घी डूले तो मूंगा में ही डूले पुरानी कहावत है

राजेश टंडन एडवोकेट

राजेश टंडन एडवोकेट

आलाकमान कांग्रेस का टिकट चाहे जिसे दे वो हमारे सिर माथे , जब सचिन पायलट साहब खुद लडते तो उसका तो कोई सानी ही नहीं था , और उनकी जीत तो निश्चित थी अजमेर के लोग उन्हें विकास पुरूष मानते हैं ,
और अगर अब जब वो खुद नहीं लड रहे और सारा खेल जाट राजनीति पर ही है और जाट राजनीति ही चलनी है जैसा भाजपा चल रही है , तो मैं शुरू दिन से बार बार सोशल मीडिया के माध्यम से बडे बडे नेताओं से और व्यक्तिशः आलाकमान से निवेदन कर रहा हूँ कि नागौर से सांसद रही हुई आदरणीया ज्योति मिर्धा जी को अजमेर से सांसद का उप चुनाव लडवा दो फिर तेल देखो और तेल की धार देखो अगर ज्योति मिर्धा जी भाजपा के उम्मीदवार की जमानत ना जब्त करवा दे तो मुझे कहना ,

जाटों के अलावा अन्य जातियां भी कांग्रेस को वोट देना चाहती हैं ऐसे लोगों के जज्बात को समझना चाहिए और every thing is fair in love or war , दूदू से लेकर केकडी तक जाट बाहुल्य इलाके में आदरणीया ज्योति जी को जनता पलक पांवढो पर बैठाती और फिर स्व बाबा नाथूराम जी मिर्धा की पुत्री का अजमेर संसदीय क्षैत्र में ऐसा अभूतपूर्व स्वागत होता की हिन्दूस्तान देखता रह जाता जैसे उत्तरी भारत से एक बार बाबा नाथूराम जी अकेले ही जीते थे , अरांई , नसीराबाद , किशनगढ़ , मसूदा , दूदू , केकडी सरवाड , रूपनगढ़ आदि जाट बाहुल्य के जाट ज्योति मिर्धा जी के नाम से झूम उठते और एक तरफा मतदान कांग्रेस के पक्ष में होता ,

हम तो कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं पार्टी जिसे भी टिकट देगी उसके लिये जी जान से मनसा ,वाचा ,कर्मणा लगेगें और कार्य करेंगे , पर अपने अनुभव से कांग्रेस के कार्यकर्ता होने के नाते अपने विचार आलाकमान और बडे नेताओं के सामने रखे हैं , हम कोई हारे या जीते हुये नेता तो हैं नहीं जो कोई हमसे बुला कर पूछे , हमतो एक अदने से छोटे से कार्यकर्ता हैं और अपनी बात कहने का हमारा भी मन करता है पर क्या करें कोई सुनता ही नहीं है , जातिय आधार है नहीं पर खून में कांग्रेस रची बसी है , राजश्री परशोत्तम दास जी टंडन के वंशज हैं , कभी पूरे जीवन में सारे घर परिवार कांग्रेस छोड कर कहीं गया नहीं और मैनें कभी पार्टी बदली नहीं ना पार्टी के साथ धोखा किया , सदा ही पार्टी के कर्मठ सिपाही की तरह काम किया जो बात पार्टी हित में लगी वो निवेदन की है कृपया अन्यथा ना लें , और अगर कुछ जज्बाती हो गया हूँ लिखते हुऐ और आपको कुछ बुरा लगा हो तो माफ करने की कृपा करें ,

आपका अपना राजेश टंडन कांग्रेस कार्यकर्ता अजमेर ।

Print Friendly

Choose your typing language Ajmer Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>