विधिक सारक्षता शिविर आयोजित

ब्यावर,10 जनवरी। तालुका विधिक सेवा समिति ब्यावर के तत्वावधान में गुरूवार को राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय छावनी ब्यावर में एक विधिक सारक्षता शिविर का आयोजन किया गया।
सचिव तालुका विधिक सेवा समिति ब्यावर के अनुसार अति. मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट श्रीमती ममता सैनी ने छात्राओं को सम्बोधित करते हुए समाज में बालिका शिक्षा एवं महिला सशक्तिकरण पर बल देते हुए घरेलु हिंसा, कन्या भू्रण हत्या रोकथाम तथा दहेज संबंधी कानूनों की जानकारी दी।
न्यायिक मजिस्ट्रेट सं.1, ब्यावर सुश्री श्वेता परमार ने छात्राओं को उनके संवैधानिक अधिकारों के बारे में जानकारी दी। छात्राओं को बाल विवाह से होने वाले दुष्परिणामों से अवगत कराया साथ ही महिलाओं के हितार्थ चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं एवं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रम विधिक सहायता, पीड़ित प्रतिकर स्कीम तथा मध्यस्थता एवं लोक अदालत के बारे में विस्तृत जानकारी दी।–00–
द्वितीय शनिवार को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन
ब्यावर, 10 जनवरी। तालुका विधिक सेवा समिति, ब्यावर द्वारा मुख्यालय पर स्थित सभी न्यायिक न्यायालयों में 12 जनवरी द्वितीय शनिवार को पंचम राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा।
तालुका विधिक सेवा समिति अध्यक्ष एवं अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश सं.1, डॉ. चेतना ने बताया कि उक्त राष्ट्रीय लोक अदालत में दीवानी, राजीनामा योग्य फौजदारी, 138 एन.आई.एक्ट, मोटर वाहन दुर्घटना दावा अधिनियम तथा बैकों के लेने देन आदि प्रकरण लोक अदालत की भावना से निस्तारित किए जाएंगे। लोक अदालत के पूर्व प्री-काउंसलिंग के माध्यम से पक्षकारों में समझाईश करवाकर प्रकरणों का निस्तारण किया जाएगा। अतः जिन पक्षकारों के राजीनामा योग्य प्रकरण न्यायालयों में लंबित है, वे अपने प्रकरण संबंधित न्यायालय में उपस्थित होकर लोक अदालत की भावना से निस्तारित करवा सकते है।
तालुका विधिक सेवा समिति, ब्यावर आमजन व अधिवक्तागण से अपील करती है कि अधिक से अधिक प्रकरणों को राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामा के माध्यम से निस्तारित करवाकर राष्ट्रीय लोक अदालत को सफल बनाने में अपना सहयोग प्रदान करें। राजीनामा के माध्यम से प्रकरण निस्तारित करवाने से समय व धन की बचत होगी तथा लंबित प्रकरणों का अंतिम रूप से निस्तारण हो सकेंगा। –00–

Leave a Comment