भांग-धतूरे को भगवान शिवजी पर क्यों चढ़ाया जाता है ?

गुरूवार 11 मार्च 2021 को विश्व में जहाँ जहाँ सनातनधर्मी हिन्दू और शिव भक्त निवास करते हैं वहां महाशिवरात्रि का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है | आईये जाने भोले नाथ के बारे में कुछ जानकारीयां आक,धतूरा, भांग आदि शिव को चढ़ाने की जो परिपाटी है, उसके पीछे यही तथ्य छिपा है कि … Read more

शिवजी केवल म्रगछाल ही क्यों धारण करते हैं ?

गुरूवार 11 मार्च 2021 को विश्व में जहाँ जहाँ सनातनधर्मी हिन्दू और शिव भक्त निवास करते हैं वहां महाशिवरात्रि का पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है | आईये जाने भोले नाथ के बारे में कुछ जानकारीयां निसंदेह समाज में वो ही व्यक्ति वंदनीय होता हैं जो अपरिग्रही हो जिसके जीवन संसार में शांति … Read more

फूफाजी की जगह फाफूश्री

आजकल देश में “सबका साथ-सबका विकास” योजना के अन्तर्गत जगह जगह शहरों, संस्थानों यहां तक कि स्टेडियम तक के नाम भी बदले जा रहे है तो उसी कडी में एक प्रस्ताव यह भी आया है कि रिश्ते-नातों में महत्वपूर्ण रिश्ते फूफा का भी अब नाम परिवर्तन कर फाफू या फाफूश्री रख दिया जाय. श्री शब्द … Read more

जी-23 की बगावत से कमजोर होती कांग्रेस

कांग्रेस की राजनीति की सोच एवं संस्कृति सिद्धान्तों, आदर्शों और निस्वार्थ को ताक पर रखकर सिर्फ सत्ता, पु़त्र-मोह, राजनीतिक स्वार्थ, परिवारवाद एवं सम्पदा के पीछे दौड़ी, इसलिये आज वह हर प्रतिस्पर्धा में पिछड़ती जा रही है। कांग्रेस आज उस मोड़ पर खड़ी है जहां एक समस्या समाप्त नहीं होती, उससे पहले अनेक समस्याएं एक साथ … Read more

मानसिक शक्ति

किसी की मदद के लिए बढ़े हाथ कितने उपयोगी होते है इसका एक उदाहरण मुझे पढऩे का अवसर प्राप्त हुआ। एक अमीर शक्स के निवास के बाहर एक बूढ़ा गरीब वृद्ध भरी सर्दी में कम वस्त्र पहने ठंड से ठिठुरता हुआ बैठा था। अमीर शक्स जब घर में प्रवेश कर रहा था तो यकायक ही … Read more

‘समय‘ आने पर बीजेपी देगी राहुल के विवादित बयान को धार

लखनऊ। राजनीति में टाइमिंग का बेहद महत्व होता है। कब कहां क्या बोलना है और कब किसी मुद्दे या विषय पर चुप्पी साध लेना बेहतर रहता है। इस बात का अहसास नेताओं को भली प्रकार से होता है,जो नेता यह बात जितने सलीके से समझ लेता है,वह सियासत की दुनिया में उतना सफल रहता है। … Read more

आंखों के रोग और ज्योतिष

ज्योतिष के अनुसार ग्रह की किसी विशेष भाव में उपस्थिति, युति या उसका बल व्यक्ति में किसी न किसी प्रकार की शारीरिक, मानसिक व्याधि को जन्म देता है। 👉मानव शरीर में आँखें सबसे कीमती और जरूरी अंग है। यह संसार चक्र देखने एवं इसमें आसानी से जीवन यापन करने के लिए आँखों का होना अति … Read more

4 पैसे क्यों ज़रूरी है ?

बचपन में बुजुर्गों से एक कहानी सुनते थे कि… इंसान 4 पैसे कमाने के लिए मेहनत करता है या… बेटा कुछ काम करोगे तो 4 पैसे घर में आएँगे या… आज चार पैसे होते तो कोई ऐसे ना बोलता, आदि-आदि ऐसी बहुत सी बातें हम अक्सर सुनते थे। आख़िर क्यों चाहिए ये चार पैसे और … Read more

“संताचरण”

एक बार राष्ट्रीय एकता के तहत सरकार ने सर्वधर्म हितार्थ हेतु सभी धर्मों के प्रतिष्ठित धर्मावलंबियों व प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया । सरकारी खर्च पर राजधानी के पाँच सितारा होटलों में ठहराया। दैनिक यात्रा व भ्रमण हेतु ए.सी. कार की सुविधाएँ उपलब्ध कराईं। आपसी मंथन हेतु सर्वसुविधायुक्त पांडाल में विशाल मंच बनाया। सबको बोलने का … Read more

नये भारत के लिये नया इंसान कौन बनायेगा?

अणुव्रत-मिशन“ की 72 वर्षों की एक ‘युग यात्रा’ नैतिक प्रतिष्ठा का एक अभियान है। परिवर्तन जीवन का शाश्वत नियम है, प्रगति एवं विकास का यह सशक्त माध्यम है। जीवन का यही आनन्द है, यह जीवन की प्रक्रिया है, नहीं तो जीवन, जीवन नहीं है। टूटना और बनना परिवर्तन की चैखट पर शुरू हो जाता है। … Read more

कांग्रेस की मुश्किलों का नया मायाजाल

-निरंजन परिहार कांग्रेस की राजनीति उबाल पर है। राहुल गांधी की मुश्किलें बढ़नेवाली हैं। र भले ही वे दक्षिण के समंदर में डुबकी लगाकर बाहर निकल आए हैं। लेकिन उत्तर के जम्मू से आ रहे नए संदेश से उबरना आसान नहीं है। वो जो, 23 नेता थे, जिन्होंने पिछले साल चिट्ठी लिखी तो राहुल को … Read more

error: Content is protected !!