कर्म के द्वारा भाग्य बदलने का साहस युवाओ में ही होता है -संतोष गंगेले

DSC_1813छतरपुर 10 अक्टूबर 2017 स्थानीय आरटीआई कॉलेज मध्य प्रदेश शासन के तकनीकी शिक्षा एबं कौशल विकास औधौगिक प्रशिक्षण संस्था छतरपुर में आज सुबह 11:00 बजे स्वच्छ भारत बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान नैतिक शिक्षा, नशा मुख्ती एवं भारतीय संस्कृति पर जन जागरण अभियान विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के शुभारंभ में संस्था में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही पांच बेटियों का स्वागत अभिनंदन करने के बाद उनका साहित्य सामग्री से सम्मान किया गया।
कार्यक्रम के अतिथि संतोष गंगेले सामाजिक कार्यकर्ता नौगांव का स्वागत मालाओं से स्वागत किया गया कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्था प्रभारी श्री सी पी सक्सेना ने कार्यक्रम की अ विशिष्ट अतिथि श्री एसपीएस बघेल रहे कार्यक्रम का संचालन व्याख्याता श्री के के टंडन जी ने किया कार्यक्रम में 11 बेटियों एवं 5 बालक छात्राओं को स्वच्छ भारत अभियान एवं विभिन्न प्रतियोगिताओं के लिए सम्मानित किया गया.
जन जागृति अभियान के मुख्य अतिथि सामाजिक कार्यकर्ता संतोष गंगेले ने संस्था में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे आईटीआई के छात्र छात्राओं को संबोधित करती है कहा कर्म ही पूजा है कर्म के द्वारा ही भाग्य का परिवर्तन किया जा सकता है इस विषय को लेकर उन्होंने बच्चों को स्वच्छ मन स्वच्छ भारत स्वच्छ देश के विचारों से जन जागृत किया साथ ही बेटियों को आत्मविश्वास जगाने कर जीवन जीने की कला बताए इस अवसर पर नैतिक शिक्षा एवं भारतीय संस्कृति पर विस्तार से बच्चों के समक्ष उदाहरण सहित अनेक प्रमाणित कहानी और जानकारियां देकर बच्चों को आत्मनिर्भर एवं बौद्धिक ज्ञान से परिपूर्ण किया गया। स्वच्छता के प्रति सजग किया साथ नई नशा के दुष्परिणामों पर विचार रखें। . इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे संस्था प्रभारी श्री सीपी सक्सेना ने बच्चों में एक कर्मयोगी के जीवन में किस प्रकार से परोपकार के साथ -साथ नियम संयम होता है उसका उदाहरण देते हुए कहा श्री संतोष गंगेले जी समाज के लिए एक वरदान के रूप में समाज सेवा कर रहे हैं छतरपुर जिले की ही नहीं पूरे मध्यप्रदेश के लोगों को उनकी दिनचर्या नियम संयम, परोपकारी जीवन के बारे में जानकारी हासिल करना चाहिए। विशेष अतिथि व्याख्याता श्री एसपीएस बघेल ने इस आयोजन की रूपरेखा और मुख्य अतिथि के जीवन पर प्रकाश डाला साथ ही अतिथियों का आभार व्यक्त किया। इसके बाद श्री संतोष गंगेले ने वारी हैं स्कूल में बच्चो को शिक्षा दी. नौगाव जनपद के नूना हैं स्कूल पहुंचकर आयोजन किया साथी की सम्मानित किया।

Leave a Comment