..जब रो पड़े मिल्खा सिंह

भारत के महान एथलीट मिल्खा सिंह रविवार को सामूहिक बलात्कार पीड़िता को श्रद्धांजलि देते हुए रो पड़े। उनके गोल्फर बेटे जीव मिल्खा सिंह ने पीड़िता के परिवार को तीन लाख रुपये देने का फैसला किया।

पीड़िता को श्रद्धांजलि देने के लिए जुटे लोगों के समूह के साथ 82 वर्षीय उड़न सिख भी यहां मौजूद थे। मिल्खा सिंह ने कहा, इस संकट की घड़ी में उन्हें (परिवार को) अकेला नहीं महसूस करना चाहिए। उनकी बेटी भारत की बेटी थी। उन्होंने कहा कि वह अपने बेटे जीव के साथ दिल्ली में प्रदर्शनकारियों के साथ प्रदर्शन करना चाहते थे, लेकिन वह ऐसा नहीं कर सके क्योंकि उनकी पत्‍‌नी निर्मल कौर फ्रैक्चर से उबर रही हैं। मिल्खा सिंह ने कहा कि मैंने जीव और पोते के साथ गुड़गांव में अपने घर के अंदर मोमबत्ती जलाई और उसकी आत्मा की शांति की प्रार्थना की।

बहादुर लड़की के निधन से देश हिल गया है। मिल्खा सिंह ने कहा, मैं सरकार को पत्र लिखकर ऐसा वीभत्स कृत्य करने वाले वहशियों को सख्त से सख्त सजा देने की मांग करूंगा। उन्होंने कहा, इस कांड के बाद इंग्लैंड, कनाडा और अमेरिका में रह रहे लोगों ने उन्हें फोन कर दुख जताया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!