मजदूर और मेहनतकश कौम के प्रतीक थे कृष्ण गोपाल गुप्ता (गोपाल भैय्या)

30वीं पुण्य तिथि पर विशेष। ========== मेरे पिता कृष्ण गोपाल जी गुप्ता की 3 मार्च 2021 को 30वीं पुण्य तिथि है। अजमेर और राजस्थान की पुरानी पीढ़ी के लोग उन्हें गोपाल भैय्या के नाम से जानते थे। गोपाल भैय्या का जीवन भले ही कुल 60 वर्ष का रहा हो, लेकिन कम समय में भी उन्होंने … Read more

बड़ी शिद्दत से आशा की थी किशनगढ़ ने, मगर कम्बख्तों ने सजदा ही नहीं किया*

बिरदीचन्द मालाकार मैं कल का कृष्णगढ़ और आज का किशनगढ़ हूँ। और कहने को तो मैं आज पूरे 410 बरस का हो गया हूँ और लोग कहते हैं कि मेरा अतीत बहुत गौरवशाली रहा है और मेरे शासकों ने मुझे अपने खून पसीने से सींचकर लगातार मेरा मान बढाया था जिससे मैं आज भी पूरी … Read more

क्या ब्रिजलता हाडा अपने जेठ स्वर्गीय राजेन्द्र हाडा का स्मार्ट सिटी का सपना साकार करेंगी?

अब जब कि अजमेर नगर निगम के मेयर पद पर भाजपा की ब्रिजलता हाडा काबिज हो गई हैं, तो यकायक उनके जेठ स्वर्गीय वकील श्री राजेन्द्र हाडा बाबत लिखे एक आलेख का स्मरण हो आया। अजमेर को स्मार्ट सिटी बनाने को लेकर उन्होंने एक सपना देखा था। मगर धरातल पर स्मार्ट सिटी का कामकाज बहुत … Read more

अजमेर जिले के लोग तय कर लें तो राजस्थान का अगला मुख्यमंत्री भी अजमेर से हो सकता है

– इसके लिए बडी चेतना की जरूरत है, मुझे तो लगता है कि पूरे अजमेर की जनता को मेरे इस विचार पर काम करना चाहिए जब मैं नाम सुनता हूं, राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री स्वर्गीय मोहन लाल सुखाडिया जी का। जब मैं नाम सुनता हूं भैरोसिंहजी शेखावत का। जब मैं नाम सुनता हूं वसुंधरा राजे … Read more

किशनगढ में परिषद चुनाव 2021: किस्सा सभापति की कुर्सी का

*क्या लिखूं..बीच उनके दिल जुडने का सिलसिला कैसे हुआ….* *जो रंग -ऐ- दुश्मन थे आपस में कभी.. मिले है अब हमसफर की तरह…* *जी हां !* ठीक समझा आपने..सत्यनारायण की कथा की तरह शहर में इन दिनों सभापति की कुर्सी की कथा विधायक सुरेश टाक के नाम से लोगों की जुबान पर शुरु होती है। … Read more

आपणो अजमेर !

अजमेर की अपनी खूबियां हैं. किसी प्रसिद्ध व्यक्ति ने यहां का दौरा करके बताया कि यहां ज्यादातर कर्मचारी वर्ग हैं. उनमें से कुछ टायर्ड है तो कुछ रिटायर्ड. उसका कहना था कि जब रिटायर्ड ही कुछ नही कर पा रहे है तो टायर्ड क्या करते होंगे, यह सोचने की बात हैं ? यह भी अजमेर … Read more

याद रहेगा ये दौर ए–हयात हमको, क्या खूब तरसे हैं सभी ‘कुर्सी’ के लिए..!!*

*किशनगढ।शहर में राजनीति के तंग गलियारे अब सडांध मारने लगे हैं।आम जन हैरान है..’कुर्सी’ की रस्सा कस्सी को देखते।चींटी के उग आये पर की तरह अभी हाल ही में चुने गये राजनीति के परिन्दे भी फडफडाने लगे हैं।* *सभापति की कुर्सी के दिवानों ने शहर की राजनीति को गरमा दिया है।आज खुले तौर पर सभापति … Read more

गुटबाजी, कारसेवा व मिस मैनेजमेंट की वजह से हारी भाजपा

केकड़ी_राजस्थान* / केकड़ी नगरपालिका चुनाव में भाजपा की आत्मघाती हार की समीक्षा भले ही पार्टी स्तर पर हो रही हो या ना, मगर शहर में जिधर देखो उधर ही लोग भाजपा की हार की समीक्षा कर रहे हैं। केकड़ी शहर जो कि भाजपा का गढ़ माना जाता है वहां भाजपा का चुनाव हारना लोगों को … Read more

गजब का जूनून बना उनकी पहचान

बंद घड़ी और पुरानी किताब कोई अपने घर पर नहीं रखना चाहते हैं। कहते है ,अशुभ होता है,परंतु ऐसे इंसान को आप क्या कहेंगे ,जो एक -दो नहीं,दस -बीस नहीं, सैकड़ों बंदपड़ी घड़ियों और पुरानी किताबों को पिछले पचास साल से संभाल कर सहेज रहे हैं ,अपने घर में । पिछली शताब्दी में 19वीं और … Read more

अजमेर और गिनती

कहते है कि अजमेर में गिनती का बहुत महत्व है. मसलन, यहां के पुष्कर तीर्थ में विश्व का एक मात्र ब्रह्माजी का मंदिर है. इसमें कोई दो राय नही है कि यहां दोराई नामक गांव भी है जहां चारभुजा नाथ का प्रसिध्द मंदिर है जहां प्रतिवर्ष भादवा की पूनम को मेला लगता है. आजकल इस … Read more

नगर निकाय चुनाव में भी रहेगा पलाड़ा का दखल?

युवा नेता व समाजसेवी भंवर सिंह पलाड़ा ने कांग्रेस के सहयोग से जिस प्रकार भाजपा को पटखनी खिला कर अपनी धर्मपत्नी श्रीमती सुशील कंवर पलाड़ा को जिला प्रमुख बनवा लिया, उसे देखते हुए राजनीतिक हलकों में यह सवाल कुलबुला रहा है कि क्या वे अपने बढ़ते वर्चस्व का दायरा बढ़ाते हुए अजमेर, किशनगढ़ व केकड़ी … Read more

error: Content is protected !!