सन्नी देओल होंगे अजमेर से भाजपा प्रत्याशी?

sanni deolहालांकि अजमेर लोकसभा उपचुनाव की तारीख अभी घोषित नहीं हुई है और स्वाभाविक रूप से राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों की घोषणा में भी अभी वक्त लगेगा, मगर एक न्यूज चैनल ने तो उजागर कर दिया है कि भाजपा की ओर से फिल्म अभिनेता सन्नी देओल को चुनाव मैदान में उतारा जा रहा है। ज्ञातव्य है कि देओल सुप्रसिद्ध फिल्म अभिनेता धर्मेन्द्र के पुत्र हैं और जानी-मानी फिल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी उनकी सौतेली मां हैं। न्यूज चैनल ने जिस तरीके से खबर जारी की है, उससे तो यही प्रतीत होता है कि खबर ठोक-बजा कर प्रसारित की गई है, महज पार्टी स्तर पर घोषणा होना ही बाकी है। इसकी प्रस्तुति में भी ऐसा ही कहा गया है। ऐसा नहींं है कि न्यूज चैनल ने पहली बार उनका नाम अनावृत किया है। कुछ दिन पहले भी उनका नाम सोशल मीडिया में उछल चुका है, मगर चैनल तो नाम फाइनल होने की ही बात कर रहा है। उसके अनुसार इसमें हेमा मालिनी ने अहम भूमिका अदा की है। इस बाबत पिछले दिनों सन्नी, हेमा व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की बैठक हो चुकी है।
जहां तक सन्नी के राजनीतिक बैक ग्राउंड का सवाल है, यह सर्वविदित है कि उनके पिता धर्मेन्द्र एक बार बीकानेर से भाजपा सांसद रह चुके हैं और सौतेली मां हेमा मालिनी राज्यसभा सदस्य हैं, मगर निजी तौर पर उनका राजनीतिक अनुभव शून्य है। भाजपा सिर्फ उनके जाट होने के आधार पर प्रत्याशी बनाने पर विचार कर रही होगी। इसके अतिरिक्त उनके ग्लैमर का लाभ भी लेना चाहती होगी। उल्लेखनीय है कि भाजपा पर यह दबाव है कि वह किसी जाट को ही टिकट दे, क्योंकि एक तो यह सीट पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री प्रो. सांवरलाल जाट के निधन से खाली हुई है और दूसरा इस क्षेत्र में दो लाख से अधिक जाट मतदाता हैं। स्थानीय स्तर पर भाजपा के पास मुख्य रूप से प्रो. जाट के पुत्र रामस्वरूप लांबा और अजमेर डेयरी के अध्यक्ष रामचंद्र चौधरी ही दावेदार हैं। समझा जाता है कि लांबा को भाजपा अपेक्षाकृत कमजोर मान रही है और चौधरी को लेकर संघ की रजामंदी नहीं बन पा रही। यही वजह है कि उसे किसी विकल्प की तलाश है। संभवत: भाजपा यह मान कर चल रही है कि कांग्रेस की ओर से प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट चुनाव मैदान में उतर सकते हैं और उनका मुकाबला ये दोनों ही नेता नहीं कर पाएंगे। शायद इसी वजह से उसे किसी सेलिब्रिटी के नाम पर विचार करने की नौबत आई है।
उधर अभी तक कांग्रेस की ओर से किसी का नाम सामने नहीं आया है, मगर मोटे तौर पर यही माना जा रहा है कि सचिन पायलट ही प्रत्याशी होंगे, क्योंकि वे यहां से सांसद रह चुके हैं। इसके अतिरिक्त यह भी आम धारणा है कि केवल वे ही चुनाव शर्तिया जीतने की स्थिति में हैं। बहरहाल, कांग्रेस की ओर से जो भी आए, मगर सन्नी के चुनाव लडऩे की स्थिति में अजमेर का चुनावी रण काफी रोचक हो जाएगा। स्वाभाविक रूप से चुनाव प्रचार में धर्मेन्द्र, हेमा, बॉबी देओल, हेमा की दोनो पुत्रियों के अतिरिक्त फिल्मी जगत के कई नामचीन कलाकार आ कर माहौल को रंगीन बनाएंगे। लगे हाथ बता दें कि जैसे ही सन्नी का नाम चैनल ने उजागर किया तो आम जनता में पहली प्रतिक्रिया यही नजर आई कि अगर वे जीत भी गए तो पलट कर अजमेर नहीं आएंगे, जैसा कि पूर्व में उनके पिता धर्मेन्द्र ने बीकानेर के साथ किया था। भाजपा कार्यकर्ता भी जानते हैं कि अगर वे जीते तो उनसे संपर्क करना ही बेहद कठिन होगा, कोई काम करवाना तो बहुत दूर की बात है। देखने वाली बात ये भी होगी कि अगर जातिवाद के नाम पर सन्नी को उतारा गया तो क्या अजमेर संसदीय क्षेत्र का जाट समुदाय उन्हें सहज ही स्वीकार कर लेगा?

न्यूज चैनल में जारी खबर का लिंक ये है –
https://youtu.be/QnmkC-Ifm7k

-तेजवानी गिरधर
7742067000

Leave a Comment