सुर सरगम के तत्वाधान में संगीतमयी श्रद्वाजली

अजमेर 13 अक्टूबर 2021 – सुर सरगम के तत्वाधान में महान पाश्व गायक स्व. किशोर कुमार की 34वी पुण्य तिथि पर संगीत सध्यां श्किशोर कुमार कल भी- आज भीश् में संगीतमयी श्रद्वाजली 13.10.2021 को द रॉयल मिलांज होटल में दी गई। सुर सरगम संस्था गत 30 वर्षो से महान गायको के प्रोग्राम आयोजित कर रही है।
इस संगीत संध्या में अजमेर के संगीत प्रेमीयों द्वारा श्रदेय किशोर दा के गीतो की प्रस्तुतियां देकर श्रोताओ को मत्रमुग्ध किया। श्री हेमन्त भाटी, मुख्य अतिथि एव श्री रजनीश चारण, विशिष्ठ अतिथि द्वारा दीप प्रज्जवलीत कर प्रारम्भ किया। कलाकारो ने सरस्वती वंदना गाकर प्रोगाम प्रारम्भ किया

गीत
गाता रहे मेरा दिल गायक श्री सी.पी.निर्वाण एव श्रीमति निर्वाण
आपके अनुरोध पे श्री दीनेश खोरवाल
ओ मेरी ओ मेरी शर्मीली
सारा जमाना हसीनो का दिवाना श्री सुब्रतो दत्ता
श्री कृष्ण गोपाल पाराशर

हमे और जीने की चाहत श्रीमती मोरीन टांक
रात कली इक ख्वाब श्री हेमन्त भाटी, मुख्य अतिथि
प्यार मांगा है तुम्ही से श्री प्रदीप गुप्ता
पल पल दिल के पास श्री विजयन्त कुमार शर्मा
मेरे महबूब कयामत होगी डॉ अजीत सिहं
मेरा जीवन कोरा कागज श्री देवी सिहं रावत
पल भर के लिए कोई हमे प्यार श्री हरीश शर्मा
जीवन के दिन छोटे सही श्री ललित जी
मेरे नयना सावन भादो श्री शैलेन्द्र जॉन
प्यार दिवाना होता है श्री मयंक भारद्वाज
ये शाम मस्तानी श्री रॉयन फरनाडीस
मेरे दिवानेपन की भी दवा नही श्री ओ पी चास्टा
रूप तेरा मस्ताना श्री अक्षत जैमन
नीले नीले अंबर पर कु रेशुका निर्वाण
रोते हुए आते है सब श्री सोहन जी
बचना है हसीनो कु. सोनाक्षी दत्ता
लेकर हम दिवाना दिल श्रीमती अनिंदिता दत्ता एव श्री दत्ता
इससे पहले की याद तू आये श्री अनुपम राठौड
अच्छा तो हम चलते है श्रीमती सुनिता जैमन एव श्री जैमन
कहना है कहना है श्री प्रहलाद मीनावत
कितने भी तू कर ले सितम श्रीमती पायल चीमा
रिमझिम गीरे सावन श्री प्रवेश मीनावत
मेरे दिल ने तडप के जब श्रीमती रेखा खोरवाल
जिन्दगी का सफर है श्री नरोत्तम मोयल, विशिष्ठ अतिथि
आने वाला पल डॉ मुकेश शर्मा
भंवरे की गुजंन है मेरा दिल श्री शरद शर्मा
आपकी आंखो में कुछ कु नीलिमा
ये दिल ना होता बेचारा श्री सुबिर बनर्जी
तेरे बिना जिन्दगी से कोई कु कोमल
मेरे सामने वाली खिडकी में श्री रजनीश चारण, विशिष्ठ अतिथि
छकर मेरे मन को श्री चुन्नीलाल
ओ मेरे दिल के चैन श्री प्रकाश सैनी
खिलते है गुल यहां श्री सुरेन्द्र सिहं तवॅर
दिल क्या करे श्री मुकेश त्रिपाठी
दिल मे आग लगाये सावन श्री सुभाष जोशी
चलते चलते (गुप सांग) गुप सांग

सुर सरगम के संरक्षक श्री आर के दुआ ने बताया कि संगीत सध्यां में प्रवेश सीमित रखा गया एव राज्य सरकार द्वारा कोविड 19 बाबत समय-समय पर जारी निर्देशो की अनुपालना तय की गई।

सी.पी.निर्वाण
(अध्यक्ष)
मो. 9001196182

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!