जिले में तृतीय चरण में स्वीकृत 3895 कार्य

अजमेर 15 मई। जिला कलक्टर आरती डोगरा ने कहा कि मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान राज्य सरकार का महत्वाकांक्षी कार्यक्रम है। राजस्थान के हित में इस अभियान के दूरगामी परिणाम हासिल होंगे। इससे जुड़े विभाग अपने कार्य समय पर एवं गुणवत्तापूर्ण ढंग से सम्पन्न कराएं। अभियान के तहत जिले में 55 ग्राम पंचायतों के 130 गांवों में 3895 कार्य स्वीकृत किए गए हैं।
जिला कलक्टर आरती डोगरा ने आज कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री जल स्वावलम्बन अभियान की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि यह पेयजल एवं भू जल की दृष्टि से राज्य सरकार का सर्वाधिक महत्वपूर्ण अभियान है। राज्य सरकार चाहती है कि ग्रामीण क्षेत्रों की जल से संबंधित समस्याएं एवं जरूरतें उनके गांव में ही पूरी हो जाए। ऎसे में गांव का पानी गांव में और खेत का पानी खेत में रहने जैसा लक्ष्य लेकर चल रहा यह अभियान गांव की तकदीर बदलने वाला होगा।
उन्होंने कहा कि अभियान से जुड़े विभाग पूरी गम्भीरता से अपने से संबंधित कामों का क्रियान्वयन करें। कार्य में गुणवत्ता एवं समय सीमा का विशेष ध्यान रखा जाए। अभियान के तहत तृतीय चरण में जिले में 3895 कार्य स्वीकृत किए गए हैं। इन कार्यों को 30 जून तक हर हाल में पूरा करा लिया जाए। इस महीने 2580 कार्य होने हैं। लक्ष्य की प्राप्ति के लिए विभाग जुट जाए।
उन्होंने अभियान से जुड़े जल संसाधन, पंचायतीराज, कृषि, वन, उद्यानिकी, जलदाय एवं सार्वजनिक निर्माण विभाग को निर्देश दिए कि उनसे संबंधित काम जल्द करवाएं। इन कार्यों की गुणवत्ता आगामी दो दशकों तक बरकरार रहे। इसके लिए निर्माण पर विशेष नजर रखे। जन सहभागिता के कार्यों पर भी ध्यान दिया जाए।

प्रधानमंत्री आवास योजना का दें लाभ
जिला कलक्टर आरती डोगरा ने प्रधानमंत्री आवास योजना की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभ प्रदान करें। आवास योजना के लाभार्थियों को प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय किश्त शीघ्र प्रदान की जाए। केन्द्र व राज्य सरकार के निर्देशों की अनुपालना में नए लाभार्थियों के नाम जोड़ने का कार्य भी शीघ्र सम्पन्न कराया जाए। उन्होंने उपखण्ड व विकास अधिकारियों के लिए निर्देश दिए कि राजस्व लोक अदालत ः न्याय आपके द्वार अभियान के दौरान संबंधित ग्राम पंचायतों में प्रधानमंत्री आवास योजना का भौतिक निरीक्षण करें ताकि आगामी किश्त जारी की जा सके।

श्रमिकों को नियोजित करें अधिकारी
जिला कलक्टर ने महात्मा गांधी नरेगा के कार्यों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिए कि ग्राम पंचायतों में नए राजस्व काम स्वीकृत कर अधिक से अधिक श्रमिकों को नियोजित किया जाए। जिले की सभी 282 ग्राम पंचायतों में व्यक्तिगत लाभ के कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए। योजना में पशु आश्रय स्थल, बकरी आश्रय स्थल, मेडतर््बंदी आदि कार्य में ज्यादा स्वीकृतियां जारी की जाएं।
बैठक में जिला परिषद के सीईओ श्री अरूण गर्ग, एसीओ श्री भगवत सिंह राठौड़, वाटरशेड के श्री शरद गेमावत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

महानरेगा के तहत 177 कार्यों के लिए 25 करोड़ 32 लाख 36 हजार रूपए स्वीकृत
अजमेर, 15 मई। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारन्टी स्कीम के तहत जिले की जवाजा, भिनाय, श्रीनगर, पीसांगन, अरांई एवं सिलोरा पंचायत समिति में 177 कार्यों के लिए 25 करोड़ 32 लाख 36 हजार रूपए की वित्तीय स्वीकृति जारी की गई है।
जिला कलक्टर आरती डोगरा ने बताया कि योजनान्तर्गत जवाजा पंचायत समिति में एक कार्य के लिए 4 लाख 75 हजार रूपए स्वीकृत किए गए हैं। जबकि भिनाय में 4 कार्यों के लिए 47 लाख 68 हजार रूपए, श्रीनगर में 33 कार्यों के लिए 4 करोड़ 39 लाख 86 हजार रूपए, पीसांगन में 50 कार्यों के लिए 5 करोड़ 16 लाख 64 हजार रूपए, अरांई में 6 कार्यों के लिए 74 लाख 99 हजार रूपए तथा सिलोरा पंचायत समिति में 83 कार्यों के लिए 14 करोड़ 49 लाख 4 हजार रूपए की वित्तीय स्वीकृति जारी की गई है।

राजस्व लोक अदालत अभियान ः न्याय आपके द्वार 2018
शिविरों का कार्यक्रम

अजमेर, 15 मई। राजस्व लोक अदालत अभियान न्याय आपके द्वार के तहत जिले में आगामी 31 मई तक 77 ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर आयोजित कर आमजन को लाभान्वित किया जाएगा।
जिला कलक्टर आरती डोगरा ने बताया कि बुधवार 16 मई को अजमेर के सेंदरिया में, पुष्कर के देवनगर में, नसीराबाद के न्यारा में, पीसांगन के बुधवाड़ा में, केकड़ी के बाजटा में, सरवाड़ के फतेहगढ़ में तथा भिनाय के नान्दसी में शिविर होंगे। इसी प्रकार गुरूवार 17 मई को अजमेर के गगवाना में, ब्यावर के राजियावास में तथा किशनगढ़ के दादिया में, शुक्रवार 18 मई को नसीराबाद के झड़वासा में, पीसांगन के जेठाना में, ब्यावर के काबरा में, किशनगढ़ के खातोली में, केकड़ी के मेवदाकलां में, मसूदा के झाग में, सरवाड़ के टांटोटी में, भिनाय के लामगरा में तथा रूपनगढ़ के अमरपुरा में, सोमवार 21 मई को अजमेर के कायमपुरा में, नसीराबाद के मावशिया में, पीसांगन के भटसूरी, ब्यावर के किशनपुरा में, केकड़ी के आलोली में, मसूदा के धौलादांता में तथा सरवाड़ के भगवानपुरा में, मंगलवार 22 मई को अजमेर के नारेली में, ब्यावर के रावतमाल में, किशनगढ़ के आकोड़िया में, मसूदा के देवास में, सरवाड़ के सातोलाव में, भिनाय के बड़ली तथा रूपनगढ़ के नोसल में शिविर आयोजित होंगे।
उन्होंने बताया कि बुधवार 23 मई को अजमेर के रामनेर ढ़ाणी में, पुष्कर के तिलोरा में, नसीराबाद के फारकिया में, पीसांगन के जसवंतपुरा में, टॉडगढ़ के मालातो की बेर में, किशनगढ़ के बरना में, केकड़ी के भराई में, मसूदा के श्यामगढ़ में, सरवाड़ के स्यार में तथा भिनाय के केरोट में, गुरूवार 24 मई को ब्यावर के दुर्गावास में, शुक्रवार 25 मई को अजमेर के हाथीखेड़ा में, नसीराबाद के साम्प्रोदा में, पीसागन के मकरेड़ा में, ब्यावर के कोटड़ा में, किशनगढ़ के अरांई में, केकड़ी के मोलकिया में, मसूदा के पीपलाज में, सरवाड़ के रामपाली में, भिनाय के नागोला में तथा रूपनगढ़ के त्योद में, सोमवार 28 मई को अजमेर के ऊंटड़ा में, नसीराबाद के तिलाना में, ब्यावर के सूरजपुरा में, केकड़ी के कादेड़ा में तथा मसूदा के बेगलियावास में, मंगलवार 29 मई को अजमेर के माकड़वाली में, ब्यावर के लोटियाना में, किशनगढ़ के रलावता में, मसूदा के जालिया द्वितीय में, सरवाड़ के सूंपा में, भिनाय के राताकोट में तथा रूपनगढ़ के नुवां में, बुधवार 30 मई को पुष्कर के नान्द में, नसीराबाद के भटियानी में, पीसांगन के डोडियाना में, टॉडगढ़ के बराखन में, किशनगढ़ के भामोलाव में, केकड़ी के सलारी में, मसूदा के दौलतपुरा द्वितीय में तथा भिनाय के सिंगावल में तथा गुरूवार 31 मई को अजमेर के रसूलपुरा, ब्यावर के नून्द्री महेन्द्रातान में तथा सरवाड़ के केबानिया के शिविर आयोजित होंगे।

राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर 16 मई को आयोजित होगी कार्यशाला
अजमेर, 15 मई। राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर पर बुधवार 16 मई को जवाहर रंगमंच के पास स्थित स्वास्थ्य संकुल में कार्यशाला का आयोजन दोपहर 12.30 बजे किया जाएगा।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के.सोनी ने बताया कि बुधवार 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर पर कार्यशाला आयोजित की जाएगी। कार्यशाला में डेंंगू की रोकथाम और नियतर््ांण के विषय में विशेषज्ञों के द्वारा जानकारी प्रदान की जाएगी। जन-समुदाय को साथ लेकर समस्त विभागों के साथ समन्वय स्थापित कर सोर्स रिडेक्शन एवं पर्यावरणीय प्रबंधन की शुरूआत के विषय में चर्चा की जाएगी। इसमें अजमेर शहर में संचालित शहरी डिस्पेसरीयों के चिकित्सा अधिकारी प्रभारी, एएनएम अथवा महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता एवंं क्षेत्र की 2 आशा सहयोगिनी द्वारा भाग लिया जाएगा।

औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर बुधवार को
अजमेर, 15 मई। जिला उद्योग केन्द्र द्वारा बुधवार 16 मई को प्रातः 10 बजे से सिलोरा पंचायत समिति सभागार में औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन किया जाएगा।
जिला उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक श्री सी.बी.नवल ने बताया कि पंचायत समिति सिलोरा में औद्योगिक विकास के लिए हेतु औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर का आयोजन किया जाएगा। इस शिविर में उद्योग स्थापना से जुड़े समस्त विभागों एवं उपक्रमों द्वारा सुविधाएं प्रदान की जाएगी। इनमें मुख्य रूप से उद्योग विभाग एमएसएमई विकास संस्थान जयपुर, राजस्थान वित्त निगम, रीको लिमिटेड, खादी बोर्ड, वाणिज्यिक बैंक, औद्योगिक संघ, औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान एवं पोलोटेक्नीक कॉलेज के अधिकारी सम्मिलित होंगे।
उन्होंने बताया कि शिविर में मौके पर ही उद्यमियों को अपेक्षित सहायता एवं सुविधा उपलब्ध करवायी जाएगी। इसमें एमएसएमई एक्ट-2006 के अन्तर्गत यूएएम की जानकारी, हस्तशिल्प परिचय पत्र, हस्तशिल्प बाजार सहायता योजना, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, भामाशाह रोजगार सृजन योजना के अन्तर्गत ऋण आवेदन पत्र तैयार कराने एवं ऑनलाईन आवेदन करने में सहायता कर विभागीय योजनाओं की जानकारी भी दी जायेगी। युवा उद्यमी, शिक्षित बेरोजगार एवं दस्तकार औद्योगिक प्रोत्साहन शिविर में भाग लेकर लाभान्वित हो सकते है। आशार्थी को अपने साथ भामाशाह कार्ड, आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, पासपोर्ट साईज फोटो, बैंक पासबुक की प्रति, अंकतालिका साथ लेकर आना होगा।

Leave a Comment