बलिहारी गुरु आपने गोविंद दियो बताय

आज शिक्षक दिवस है।शिक्षक दिवस भारत के प्रथम उपराष्टपति 1952-1962 तथा द्वितीय राष्टपति 13मई,1962-13मई,1967 तक रहे डॉ०सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्म दिन के अवसर पर मनाया जाता है।डॉ०सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म 5सितम्बर,1888 को तिरूट्टनी,तमिलनाडु में हुआ था।आपकी पत्नी का नाम शिवकामु था।अपने पीछे 1पुत्र तथा 5पुत्रियां आप छोड़ कर गये थे।डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन एक प्रखर वक्ता … Read more

नूरा कुश्ती को राट्रीय खेल घोषित किया जाए!

क्या आपने कभी नूरा कुष्ती देखी है? मैं डब्ल्यू डब्ल्यू एफ-वल्र्ड रैस्टलिंग फैडरेशन द्वारा आयोजित उन बनावटी कुश्तियों की बात नहीं कर रहा हूं, जिसकी झलक कुछ टीवी चैनल्स पर दिखाई जाती है। इसमें आपने देखा होगा कि किस तरह भारी भरकम पहलवान एक दूसरे को बुरी तरह झंझोड़ते हैं और उठा उठा कर नीचे … Read more

मधुरिमा…

जीवन मधुरिम मृत्यु मधुरिम मधुरिम संसार प्रेम मधुरिम ममता मधुरिम मधुरिम संसार तू मधुरिम मैं मधुरिम मधुरिम संसार अपनत्व मधुरिम घनत्व मधुरिम मधुरिम संसार संगठन मधुरिम एकता मधुरिम मधुरिम संसार विद्या मधुरिम ज्ञान मधुरिम मधुरिम संसार लय मधुरिम विलय मधुरिम मधुरिम संसार mohan thanvi (bahubhashi)

सचिन पायलट का राजयोग काल सर्प दोष के कारण ही है

आज काल सर्प योग से हर व्यक्ति भयभीत है, मगर आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि वर्तमान केन्द्रीय दूरसंचार राज्य मंत्री और अजमेर जिले के सांसद सचिन पायलट की कुण्डली में विद्यमान काल सर्प दोष ही उनके राज योग का कारक है। असल में काल सर्प योग के बारे में गलत धारणाएं स्थापित की गई … Read more

ऐ मेरे रहनुमां ,ऐ मेरे रहनुमां

ऐ मेरे रहनुमां ,ऐ मेरे रहनुमां ऐ मेरे रहनुमां ,ऐ मेरे रहनुमां … मौला मेरे कुछ रहम कर दे अपने बन्दे पे कुछ करम कर दे कब से भटकता हूँ मैं दर बदर दौरे मुफलिसी अब खतम कर दे … ऐ मेरे रहनुमां … ऐ मेरे रहनुमां ऐ मेरे रहनुमां … ऐ मेरे रहनुमां दर … Read more

भारत देश आज भी सोने की चिड़िया है ?

जब भी कभी अकेली बैठती  हु , तो रह रह कर देश के बारे मे सोचने पर मजबूर हो जाती हु . कभी सोने की चिड़िया कहा जाने वाला हमारा” भारत  देश ” आज  भी सोने  की चिड़िया है ?? – फिर लगता है नहीं , क्योकि  आज इस देश के कई लालची  भ्रस्ट नेता … Read more

ब्रम्हचर्य के पालन से होती है दर्घायु

यह आलेख किसी व्यक्तिगत जीवन की गाथा से जुड़ा नही है, इस आलेख को मैं अपने अनुभव के अनुसार लिख रहा है जीवन में नियम व संयम को जो जीवन में अपना सलाहकार, दोस्त वैद्य या डाक्टर समझ कर पालन करते हे उनका जीवन आनंदमय, सुखमय व लाभकारी होगा। प्रकृति ने जींव की संरचना करते … Read more

जीरो का महत्व है अपने वतन में!

आखिर जीरो का ही सहारा लिया गृहमंत्रीजी ने भी और ऐलान कर दिया कि कोयले में जीरो लॉस हुआ हैं. उन्होंने कहा कि 57 कोयला खदानों से नुकसान का कैग का दावा गलत है। जब खदान से कोयला निकाला ही नहीं गया तो 1.86 लाख करोड रुपए के नुकसान की बात कहां से आ गई? … Read more

भारतीय लोकतंत्र में संसद की गरिमा

संसद के ६० वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर विशेष सत्र का आयोजन कर उत्सव मनाया गया । पर क्या केवल उत्सव मनाना पर्याप्त है ? सैद्धांतिक रूप से जो सम्मान व महत्व संसद का है क्या वह गरिमा आज जनमानस में स्थापित है ? क्या देश की जनता संसद के हीरक महोत्सव के समारोह … Read more

मातृत्व की मिसाल – मदर टेरेसा

मदर टेरेसा के जन्मदिन पर विशेष अपने बच्चों को तो सभी प्यार करते हैं लेकिन एक औरत वहां आकर माँ हो जाती है जब वह दूसरों के बच्चों को भी प्यार करे। मेसिडोनिया की राजधानी स्कोप्जे शहर में जन्मी एक लड़की अग्नेसे गोंकशे बोजशियु भी भारत के दीन-दुखियों के लिए एक ऐसी ही मां बनीं, … Read more

वीर शिरोमणी महाराजा दाहिर

महाराजा दाहिर की जयंती पर 25 अगस्त को विशेष पुण्य सलिला सिंध भूमि वैदिक काल से ही वीरों की भूमि रही है। वेदों की ऋचाओं की रचना इस पवित्र भूमि पर बहने वाली सिंधु नदी के किनारों पर हुई। इस पवित्र भूमि पर पौराणिक काल में कई वीरों व वीरांगनाओं को जन्म दिया है, जिनमें … Read more