इन मौतों का जिम्मेदार कौन

ओम माथुर
ओम माथुर
जिस देश मे नेताओं की आवभगत पर करोड़ों रुपए खर्च हो जाते हैं, उस देश में चंद पैसों के कारण ऑक्सीजन की सप्लाई रुक जाने की वजह से 60 बच्चों की मौत पूरे सिस्टम पर करारा तमाचा हैं और वो भी उत्तरप्रदेश के उस शहर गोरखपुर में, जो खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का कार्यक्षेत्र हैं। जो कम्पनी गोरखपुर के अस्पताल को ऑक्सीजन सप्लाई करती थी उसका 70 लाख का भुगतान नही होने के कारण उसने सप्लाई रोक दी और नतीजा 60 बच्चों की जान दिमागी बुखार से चली गयी।
योगी ये दावा करते रहे हैं कि वो गोरखपुर में सालो से फैल रही इस बीमारी से बच्चों को बचाने में लगे रहे हैं। ऐसे में तो ये और भी शर्मनाक है कि उनके मुख्यमंत्री बनने के बाद इतने बच्चों की जान गई है। होना तो ये चाहिए था कि सीएम बनने के बाद योगी इस पर ज्यादा ध्यान देते,लेकिन हुआ उल्टा। सत्ता उनके हाथ मे आने के बाद उन्ही के शहर के अस्पताल मे हुई इन मौतों के लिए क्या उनकी सीधी जिम्मेदारी नही बनती? सीएम बनने के बाद जब वो पहली बार गोरखपुर गए थे,तो उनके स्वागत-सत्कार मे वहा करोड़ो रूपये खर्च कर दिए गए थे। काश इन्हीं पैसों में से आक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी को पहले भुगतान कर दिया जाता तो इन बच्चों के माता पिताओ को जीवन भर सालने वाला ये दर्द नही मिलता।अब इस मामले के जांच होगी और मामले से जुड़ा हर पक्ष एक दूसरे पर मौतों की जिम्मेदारी डालेगा और फिर जांच रिपोर्ट फाइलों में दफन हो जाएगी। लेकिन जिन्होंने अपने बच्चे खोए हैं उन्हें जिंदगी भर का जख्म मिल गया है। क्या इसीलिए योगी को चुना था इन जैसे माता पिताओ ने।

Leave a Comment