जाने और समझें–बेलपत्र का महत्व, उपयोग एवम लाभ..

हमारे धर्मशास्त्रों में ऐसे निर्देश दिए गए हैं, जिससे धर्म का पालन करते हुए पूरी तरह प्रकृति की रक्षा भी हो सके। यही वजह है कि देवी-देवताओं को अर्पित किए जाने वाले फूल और पत्र को तोड़ने से जुड़े कुछ नियम बनाए गए हैं। जानें पण्डित दयानन्द शास्त्री जी से भगवान शिव को बिल्वपत्र अर्पित … Read more

बसपा दलित-मुस्लिम वोट बैंक बनाने की कोशिश में

संजय सक्सेना,लखनऊ बसपा सुप्रीमों मायावती करीब 21 प्रतिशत दलित और 14 फीसदी मुसलमानों के सहारे अपनी सियासी तकदीर बदलने का सपना देख रही हैं। दलित वोटर तो उनके साथ है ही,मुसलमानों को अपना बनाने के लिए ‘बहनजी’ आरएसएस,बीजेपी और हिन्दुत्व की विचारधारा से जुड़े संगठनों और उनके नेताओं को खूब खरी-खोटी सुना रही हैं। इसी … Read more

क्या कहते हैं हमारे शरीर के तिल?

शरीर पर पाए जाने वाले तिलों के ज्योतिषीय फल जानने की हर व्यक्ति में जिज्ञासा रहती है। आज हम तिलों के महत्व व फल पर चर्चा करेंगे। महिलाओं के शरीर पर तिल ===================.. – महिला के बाईं तरफ मस्तक पर तिल हो तो वह किसी राजा की रानी बनती है। वर्तमान में तो कोई राजा … Read more

भूख – प्यास की क्लास ….!!

तारकेश कुमार ओझा क्या होता है जब हीन भावना से ग्रस्त और प्रतिकूल परिस्थितियों से पस्त कोई दीन – हीन ऐसा किशोर कॉलेज परिसर में दाखिल हो जाता है जिसने मेधावी होते हुए भी इस बात की उम्मीद छोड़ दी थी कि अपनी शिक्षा – दीक्षा को वह कभी कॉलेज के स्तर तक पहुंचा पाएगा। … Read more

बाबरी मस्जिद के विध्वंस से ठीक पांच माह पहले..

तत्कालीन प्रधानमंत्री नरसिम्हा राव ने कहा था.. मुझे मुसलमानों का तन और धन नहीं, मन चाहिए 27 साल पहले उनसे हुई एक मुलाकात की याद , अब सवाल उठा रही है जुलाई का महीना था। साल 1992। सर्वधर्म एकता समिति के अध्यक्ष मौहम्मद शाहिद खान ने 20 जुलाई से पूर्व कुछ प्रयास करके प्रधानमंत्री कार्यालय … Read more

स्वर्णिम भविष्य के स्वप्न दिखाती नयी शिक्षा नीति

बच्चे देश का भविष्य ही नहीं नींव भी होते हैं और नींव जितनी मजबूत होगी इमारत उतनी ही बुलंद होगी। इसी सोच के आधार पर नई शिक्षा नीति की रूप रेखा तैयार की गई है। अपनी इस नई शिक्षा नीति को लेकर मोदी सरकार एक बार फिर चर्चा में है। चूंकि भारत एक लोकतांत्रिक देश … Read more

जानिये चेतना की विभिन्न अवस्थाओं एवं स्तरों को

डा. जे. के. गर्ग साधारण तोर पर चेतना के तीन स्तर माने जाते है यथा चेतन ,अवचेतन और अचेतन स्तर | चेतन स्तर : चेतन स्तर पर वे सभी बातें रहती हैं जिनके द्वारा हम सोचते समझते और कार्य करते हैं । चेतना में ही मनुष्य का अहंभाव रहता है और यहीं विचारों का संगठन … Read more

हम रोज टूथपेस्ट कर रहे है या जहर?

*-विकास छाबड़ा @ रोशन भारत न्यूज-* मदनगंज-किशनगढ़। देश में कितने पढ़े लिखे बेवकूफ लोग है जो करीब 450 रूपए किलो का टूथपेस्ट दांतो पर रगड़ के थूक देते है। और फिर कहते है कि हम बड़े स्मार्ट है। हम कितना फालतू का खर्चा करते है। एक आदमी टूथपेस्ट व टूथब्रुश का प्रयोग अपनी उम्र के … Read more

जानिये चेतना की विभिन्न अवस्थाओं एवं स्तरों को

डा. जे. के. गर्ग साधारण तोर पर चेतना के तीन स्तर माने जाते है यथा चेतन ,अवचेतन और अचेतन स्तर | चेतन स्तर : चेतन स्तर पर वे सभी बातें रहती हैं जिनके द्वारा हम सोचते समझते और कार्य करते हैं । चेतना में ही मनुष्य का अहंभाव रहता है और यहीं विचारों का संगठन … Read more

कांवड़ियों को डीजे बजाने की छूट, होगी पुष्प वर्षा

-संजय सक्सेना, लखनऊ- उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बार कहा था कि जब हम किसी को सड़क पर नमाज पढ़ने से या फिर लाउडस्पीकर पर होने वाली आजन को नहीं रोक सकते हैं तो कांवड़ यात्रा के दौरान डीजे या माइक के प्रयोग पर प्रतिबंध कैसे लगाया जा सकता है। इस पर … Read more

विवाह की बढ़ती उम्र पर खामोशी क्यों…?

30-35 साल की युवक युवतियां बैठे है कुंवारे, फिर मौन क्यों हैं समाज के कर्ता-धर्ता *-विकास छाबड़ा @ रोशन भारत न्यूज़-* मदनगंज-किशनगढ़। कुंवारे बैठे लड़के लड़कियों की एक गंभीर समस्या आज कमोबेश सभी समाजों में उभर के सामने आ रही है। इसमें लिंगानुपात तो एक कारण है ही मगर समस्या अब इससे भी कहीं आगे … Read more