‘’तितली वाले पर’’

आ जाओ एक बार मकां को ख़ुशबू वाले घर कर दो
रंग बिरंगे चटख गुलाबी तितली वाले पर कर दो.
उमड़ रहा है रंग बसंती, निखरी सपनों की गलियाँ.
डाली डाली लदी सलोनी, आम्र सुवासित मंजरियाँ.
गालों पर पुलकित रंगों ने फिर से प्यास बढाई है.
भीनी भीनी गन्ध हवा ने कलियों तक फैलाई है.
आशा उत्सव कोई मनाए आकर तुम सच गर कर दो.
रंग बिरंगे चटख गुलाबी तितली वाले पर कर दो.

हर हर बह फागुन बयार फूलों की देह झिंझोड़ गयी.
पागल पछुआ छोड़ उसांसें कमल वनों में दौड़ गयी.
इधर पीत वन अमलतास, ठिठका है झंझावातों से.
नींद तड़पती मन्नत धरती, रूठ गयी है रातों से.
छोटे छोटे पंख लगा कर राका एक पहर कर दो.
रंग बिरंगे चटख गुलाबी तितली वाले पर कर दो.

ख्वाबों के बेकाबू धड़कन को हरगिज आराम नहीं.
आग लगाता है टेसू, इसको भी कोई काम नहीं.
भ्रमर गुलाबों से गुपचुप हंस हंस कर बातें करता है.
और रूह के मनुहारों पर, मादक चुम्बन धरता है.
अरमानों के ऋतुमंगल पर वैभव की झालर कर दो.
रंग बिरंगे चटख गुलाबी तितली वाले पर कर दो.

प्रहर नहा श्रृंगार सज़ा कर, नई दमक को साथ लिए
हवा पिया संग छमछम चलती नर्म हाथ में हाथ लिए
पहचानी सी कोई गमक, मन को मानो भरमाती है.
चौपालों से रह रह कर थापें ढ़ोलक की आती हैं.
भरे उजाला फिर बाँहों में, रातों को दुपहर कर दो.
रंग बिरंगे चटख गुलाबी तितली वाले पर कर दो.
– कंचन पाठक.
कवियित्री,लेखिका.
नई दिल्ली.

परिचय –
नाम – कंचन पाठक
जन्म – 11 फ़रवरी
शिक्षा – कानून, प्राणिविज्ञान और हिन्दुस्तानी शास्त्रीय संगीत से स्नातकोत्तर
प्रकाशन – सरिता, कादम्बिनी, अहा ज़िन्दगी, सरस सलिल, कथाक्रम, राजभाषा भारती (गृहमंत्रालय की पत्रिका), समाज कल्याण (महिला एवं बाल विकास मंत्रालय), मधुमती (राजस्थान साहित्य अकादमी), अट्टहास, स्पंदन, रूपायन आदि पत्रिकाओं में कविताएँ, आलेख, व्यंग्य समेत दैनिक जागरण, हिन्दुस्तान टाइम्स, अमर उजाला, हमारा मेट्रो, डेल्ही टाइम्स, दैनिक भास्कर, जनसंदेश (मध्यप्रदेश) आदि सौ से अधिक पत्र पत्रिकाओं में रचनाएँ प्रकाशित .. विभिन्न वेब पत्रिकाओं और ब्लॉग में लेखन
पुस्तक – इक कली थी (एकल), सिर्फ़ तुम, पुष्पगंधा, काव्यशाला, कविता अनवरत (संयुक्त) इत्यादि
संपादन – कस्तूरी कंचन, आगमन आदि
सम्मान – ठाकुर प्रसाद सिंह स्मृति सम्मान (लखनऊ), आरसी प्रसाद सिंह सम्मान (बिहार), आगमन साहित्य, तेजस्विनी (दिल्ली), मिथिला महोत्सव सम्मान (बिहार), हिजला मेला महोत्सव सम्मान (झारखण्ड) इत्यादि
संपर्क –
कंचन पाठक
द्वारा विनोद कुमार
जॉइंट कमिश्नर कमर्शियल टैक्सेज,
कमर्शियल टैक्सेज ऑफिस
मधुबनी सर्किल
खादी भण्डार रोड
मधुबनी – 847211
मो. 8969809870

वर्त्तमान में संपर्क का पता –
कंचन पाठक
हाउस नंबर – 207/10 ग्राउंड फ्लोर
प्रकाश मोहल्ला, ईस्ट ऑफ़ कैलाश
गढ़ी, दक्षिणी दिल्ली – 110065
दत्ता चौक के पास

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!