14 को कृष्ण भक्ति रस की सरिता बहाएंगी पूर्णिमा दीदी

22 को 50 वरिष्ठजन जाएंगे तीर्थयात्रा पर
Aqua Y2 Pro_20171012_122615बीकानेर 12 अक्टूबर 2017। भगवती मंडल सेवा संस्थान ट्रस्ट ( जागरण समिति, वैष्णो धाम मंदिर बीकानेर ) की ओर से बीकानेर में तीसरी बार 14 अक्टूबर 2017 को रतन बिहारी पार्क में शाम सात से रात नौ बजे तक स्थानीय भजन गायक प्रस्तुतियां देंगे तथा रात नौ बजे से 12 बजे तक श्री धाम वृन्दावन बरसाना की बृज रस रसिका पूर्णिमा दीदी भजन संध्या में भगवान श्रीकृष्ण के भजनों की सरिता प्रवाहित करेंगी। इसके ठीक आठ दिन बाद 22 अक्टूबर को संस्था द्वारा आठवीं बार कुल 50 वरिष्ठजनों को वृंदावन, मथुरा, हरिद्वार, नैनादेवी की तीर्थयात्रा पर ले जाया जाएगा। दल में हलवाई आदि 10 सेवकों का दल खानपान तथा अन्य सेवाकार्याें के लिए शामिल रहेगा। इस बारे में गुरुवार को संस्था की प्रेसवार्ता खैरपुर भवन कमला कॉलोनी में आयोजित हुई जिसमें अध्यक्ष सुरेश खिवानी ने बताया कि 60 गुना 50 गुना 30 फीट के विशाल स्टेज सहित प्रकाश प्रबंध, ध्वनि प्रसारक, सीटिंग अरेंजमेंट आदि सभी प्रकार की तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया है। शांति एवं सुरक्षा के लिहाज से जिला प्रशासन एवं पुलिस विभाग से आग्रह किया गया है। जागरण आयोजन को लेकर विभिन्न कमेटियों का गठन भी किया जा चुका है। गौतम लाल खिवानी ने बताया कि इस भजन संध्या में 10 हजार से 15 हजार श्रद्धालुओं के बीकानेर नगर से भाग लेने की तैयारियां कर दी गई हैं। भगवती सेवा मंडल संस्थान ट्रस्ट द्वारा ही सन 1983 में विशाल भगवती जागरण का आयोजन रेलवे स्टेडियम में किया गया जिसमें कलाकार श्री नरेंद्र चंचल ने तथा सन 1998 में रतन बिहारी पार्क में लखा ( लखविन्दर सिंह ) की भजन संध्या का आयोजन किया गया था। इसी कड़ी में तीसरा भव्य भजन संध्या का आयोजन 14 अक्टूबर को बृज रस रसिका पूर्णिमा दीदी कृष्ण भक्ति के भजन सुनाएंगी। प्रेसवार्ता में सुरेश खिवानी, गौतम लाल खिवानी, सोनू चड्डा, विक्की चड्डा, दीपक अरोड़ा, राकेश बजाज, हीरालाल पारीक, राकेश भाटिया आदि ने भी जानकारियां साझा की।
– मोहन थानवी

Print Friendly

Choose your typing language Ajmer Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>