कितनी उचित प्रदेश में बिजली कटौती?

और कटौती क्यो, कटौती तक पहुचे हालात जिसका जिम्मेदार कौन

हेमेन्द्र सोनी
हेमेन्द्र सोनी
प्रदेश में बिजली विभाग ने अलग अलग इलाके के हिसाब से विद्युत कटौती का प्रोग्राम जनता के सामने रख दिया । यह कितना उचित है ।
जबकि पावर प्लांट के अधिकारियों ने कोयले कि कमी के लिए पिछले 15 दिनों से उच्च अधिकारियों और सरकार को पावर प्लांट के लिए ईंधन की कमी की बात बताई जा चुकी थी, जिसकी खबर प्रिंट मीडिया में भी आई थी फिर क्या कारण रहा की प्लांट के लिए ईंधन की आपूर्ति नही की जा सकी । ईंधन की आपूर्ति में को रोड़ा बना हुवा है ?
इन दिनों भारत का सबसे बड़ा त्योहार दीपावली सामने है और इस त्योहारो पर तो लाइट ही सबसे महत्वपूर्ण होती है और प्रदेश में अफसरों की लापरवाही से उसी की कमी प्रदेश झेल रहा है । ऐसा क्यों ?, प्रदेश की जनता क्यो भुगते यह बिजली कटौती, सरकार को तुरंत इसके लिए एक्शन प्लान बना कर बिजली कटौती के लिए जिम्मेदार अफसरों पर कार्यवाही कर ईंधन की आपूर्ति तत्काल बहाल कर प्रदेश को दीपावली के त्योहार पर 24 घंटे निर्बाध रूप से बिजली की आपूर्ति सुचारू की जाय ।
इन दिनों जब मुख्यमंत्री प्रदेश में होने वाले उप चुनावो की तैयारी में व्यस्त है और उसी दौरान यह कटौती सरकार के लिए गलत संदेश देती है और विपक्षियों को बैठे बिठाए एक ओर मुद्दा मिल गया ।
इसमे किस किस की लापरवाही है पता लगा कर उस पर कार्यवाही की जानी चाहिए ।

हेमेन्द्र सोनी @ BDN जिला ब्यावर

Leave a Comment