्दगी Part 4

डा. जे.के.गर्ग
हास्य में बाधक सामाजिक मर्यादाएँ——- आज के तथाकथित सभ्य समाज में अकारण हँसने वालों को मूर्ख अथवा पागल समझा जाता है। सामाजिक मर्यादाओं के प्रतिकूल होने से बिना बात हँसने से लज्जा आती है। अतः घर में बच्चों के अलावा अन्य परिजन विशेषकर महिलाओं एवं वृद्धों का, धर्म संघ Read more

हंसते—मुस्कराते जीये जिन्दगी Part 3

डा. जे.के.गर्ग
हंसना हंसाना भी है एक चिकित्सा स्ट्रेस, तनाव, चिंता, भय, क्रोध, निराशा, चिड़चिड़ापन, हड़बड़ी, अधीरता आदि नकारात्मक प्रवृत्तियों से हमारी अंतःस्रावी ग्रन्थियाँ खराब होती है जो शरीर में विभिन्न रोगों को निमन्त्रण देने में मुख्य भूमिका निभाती है। यदि हमारा चेहरा सदैव मुस्कराता Read more

हंसते—मुस्कराते जीये जिन्दगी Part 2

डा. जे.के.गर्ग
मुस्कराना हमारा जन्म सिद्ध मोलिक अधिकार है मुस्कराना हम सब का जन्म सिद्ध अधिकार है, जो हमको हमारे जन्म के साथ ही प्राप्त हो जाता है | नवजात शिशु अपने जन्म के एक सप्ताह बाद ही मुस्काना शुरू कर देता है एवं एक महिने का होने तक तो खिलखिला कर मुस्कुराता भी है | शोधकर्ताओं ने बता Read more

हंसते—मुस्कराते जीये जिन्दगी Part 1

डा. जे.के.गर्ग
शरीर की विभिन्न बोलियों में मुस्कराहट-मुस्कराना सबसे शक्तिशाली बोली है | सच्चाई तो यही है कि मुस्कराहट दो व्यक्तियों के मध्य की दूरी को न्यूनतम बना देती है, वहीं प्यार भरी मुस्कराहट सारे घर को सूर्य की रोशनी जगमगा देती है | निसंदेह शरीर की विभिन्न बोलियों में मुस्कराहट-मुस् Read more

क्रांति के साथ शांति के प्रवर्तक: अरविन्द

lalit-garg
महर्षि श्री अरविन्द की पुण्यतिथि, 5 दिसम्बर 2017 एक सार्थक प्रश्न कि क्या इंसान सामथ्र्यवान ही जन्म लेता है या उसे समाज और परिस्थितियां गढ़ती है? मनुष्य जीवन की उपलब्धि है चेतना, अपने अस्तित्व की पहचान। इसी आधार पर वस्तुपरकता से जीवन में आनन्द! यह बात छोटी-सी उम्र में महर्षि Read more

राजेन्द्र बाबू के जीवन के प्रेरणादायक एवं मनस्पर्शी अनछुए पहलू— Part 3

डा. जे.के.गर्ग
आजादी आन्दोलन में शामिल होने के लिये छोडी वकालत उन दिनों डॉ. राजेन्द्र प्रसाद देश के गिने चुने नामी वकीलों में गिने जाते थे। उनके पास मान-सम्मान और पैसे की कोई कमी नहीं थी। लेकिन जब गांधी जी ने असहयोग आंदोलन शुरू किया तो राजेन्द्र बाबू ने वकालत छोड़ दी और अपना पूरा समय मातृभ Read more

दिव्यांगों को जीवन की मुस्कान दें

अन्तर्राष्ट्रीय विकलांग दिवस, 3 दिसंबर, 2017 पर विशेष हर वर्ष 3 दिसंबर का दिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विकलांग व्यक्तियों को समर्पित है। वर्ष 1976 में संयुक्त राष्ट्र आम सभा के द्वारा “विकलांगजनों के अंतरराष्ट्रीय वर्ष” के रूप में मनाया गया और वर्ष 1981 से अन्तर्राष्ट्रीय विकला Read more