रिलायंस ने 55 स्थानों का उछाल दर्ज कर 148वें स्थान पर रही

फॉर्च्यून 500 सूची में शामिल 7 भारतीय कंपनिया, रिलायंस ने 55 स्थानों का उछाल दर्ज कर 148वें स्थान पर रही

न्यूयॉर्क, 01 अगस्त: फॉर्च्यून 500 सूची में 7 भारतीय कंपनियों ने सथान बनाया है। सूची में आय के आधार पर विश्व की सबसे बड़ी कंपनियां ओर कॉर्पोरेशन शामिल हैं, जिसमें सरकारी कंपनी आईओसी 137वें स्थान पर पहुंच गयी और रिलायंस इंडस्ट्रीज (आरआईएल) 55 स्थानों का उछाल दर्ज करने में सफल रही है।
सूची में रिटेल क्षेत्र की प्रमुख कंपनी वालमार्ट शीर्ष पर रही है। वहीं सार्वजनिक क्षेत्र की इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (आईओसी) इस रैंकिंग में कारोबार के हिसाब से भारतीय कंपनियों में सबसे ऊपर बनी हुई है। आईओसी का राजस्व पिछले एक साल में 23 प्रतिशत बढ़कर 65.9 अरब डॉलर पर पहुंच गया है। इसके दम पर कंपनी 2017 के 168वें स्थान से छलांग लगाकर इस साल 137वें स्थान पर पहुंच गयी है।
सबसे अमीर भारतीय मुकेश अंबानी के नेतृत्व में रिलायंस इंडस्ट्रीज सबसे बड़ी निजी भारतीय कंपनी बनी हुई है। इसने 62.3 अरब डॉलर राजस्व के साथ 148वां स्थान हासिल किया है। पिछले साल कंपनी 203वें स्थान पर थी।
ओएनजीसी ने 47.5 अरब डॉलर के साथ सूची में पुन: वापसी करने में सफल रही है और 197वां स्थान सुरक्षित किया है। भारतीय स्टेट बैंक 47.5 अरब डॉलर राजस्व के साथ एक पायदान उछलकर 216वें स्थान पर है।

इसी तरह टाटा मोटर्स ने अपनी स्थिति बेहतर करते हुए पिछले साल के 247 स्थान से आगे बढ़ते हुए 232वें स्थान पर पहुंच गई। वहीं भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड (बीपीसीएल) 314वें स्थान पर रही हैं, पिछले साल ये 360वें स्थान पर थी।
राजेश एक्सपोर्ट्स 405वां स्थान हासिल की सूची की सातवीं भारतीय कंपनी रही है, हालांकि उसकी रैंकिंग काफी तेजी से नीचे गए है, पिछले साल उसकी रैंकिंग 295वीं थी।
रिलायंस देश में सबसे अधिक मुनाफा वाली कंपनी रही है और विश्व में मुनाफे के आधार पर 99वें स्थान पर है। सूची में एप्पल भी शीर्ष कंपनियों में शामिल रही है।
शीर्ष 10 कंपनियों में चीन की तीन कंपनियों ने स्थान बनाया है जिनमें स्टेट ग्रिड दूसरे, सिनोपेक ग्रुप तीसरे और चाइना नेशनल पेट्रोलियम कार्पोरेशन चौथे स्थान पर रही है। वहीं रॉयल डच शैल कंपनी ने 5वां स्थान हासिल किया है।
विश्व की 500 सबसे बड़ी कंपनियों ने कुल 30 ट्रिलियन डॉलर की आय अर्जित की है और 2017 में कुल 1.9 ट्रिलियन डॉलर का लाभ कमाया है। इस साल फॉर्च्यून ग्लोबल 500 कंपनियों ने पूरे विश्व में कुल 67.7 मिलियन लोगों को रोजगार प्रदान किया है और वे 33 देशों का प्रतिनिधत्व करती हैं।

Leave a Comment