सिलिकोसिस पीड़ित के परिवार हो योजनाओं से लाभान्वित

अजमेर, 08 सितम्बर। जिला कलक्टर आरती डोगरा ने शनिवार को सिलिकोसिस पीड़ित के परिवार के अधिकतम योजनाओं से लाभान्वित करने के निर्देश प्रदान किए।
जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में सिलिकोसिस पीड़ितों को लाभान्वित करने की योजना आरम्भ होने से अब तक सिलिकोसिस पीड़ित व्यक्तियों के परिवारों का सर्वे करवाया जाएगा। यह सर्वे संबंधित ग्राम सेवक के द्वारा चार दिनों में पूरा कर लिया जाएगा। सर्वे का दायरा विस्तृत रखा जाएगा। पीड़ित के परिवार को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जोड़ा जाए। इसमें जोड़ने के लिए आवेदन पत्र की अतिरिक्त जांच की आवश्यकता नहीं है। आवेदन के साथ सिलिकोसिस का प्रमाण पत्र लगाना ही पर्याप्त होता है। पीड़ित की मृत्यु होने के पश्चात पीड़ित की पत्नी को विधवा पेंशन तथा बच्चों को पालनहार योजना से लाभान्वित किया जाना सुनिश्चित होना चाहिए।

उन्होंने कहा कि सिलिकोसिस पीड़ित के बच्चों को आंगनबाड़ी अथवा शैक्षिक संस्थाओं में अध्ययनरत करवाने के लिए प्रयास किए जाए। बच्चे बड़े होने की स्थिति में उनको कौशल प्रशिक्षण से जोड़ा जाए। साथ ही उनका प्लेसमेंट भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए। इनसे सबके सिलिकोसिस पीड़ित के परिवार की अगली पीढ़ी खनन के दुष्प्रभावों से बच सकेगी। इनके जिविकोपार्जन का खनन के अतिरिक्त साथ प्राप्त होगा। परिवार के पालतु पशुओं का बीमा तथा कृषि भूमि होने पर कृषि एवं उद्यान विभाग की योजनाओं से जोड़ा जाएगा।

उन्होंने कहा कि टाटा ट्रस्ट के स्थानीय प्रतिनिधियों के द्वारा आर्थिक एवं रोजगारपरक गतिविधियों से जोड़ा जाएगा। इसके लिए इनके स्वयं सहायता समूह बनाए जाएंगे।

इस अवसर पर प्रशिक्षु आईएएस तेजस्वी राना, जिला परिषद अधिकारी श्री संजय माथुर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. के.के.सोनी, क्षय विभाग के आयुक्त श्री अनुपम गोड़, टाटा ट्रस्ट के श्री आशीष गौतम एवं ऋषि बनर्जी उपस्थित थे।

Leave a Comment