सागर शर्मा को कांग्रेस का टिकट देने की मांग से खलबली

निवर्तमान अजमेर सांसद व मौजूदा चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा के पुत्र सागर शर्मा को अजमेर संसदीय क्षेत्र से कांग्रेस का टिकट दिए जाने की मांग से एक बारगी खलबली मच गई है। अब जब कि टिकट घोषित होने में चंद दिन ही शेष हैं, युवक कांग्रेस व एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं की ओर से यकायक की गई इस मांग ने सभी को चौंकाया भी है।
ज्ञातव्य है कि पिछले लोकसभा उपचुनाव में डॉ. शर्मा ने जीत दर्ज कर कांग्रेस में जान फूंकी थी। उसके बाद विधानसभा चुनाव में उन्होंने केकड़ी से चुनाव लड़ा और अब वे चिकित्सा मंत्री हैं। स्वाभाविक सी बात है कि अब फिर से उनके लोकसभा चुनाव लडऩे की बात करना बेमानी ही है। बावजूद इसके पिछले दिनों कुछ समाचार पत्रों में इस आशय के समाचार आए कि पार्टी हाईकमान ने विकल्प के रूप में अपने पेनल में उनका भी नाम रखा है। इस बीच अचानक उनके पुत्र सागर शर्मा के टिकट की मांग उठ गई है। ऐसे में ये कयास लगाया जाना वाजिब है कि उनके समक्ष पुत्र को चुनाव लड़वाने का प्रस्ताव आया होगा।
जहां तक सागर शर्मा के व्यक्तित्व का सवाल है, उनकी भाषा-शैली व बॉडी लैंग्वेज में पिता की झलक साफ नजर आती है। इस वजह से खासकर युवा वर्ग में लोकप्रिय होने लगे हैं। अपने पिता के लोकसभा उपचुनाव व विधानसभा चुनाव में उन्होंने सक्रिय भूमिका निभाई थी। इस कारण उनको न केवल केकड़ी क्षेत्र के बारे में पूरी जानकारी है, अपितु राजनीतिक समझ विकसित हुई है।
इधर डॉ. शर्मा पर चिकित्सा महकमे जैसे महत्वपूर्ण विभाग का दायित्व आया तो वे अत्यंत व्यस्त हो गए हैं। उन पर पूरे राज्य का भार है। ऐसे में चाह कर भी केकड़ी पर उतना ध्यान दिया जाना संभव नहीं, जितना एक अदद विधायक दे सकता है। इसे देखते हुए सागर शर्मा ने उनकी ओर से केकड़ी में अधिकाधिक समय देना शुरू कर दिया, ताकि आमजन की अपेक्षाएं पूरी की जा सकें। वे लगातार दौरे करते रहे हैं। आज जब यकायक उनको टिकट दिए जाने की मांग उठी है तो ऐसा प्रतीत है कि उन्होंने अपना राजनीतिक केरियर बनाने के लिए ही लगातार सक्रियता बनाए रखी।
जहां तक जातीय समीकरण का सवाल है, अजमेर संसदीय क्षेत्र में तकरीबन सवा दो लाख ब्राह्मण मतदाता हैं। इस वोट बैंक के लामबंद होने के कारण की डॉ. शर्मा की जीत सुनिश्चित हुई थी। अगर सागर शर्मा को टिकट दिया जाता है तो न केवल ब्राह्मण वोट बैंक का लाभ होगा, अपितु पिता के चिकित्सा मंत्री होने का भी फायदा होगा। अगर पार्टी ने सागर शर्मा को टिकट दिया तो स्वाभाविक रूप से यह डॉ. शर्मा के लिए प्रतिष्ठा का सवाल हो जाएगा और वे पूरी ताकत से जीत दिलवाने की कोशिश करेंगे।
-तेजवानी गिरधर
7742067000

Leave a Comment