ई-मित्र के सेवा प्रदाता पर लगाया जुर्माना

अजमेर, एक दिसम्बर। जिले में ई-मित्र परियोजना के अन्तर्गत कार्यरत स्थानीय सेवा प्रदाताओं पर जुर्माना लगाया गया है।
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के उप निदेशक श्री भगवती प्रसाद ने बताया कि ई-मित्र परियोजना में जिला स्तर पर कार्यरत स्थानीय सेवा प्रदाताओं द्वारा ई-मित्र क्यिोस्क धारकों के लिए प्रत्येक दो माह में प्रशिक्षण आयोजित किया जान आवश्यक है। जिले के 19 सेवा प्रदाताओं द्वारा प्रशिक्षण नहीं आयोजित करने के कारण जुर्माना प्रस्तावित किया गया है।
उन्होंने बताया कि वक्रांगी द्वारा 20, सीएमएस कम्प्यूटर्स द्वारा 13, मेघा विनकॉम द्वारा 10, मनीपॉल टेक्नोलॉजी द्वारा 9, कॉमटेक इंस्ट्ीटयूट, बेसिक्स तथा अक्स ऑबटीफायर द्वारा 8-8, आचार्य टेक्नोलॉजीज, ईकार्टेस तथा फोर्थ डॉयमेंशन द्वारा 3-3, फीनोपेटेक, ओवी टेक्नोलॉजी, हकदर्शक एम्पलॉएमेंट तथा कामटेेक एसोसिएटस द्वारा 2-2 एवं अभिचल सर्विसेस, एसआईआई इन्फ्रास्ट्रक्चर, ओसवाल कम्प्यूटर, नेटवर्क फोर इन्र्फोमेशन एण्ड कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी तथा ऑक्सीजन सर्विसेज को एक-एक ई-मित्र क्यिोस्क धारकों को प्रशिक्षित नहीं करने के कारण शास्ति आरोपित किया जाना प्रस्तावित किया गया है।

ई-मित्र क्यिोस्क धारकों पर लगाया जुर्माना
अजमेर, एक दिसम्बर। जिले में संचालित 11 ई-मित्र क्यिोस्क धारकों तथा उनसे संबंधित स्थानीय सेवा प्रदाताओं पर विभिन्न कारणों से जुर्माना लगाया गया है।
सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के उप निदेशक श्री भगवती प्रसाद ने बताया कि ई-मित्र परियोजना में कार्यरत ई-मित्र क्यिोस्क धारकों द्वारा विभिन्न नियमों का उल्लंघन करने पर शास्ति आरोपित की गई है। पं. दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन शिविर में नियुक्त किए जाने के उपरान्त बीना सूचना के अनुपस्थित रहने पर क्यिोस्क धारक महेन्द्र विजय, बृजेश टांक, अजाजूर रहमान, सौरभ विजय, संपत लाल मीणा, दीपक महावर, श्याम सुन्दर शर्मा तथा रामसिंह पर जुर्माना लगाया गया। इसी प्रकार ई-मित्र पोर्टल की सेवा देने से इनकार करने के कारण महेश चन्द टेलर तथा अमित व्यास एवं रेट लिस्ट चस्पा नहीं करने के कारण प्रदीप बराड़िया पर भी शास्ति आरोपित की गई। इन ई-मित्र संचालकों के साथ-साथ इनसे संबंधित स्थानीय सेवा प्रदाता पर भी जुर्माना लगाया गया है।

Leave a Comment