5 हड़ताली दिनों में शत प्रतिशत सभी 53 डिलेवरियां नोर्मल हुई

*डाक्टरों की हड़ताल बनी प्रशुताओ के लिए वरदान, पिछले 5 हड़ताली दिनों में शत प्रतिशत सभी 53 डिलेवरियां नोर्मल हुई*

हेमेन्द्र सोनी
हेमेन्द्र सोनी
इससे साफ जाहिर होता है कि ब्यावर के AKH अस्पताल में गायनिक वार्ड में गायनिक डॉक्टरो द्वारा कितनी बेरहमी से अपने स्वार्थ के लिए प्रशुताओ के स्वास्थ के साथ खिलवाड़ करने का घिनोना खेल चल रहा था ।
प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री से मांग है की ब्यावर अस्पताल की पिछले 5 वर्षों के दौरान हुई डिलेवरियो में कितने ऑपरेशन से हुई ओर कितनी नार्मल हुई इसकी जांच कराई जाए ।
डाक्टर्स के लिए यह शर्म की बात है कि वो अपने पेशे जिसमे उन्हें धरती का भगवान माना जाता है उसके साथ धोखा कर राहै है ओर प्रशुताओ की जान जोखिम में डाल रहे है क्यो ना इसकी उच्च स्तरीय जांच करवाई जाए और दोषी पाए जाने पर आरोपियों के लाइसेंस रद्द कर दिए जाएं ।
अस्पताल में बिना डाक्टर्स के केवल स्टाफ नर्स ओर आशा सहयोगिनियों के द्वारा ही जब यह रिकॉर्ड बना की 5 दिन की डाक्टरो की हड़ताल में होने वाली सभी की सभी 53 डिलेवरियो को (यानी 100 प्रतिशत ) नार्मल तरीक़े से प्रसव कराया गया जो कि आज तक के इतिहास का एक रिकार्ड है, और ताज्जुब की बात यह है कि जब पढ़े लिखे डाक्टर्स ड्यूटी पर होते है तो 25 से 50 प्रतिशत प्रशुताओ को ऑपरेशन की पीड़ा से गुजरना पड़ता है जो कि महिलाओं के लिए बहुत ही पीड़ा दायक होता है तथा 8सके साथ ही मानसिक परेशानी और अन्य दुष्प्रभाव भी झलने पड़ते है ।
यह गायनिक डाक्टरों का यह व्यवहार समाज के साथ धोखा है , यह बात हम नही कह रहे है यह सरकारी अस्पताल के आंकड़े बोल रहे है जिसको कोई भी झुठला नही सकता, जो कि डाक्टर्स के लिए शर्म की बात है । इससे मानवता ओर डॉक्टरी पेशा शर्मशार हुवा है ।
इससे अस्पताल की कार्यप्रणाली पर ओर pmo के डाक्टर्स ओर अस्पताल कार्मिकों के प्रबंधन की लचर व्यवस्था का खुलाशा भी हो रहा है ।

*हेमेन्द्र सोनी @ BDN जिला ब्यावर*

Leave a Comment