साईंस पार्क के निर्माण को अटकाया कांग्रेस सरकार ने – देवनानी

– केन्द्र सरकार ने अजमेर को दी थी साईंस पार्क की सौगात
– शिलान्यास के स़त्रह माह बाद भी शुरू नहीं हुआ निर्माण कार्य
– देवनानी ने विधानसभा में उठाया मामला

प्रो. वासुदेव देवनानी
अजमेर, 26 फरवरी।
पूर्व शिक्षा मंत्री एवं अजमेर उत्तर विधायक वासुदेव देवनानी ने अजमेर के विकास कार्य को लेकर कांग्रेस सरकार पर अनदेखी करने का आरोप लगाया है। देवनानी ने कहा कि सरकार राजनीति द्वैषता के चलते अजमेर जिले के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। साईंस पार्क के शिलान्यास के सत्रह माह बाद भी निर्माण कार्य शुरू नहीं होना इसका जीता जागता उदाहरण है।
देवनानी ने सोमवार को विधान सभा में नियम 295 के अन्तर्गत मामला उठाते हुए कहा कि भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा अजमेर मंे साईन्स पार्क (उप क्षेत्रीय विज्ञान केन्द्र अजमेर) के निर्माण की स्वीकृति जारी की गई थी जिसका विधिवत शिलान्यास दिनांक 9 सितम्बर, 2018 को किया गया था, परन्तु अत्यन्त खेदजनक स्थिति है कि 17 माह के लम्बे समय के बाद भी विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा आज दिनांक द्वारा इसका निर्माण कार्य प्रारम्भ नहीं कराया जा सका है।
उक्त प्रोजेक्ट हेतु कुल स्वीकृत राशि 15.20 करोड है जिसमें केन्द्र व राज्य सरकार का 50-50 प्रतिशत अंशदान निर्धारित है। राज्य सरकार द्वारा 50 प्रतिशत राशि का अंशदान उपलब्ध नहीं कराये जाने से इस महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट का काम प्रारम्भ नहीं हो पा रहा है जबकि भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय द्वारा जारी दिशानिर्देशों के अनुसार 27 माह की अवधि में कार्य पूर्ण करना है।
उक्त साईन्स पार्क विज्ञान के विद्यार्थियों व शोधार्थियों के साथ ही अजमेरवासियों व पर्यटकों के लिए भी अत्यन्त ज्ञानवर्धक व उपयोगी सिद्ध होगा। राज्य सरकार द्वारा कुछ माह पूर्व उक्त प्रोजेक्ट हेतु अपने अंशदान की 50 प्रतिशत राशि अजमेर स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अन्तर्गत देने के सम्बंध में निर्णय किया गया था, परन्तु अभी तक निर्धारित राशि विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग को स्थानान्तरण नहीं किये जाने से निर्माण कार्य प्रारम्भ नहीं हो पाया है जो कि राज्य सरकार की मंशा पर भी प्रश्नचिन्ह उत्पन्न करता है।

1 वर्ष में अजमेर के 11930 मरीजों को मिला भामाशाह योजना में निःशुल्क ईलाज – देवनानी
– देवनानी द्वारा पूछे गये प्रश्न के जवाब में बताया सरकार ने
– अजमेर के 13 निजी चिकित्सालय है अधिकृत

अजमेर, 26 फरवरी।
पूर्व शिक्षा राज्य मंत्री एवं विधायक अजमेर उत्तर वासुदेव देवनानी ने बताया कि गत एक वर्ष में अजमेर शहर के निजी चिकित्सालयों में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 11930 मरीजों को निःशुल्क ईलाज का लाभ मिला है।
देवनानी ने बताया कि इस योजना में निःशुल्क ईलाज उपलब्ध कराने वाले अजमेर के निजी चिकित्सालयों के बारे में उन्होने विधान सभा में एक प्रश्न पूछा था। सरकार ने बताया कि एक सितम्बर 2018 से 31 अगस्त 2019 तक अजमेर शहर में स्थित 13 अधिकृत निजी चिकित्सालयों में 11930 मरीजों का निःशुल्क ईलाज किया गया जिसके लिए सरकार द्वारा 1265 लाख की राशि का भुगतान इन अस्पतालों को किया गया है।
ये अस्पताल है अधिकृत
अजमेर शहर में स्थित दीपमाला पगारानी हाॅस्पीटल, श्री राणा हाॅस्पीटल, क्षेत्रपाल हाॅस्पीटल, मित्तल हाॅस्पीटल, डाॅ विजय ईएनटी हाॅस्पीटल, सैन्ट फ्रान्सीस हाॅस्पीटल, गोयल कान नाक गला हाॅस्पीटल, अजमेर ईएनटी हाॅस्पीटल, मायाणी हाॅस्पीटल, मेवाड़ हाॅस्पीटल, डाॅ नन्दलाल हाॅस्पीटल, चण्डक आई हाॅस्पीटल, पुष्पा चण्डक मेमोरियल मल्टीस्पेशलिटी हाॅस्पीटल में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना में निःशुल्क ईलाज की सुविधा उपलब्ध है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!