सामाजिक सद्भावना के लिए मजदूरों का राष्ट्रीय सम्मेलन

राष्ट्रीय जन विरोधी नीतियों, सामाजिक सुरक्षा, स्कीम वर्कर्स को मजदूर का दर्जा, भुगतान एवं सुविधाऐं, बेरोजगारी, निजीकरण, ठेकेदारी प्रथा का विरोध जैसी 12 सूची माँग के लिए देषभर के सभी ट्रेड यूनियन संगठनों (भारतीय मजदूर संघ को छोड़कर) का राष्ट्रीय सम्मेलन, 8 अगस्त 2017 को ताल कटोरा स्टेडियम, नई दिल्ली में सम्पन्न हुआ।

नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलॉईज यूनियन के मण्डल अध्यक्ष मोहन चेलानी ने बताया कि देष के कोने-कोने से आए दस हजार से अधिक मजदूरों को हिन्द मजदूर सभा के राष्ट्रीय महासचिव हरभजन सिंह सिद्धू, इंटक के अघ्यक्ष डॉ. जी. संजीव रेडडी, एटक की उपाध्यक्ष कमलजीत कौर, सीटू के महासचिव कामरेड तपन सैन सहित दस संगठनों के राष्ट्रीय नेताओं ने सम्बोधित करते हुए कहा कि देष में महंगाई, बेरोजगारी, न्यूनतम वेतन, कार्यस्थल पर सुविधाओं, निजीकरण की समस्याओं का निपटारा नहीं हो रहा है, दूसरी ओर सरकार की नीतियों से मजदूरों की सामाजिक सुरक्षा एवं आपसी सद्भावना खतरे में है। सरकार श्रम कानूनों में परिवर्तन करके दषकों पूर्व प्राप्त ट्रेड यूनियन अधिकारों पर कुठाराघात कर रही है। नये मजदूर संगठन बनाने के नियम कड़े कर देने से असंगठित मजदूरों की संख्या बढ़ रही है। महिलाओं की रात्रि ड्यूटी का नियम लागू करके महिलाओं की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। पेंन्षन की गारन्टी समाप्त कर दी गई है। इससे देष के मजदूरों में भारी असंतोष है।

सम्मेलन में नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्पलॉईज यूनियन के जोनल अध्यक्ष भूपेन्द्र भट्नागर, महासचिव मुकेष माथुर, मण्डल अध्यक्ष मोहन चेलानी, मण्डल सचिव अरूण गुप्ता, अनिल व्यास, आर.के.सिंह, मनोज परिहार, विनीतमान सहित 40 मजदूर नेताओं ने भाग लिया।

सम्मेलन में 12 सूत्रीय माँग पत्र पर प्रस्ताव पास कर 9 से 11 नवम्बर 2017 तक तीन दिवसीय राष्ट्रीय पड़ाव का संयुक्त निर्णय लिया गया।

(मोहन चेलानी)
मंडल अध्यक्ष

Print Friendly

Choose your typing language Ajmer Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>