भारत सोने का टाइगर है : संत गोपालराम

रामद्वारा में हुआ कृष्ण जन्म, बधाई गीतों पर झूमे भक्त
ब्यावर, 11 जून। रामद्वारा में आयोजित श्रीमद भागवत कथा में संत गोपालराम रामस्नेही ने कहा कि प्राचीन समय में भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था। अब भारत चिड़िया नहीं, सोने का टाइगर है।
संत ने कहा कि पहले अहिंसा हमारा परम धर्म था। हम शांतिप्रिय थे। अब भारत अहिंसा वाला देश नहीं रहा है। अब तो अगर कोई आतंकी हिंसा फैलाएगा तो हम सर्जिकल स्ट्राइक कर दुश्मन को घर में घुसकर मारेंगे। महाराज ने संदेश दिया कि किसी भी तरह का अपराध नहीं करें। जीवन को सदकार्यों में लगाएं। चतुर्थ दिवस कथा में वामन अवतार, राम अवतार व कृष्ण जन्म प्रसंग सुनाया गया। इस मौके पर धूमधाम से नंद उत्सव मनाया गया। भक्तों को बधाईयां बांटी गई। विष्णु चतुर्वेदी ने चारों ललवा प्रगट भये आज, अवध में लडुआ बंटे.., यशोदा के हुयो देखो लाल.. जैसे बधाई गीतों की प्रस्तुति दी तो भक्त झूम उठे। गर्व सोलंकी ने बालकृष्ण, रमेशचंद्र ने वासुदेव, मनीष ने नंदबाबा व सीमा अग्रवाल ने यशोदा का रूप धरकर पौराणिक प्रसंग को साकार किया। मंच संचालन सुमित सारस्वत ने किया। सुनील सिंहल, राजेश मुरारका, अमित बंसल, अनुपम रुणीवाल, सुनील जिंदल, जेपी शर्मा, निखिल जिंदल, राजेश रांका ने शॉल ओढ़ाकर संत का स्वागत किया। कथा में अजय अग्रवाल, सीता देवी, रानी, सुनीता सिंहल, अंजू गर्ग, रेखा शर्मा, नीलम बंसल, निधि, मोनिका, प्रियंका सहित बड़ी संख्या में श्रोताओं ने भाग लिया। मीडिया प्रभारी सुमित सारस्वत ने बताया कि बुधवार को माखन चोरी, छप्पन भोग व गोवर्धन लीला प्रसंग का गुणानुवाद होगा।

Leave a Comment

error: Content is protected !!