ऐसी दीवानगी देखी नहीं कभी

चिकित्सा मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा की दीवानगी इस कदर थी की सात साल बाद कटाये अपने बाल और दाढ़ी खवास निवासी गोपीचंद खींची ने आज कराया मुंडन

खूबसूरत सा एक पल किस्सा बन जाता है,
जाने कब कौन ज़िंदगी का हिस्सा बन जाता है,
कुच्छ लोग ज़िंदगी में मिलते है ऐसे,
जिनसे कभी ना टूटनेवाला रिश्ता बन जाता है…

कहते हे की जब किसी से मोहब्बत हो जाये तो उसकी दीवानगी इस कदर हावी हो जाती हे की प्यार में प्रेमी कुछ भी कर गुजरने को तैयार रहता हे l लेकिन. ऐसी दास्ताने अधिकतर लड़का और लड़की के प्रेम सम्भंधों के बिच सुनी और देखीं गई हे l लेकिन एक ऐसा व्यक्ति जिसके सर पर किसी लड़की की मोहब्बत सर चढ़ कर नहीं बोली बल्कि अपने प्रिय नेता की दीवानगी इस कदर हावी हुई की उसने अपने नेता के मंत्री बनने तक दाढ़ी बॉल और चप्पल नहीं पहनने का संकल्प लिया l यह हकीकत दास्ताँ हे खवास ग्राम के एक कोंग्रेसी नेता गोपीचंद खींची की l गोपी चंद खींची चिकित्सा मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा का दीवाना हे उनकी कार्यशैली और विकास की बयार को देखकर गोपीचंद इस कदर दीवाना हो गया की अपने नेता के लिए कुछ भी कर गुजरने को तैयार था l यह बात उस समय की हे जब डॉक्टर रघु शर्मा ने केकड़ी क्षेत्र से दूसरी बार चुनाव लड़ा और उस चुनाव में भाजपा के शत्रु गन गौतम के सामने बहुत ही कम अंतर से चुनाव हार गए l उस वक्त रघु शर्मा ने जो केकड़ी क्षेत्र में विकास कार्य कराये वो आज भी मुँह बोलते हे l रिकॉर्ड तोड़ विकास कार्य के बावजूद चुनाव में उनकी हार से कांग्रेस नेता गोपीचंद खींची काफ़ी आहत हुए l *और उसी वक्त उन्होंने संकल्प लिया की जब तक डॉक्टर रघु शर्मा चुनाव जीतकर मंत्री नहीं बन जाते तब तक वह ना तो अपने बाल कटायेंगे ना दाढ़ी बनाएंगे और ना ही अपने पेरो में चप्पल पहनेंगे **
और तब से लेकर आज तक गोपीचंद खींची कई विषम परिस्थितियों से गुजरे भरी गर्मी में बिना चप्पल के सात साल बिता दिए पेरो में छाले तक सहे बालो में गुथिया तक बंध गई दाढ़ी काफी लम्बी हो गई l अपने नेता की दीवानगी में क्या से क्या हो गए लेकिन अपने संकल्प से डगमगाए नहीं l और उनका संकल्प पूरा होने के बाद आज ग्रामीणों की मौजूदगी में गोपीचंद खवास ग्राम में स्थित माताजी के मंदिर में अपना मुंडन करवाया और पेरो में चप्पल धारण की l हलाकि इस बात से खुद चिकित्सा मंत्री डॉक्टर रघु शर्मा और उप मुख्य मंत्री सचिन पायलेट भी वाकिफ हे l और यह मुंडन संस्कार बड़े आयोजन के साथ संपन्न होना था l लेकिन कांग्रेस नेता गोपीचन्द खींची द्वारा काफी लम्बा समय बिताने के बाद उनकी उनकी मानसिक स्थिति कुछ बिगड़ने लगी थी l तभी ग्रामीणों ने तुरंत इस आयोजन को माताजी के दरबार में करा दिया l आज गोपीचंद अपना नया रूप देखकर काफी खुश नजर आया तो कई कोंग्रेसियो ने गोपी चंद को बधाई भी दी l कार्यकर्ताओ की अपने नेता के प्रति ऐसी दीवानगी को देखकर उनके नेता की छवि में भी चार चाँद लगे हे l फ़िलहाल ईशवर से यही प्रार्थना हे की रघु शर्मा के दीवाने गोपीचंद की दीवानगी कायम रहे और उनकी मानसिक स्थिति में सुधार हो l

सिकंदर अली
पत्रकार इंडिया न्यूज़ राजस्थान
9680888690

Leave a Comment

error: Content is protected !!