गौरव गोयल साबित होंगे अजमेर के मिर्जा इस्माइल

राजेश टंडन एडवोकेट
राजेश टंडन एडवोकेट
प्रसंगवश 15 अगस्त 2017 के संदर्भ में जिलाधीश की भूमिका अजमेर को कस्बे से शहर बनाने का संकल्प लेकर आये कलेक्टर श्रीमान् गौरव गोयल का अजमेरवासी तहे दिल से स्वागत-अभिनन्दन कर रहे हैं। बहुत वर्षों के बाद विकास पुरूष के रूप में कोई जिलाधीश इस जिले में दृढ़ इच्छाशक्ति को लेकर आया है, आदरणीय टी.एन. चतुर्वेदी जी से लेकर आज तक जितने भी कलेक्टर आये हैं उनमें सबसे कम उम्र के कलेक्टर शायद गौरव गोयल साहब ही होंगे। 10 साल की नौकरी में कई जिलों में कलेक्ट्री करने का अनुभव इस छोटी सी उम्र में उनको प्राप्त हुआ और फिर अजमेर में लगे, यह अजमेर का सौभाग्य ही है। 15 अगस्त की तैयारियों को जिस तरह से जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन अन्जाम दे रहा है यह कलेक्टर साहब की लीडरशिप का अग्रणी उदाहरण है, 18 घंटे तक काम करके प्रशासन ने यह साबित कर दिया है कि लीडरशिप का गुण तो गौरव गोयल में है और काम लेने का तरीका भी उन्हें आता है, जिस तरह से मुख्यमंत्री जी की यात्रा की तैयारियों को अन्जाम दिया जा रहा है उससे ऐसा लगता है कि जैसे कोई इतिहास रचा जा रहा हो, प्रकृति की प्रतिकूलता, लगातार होने वाली बारिश, संसाधनों का अभाव, अव्यवस्थित हुआ शहर, यातायात, सफाई, टूटी-फूटी सड़कें, बिजली की समस्या, शहर को पोललैस करने का संकल्प, ए.डी.ए. का गैरजिम्मेदाराना रवैया और राजनीतिज्ञों का अंतर्द्वन्द और राजनीतिक प्रतिद्वन्दता एवं राजीनीतिक रस्साकशी, शहर के दोनों विधायकों (मंत्रीयों) में छत्तीस (36) का आंकड़ा ए.डी.ए. के पूर्व व वर्तमान अध्यक्षों की एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप, इन सभी बातों को दरकिनार कर श्री गोयल ने साबित कर दिया कि वो ‘‘वनमैन आर्मी‘‘ हैं, छोटी सी नाली के उद्घाटन से लेकर एक वृक्ष का वृक्षारोपण करने तक की जुगत और होड़ में रहते हुए राजनीतिज्ञ अब शहर में कहीं दिख ही नहीं रहे हैं सब काम बिना उनकी दखलअन्दाजी के सुचारू रूप से चल रहा है, आजकल कोई उद्घाटन, भाषण, चाटण नहीं हो रहा, यह शहर के लिये शुभ संकेत है, प्रारम्भ में जब श्री गोयल अजमेर आये तो उनकी छवि को लेकर कई सारी भ्रांतियां थीं, वो समय के साथ-साथ दूर हुईं, अजमेर के मीडिया ने भी उसमें बहुत बड़ा सहयोग किया, उन्हें ‘‘अजमेर का गौरव तक लिखा‘‘ , आजतक मैंने किसी भी अखबार , रिशाले , ब्लॉकियों ,और सोशल मीडिया मैं गोयल के खिलाफ नहीं पढा , और अब आने वाले समय में वो अजमेर के नये ‘‘मिर्जा इस्माईल‘‘ साबित होंगे, जैसे मिर्जा इस्माईल ने पिंकसिटी जयपुर को बसाया और बनाया था उसी के अनुरूप वह अजमेर में काम कर रहे हैं, मेरी उनके उज्ज्वल भविष्य और 15 अगस्त के कार्यक्रमों के लिये हार्दिक शुभकामनाएं

.आपका अपना राजेश टंडन

Leave a Comment