कैच मी इफ यू कैन

facebook_1505219848928आनासागर को और सुंदर और लुभावना बनाने के प्रयास जारी हैं । झील के चारों ओर बसी बस्तियों में सीवर लाइनों से जुड़ चुके घरों का अपशिष्ट जल अब पुष्कर तिराहे पर स्थित ट्रीटमेंट प्लांट में जाता है जिसे शुद्धिकृत कर पुनः झील में प्रवाहित किया जा रहा है । झील में आ रहे ठोस कचरे और अचानक उग आई जल कुम्भी को निकालने के लिए एक मशीन मंगाई गई है जो झील में इन दिनों सफाई कर रही है ।
मशीन सभी संकड़े और छिछले कोनों में नहीं जा पाती और वहां की सफाई हाथों से की जानी होगी । नालों में फेंका जाने वाला कचरा इसका मुख्य कारण है । अब देखना ये है कि हम घर के कचरे को रोज आने वाली वैन में डालना चाहेंगे या इसे झील के किसी कोने में इकट्ठा हुआ देखना पसंद करेंगे ।

सुपरिचित इंजीनियर व बुद्धिजीवी अनिल जैन की फेसबुक वाल से साभार

Leave a Comment