क्या अपने ही जाल में फंस गई है भाजपा सरकार?

लोकसभा में स्पष्ट बहुमत और राज्यसभा में जुगाड़ करके भाजपा ने पहले धारा 370 को हटाने जैसा ऐतिहासिक कदम उठाया और फिर चंद दिन बाद ही सीएबी भी पारित करवा लिया। यह भाजपा की अपने एजेंडे को लागू करने की सफलता ही कही जाएगी। इस पर वह अपनी पीठ थपथपा सकती है, मगर जिस प्रकार … Read more

उन्नाव पीड़िता को भी मिले हैदराबाद पीड़िता जैसा ‘इंसाफ’

-संजय सक्सेना, लखनऊ- लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था और महिला उत्पीड़न की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही है,कहीं कोई गैंगरेप पीड़िता इंसाफ नहीं मिल पाने के कारण इच्छा मृत्यु मांग रही है तो कहीं पुलिस सहायता केन्द्र में रेप पीड़िता के साथ बलात्कार की घटना को अंजाम देकर रक्षक ही भक्षक बन गए हैं। … Read more

हैवानों के साथ, दोषी पुलिस वालोें को भी फांसी हो

-संजय सक्सेना, लखनऊ- ऐसा लगता है कि एक हिन्दुस्तान में दो समाज बसते हैं। एक वह है जो नारी को देवी के रूप में पूजता है। उसके सम्मान, उत्थान, बराबरी के अधिकार,‘बेटी बचाओं-बेटी पढ़ाओ’ आदि के माध्यम से समाज में जागरूकता पैदा करता है तो दूसरा समाज 21 सदी में भी नारी को घर की … Read more

भगत सिंह की फांसी से धारा 370 तक, नेहरू पर फैलाए गए ये 10 झूठ

जवाहर लाल नेहरू की आज 130वीं जयंती है, इस अवसर पर देश के कई हिस्सों में कार्यक्रम हो रहे हैं. पंडित नेहरू के योगदान को देश-दुनिया भूल नहीं पाती, लेकिन इसके साथ ही उनके बारे में कई तरह के मिथक, कई तरह की गलत धारणाएं भी प्रचलित हैं. हमारे पहले प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू … Read more

सब सरकारें मिलकर क्यों नहीं निपटती प्रदूषण से

आखिरी सुप्रीम कोर्ट ने वही बात कही, जिसे हर व्यक्ति समझ रहा था । सुप्रीम कोर्ट का यह कहना कि दिल्ली में प्रदूषण रोकने के लिए सरकारें काम नहीं कर रही, बल्कि एक-दूसरे पर आरोप लगा रही है ऐसी कड़वी सच्चाई है,जिससे हर आदमी जानता और समझता है । सवाल ये है कि जब सभी … Read more

सरकारी खाद्यान्नों पर डाका व करोड़ों का गबन चिन्तनीय

आवश्यकता है सख्त नियम-कानून और उसके पालन की आम गरीब पात्रों को मिलने वाले खाद्यान्न का उपयोग जिस कदर प्रभावशाली व धनबली लोगों द्वारा किया जा रहा है, इसको देख-सुनकर ही महसूस किया जा सकता है कि यह खाद्यान्न कितना पौष्टिक और स्वास्थ्यवर्द्धक है। गरीब किसानों, अन्नदाताओं के खून-पसीना की कमाई के फलस्वरूप उपजे अन्न … Read more

अपने अपने ग़ांधी-1

*तमाशे के गांधी* चारों ओर गांधी का नाम इन दिनों ऐसे गुंजाया जा रहा है जैसे कभी तमाशे दिखाने वाले सड़क-चौबारों पर डमरू बजाकर अपने खेल दिखाया करते थे। एक पाँव से साईकल चलाकर, आग में से निकलकर, चाकू घौंपकर, अजीबो गरीब हरकतों से खाली कटोरा भर मन ही मन मुदित होते थे। उसी तरह … Read more

पुष्कर नगर पालिका के चुनाव पर प्रारंभिक चर्चा

अजमेरनामा यू ट्यूब चैनल पर पुष्कर नगर पालिका के आसन्न चुनाव पर प्रारंभिक चर्चा की गई। इसमें वरिष्ठ पत्रकार गिरधर तेजवानी, वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र याज्ञिक व अजमेर की मशाल पाक्षिक समाचार पत्र की संपादक डा. रशिका महर्षि ने भाग लिया। ज्ञात्व्य है कि पुष्कर नगर पालिका के अध्यक्ष किस वर्ग के होंगे, इसकी लॉटरी आगामी … Read more

हाय महंगाई, तुझे मौत क्यूँ न आई……….

मर्ज मारने के बजाय मरीज मारो और गरीबी हटाने के बजाय गरीब हटाओ………रोटी उलटने के बजाय तवा ही उलट दो…………….यह सब सूत्र-वाक्य सरकार को बतान की जरूरत नहीं है अपितु इसी को मूलमंत्र मानकर देश की सरकारें चल रही हैं। आम जन से किया गया उनका वादा सर्वथा मिथ्या। वास्तविकता कहीं दूर-दूर तक भी दृष्टिगोचर … Read more

केवल जन आन्दोलन से प्लास्टिक मुक्ति अधूरी कोशिश होगी

वैसे तो विज्ञान के सहारे मनुष्य ने पाषाण युग से लेकर आज तक मानव जीवन सरल और सुगम करने के लिए एक बहुत लंबा सफर तय किया है। इस दौरान उसने एक से एक वो उपलब्धियाँ हासिल कीं जो अस्तित्व में आने से पहले केवल कल्पना लगती थीं फिर चाहे वो बिजली से चलने वाला … Read more

मैगसेसे मंच से रविश कुमार ने खूब उगला जहर

हिन्दी पत्रकारों,मोदी सरकार,मिशन चन्द्रयान सबकी उड़ाई खिल्ली संजय सक्सेना,लखनऊ ndtv इंडिया और उसके मैनेजिंग एडिटर रवीश कुमार एशिया के लिए यह बात फक्र की हो सकती है कि उन्हंे (रविश कुमार) कुछ लोगों द्वारा एशिया का नोबेल समझे जाने वाले रैमॉन मैगसेसे पुरस्कार से नवाजा गया है। जबकि ऐसे लोगों की भी कमी नहीं है … Read more

error: Content is protected !!