अजमेर पुलिस ने एक ही दिन में किया दो हत्याओं का पर्दाफाश

नवीन वैष्णव
नवीन वैष्णव
अजमेर जिले में भले ही वारदातों का ग्राफ नीचे नहीं आया हो लेकिन यहां घटित अधिकांश वारदातों से पर्दा उठ चुका है। रविवार को भी जिला पुलिस ने आदर्श नगर थाना क्षेत्र में हुई वृद्धा की हत्या का पर्दाफाश तो किया ही सेज थाना क्षेत्र में गला रेतकर हुई युवक की हत्या से भी पर्दा हटा दिया और दोनों हत्यारों को भी सेज थाना पुलिस के सुर्पद किया।
जयपुर वेस्ट एडीशनल डीसीपी रतन सिंह ने बताया कि सेज थाना क्षेत्र में रविवार सुबह एक युवक की लाश मिली थी। जिसकी गला रेतकर हत्या की गई थी। युवक की शिनाख्त ब्यावर निवासी विवेकानंद के रूप में हुई थी। इस कार्रवाई की अजमेर जिला पुलिस को इसकी सूचना दी गई। पुलिस ने हत्यारे हितेश उर्फ काली व विशाल को ब्यावर से दबोच कर सेज थाना पुलिस के सुपुर्द किया। उन्होंने कहा कि हितेश उर्फ काली ने कबूला कि उसके भाई लकी ने तीन साल पहले ट्रेन के आगे कूदकर आत्महत्या की थी जिसका जिम्मेदार मृतक विवेकानंद था। विवेकानंद ने उसके भाई लकी से तीन-चार लाख रूपए उधार ले रखे थे जो वापस नहीं कर रहा था। इसी डिप्रेशन में उसने ट्रेन के आगे कूदकर जान दी थी। इसके बाद से हितेश रंजिश रखने लगा। उसे जब जानकारी मिली कि विवेकानंद जयपुर गया हुआ है तो वह भी शुक्रवार को जयपुर पहुंच गया और उसे बुलाकर सेज थाना क्षेत्र के सूनसान इलाके में गला रेतकर हत्या कर दी। इसके बाद शव को खाई में फेंक दिया। आज ही सुबह विवेकानंद का शव मिला था। हत्यारों को गिरफ्तार करके वारदात में प्रयुक्त कार भी जप्त कर ली गई है।
*शव मिलने से पहले दी सूचना*
डीसीपी रतन सिंह ने यह भी बताया कि अजमेर पुलिस ने जयपुर पुलिस को शनिवार को यह सूचना भी दी थी कि ब्यावर के युवकों ने किसी की हत्या करके फेंका है। इस सूचना पर उन्होंने शनिवार को तलाश भी की थी लेकिन इसका सुराग नहीं मिला था। उन्होंने अजमेर पुलिस और खास तौर पर स्पेशल पुलिस की भूरि-भूरि प्रशंसा की।
*ग्रामीणों के शक ने खोली हत्या की गुत्थी*
जिला पुलिस कप्तान राजेन्द्र सिंह ने आदर्श नगर थाना क्षेत्र के पालरा गांव निवासी पांची देवी की हत्या का खुलासा किया। उन्होंने कहा कि मयूर डेकोर फैक्ट्री में काम करने वाले दो श्रमिकों ने ही पांची देवी को मौत के घाट उतारा था। दोनों ने मूली खरीदने के बहाने पांची देवी को बुलवाया था। इसके बाद गला घोंटकर उसकी हत्या की और उसके शरीर पर पहने सारे गहने लूट लिए। बाद में देर रात शव को कट्टे में बांधकर कुएं में फेंका। हत्यारे उत्तरप्रदेश के दारापुर निवासी समीम अल्वी और इब्राहिम उर्फ कल्लू को फिलहाल बापर्दा रखा गया है। एसपी राजेन्द्र सिंह ने कहा कि इस वारदात को खोलने में स्पेशल पुलिस और आदर्श नगर थाना पुलिस का विशेष सहयोग रहा।
नवीन वैष्णव
(पत्रकार), अजमेर
9252958987
24-12-2017
navinvaishnav5.blogspot.com

www.facebook.com/Navinvaishnav87

Leave a Comment