सितारे फाउंडेशन ने एथेना एजुकेशन के साथ साझीदारी की मदद से प्रख्यात अमेरिकी विश्वविद्यालयों में स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश का जश्न मनाया

दिल्ली, 22 नवंबर, 2022- वर्ष 2050 तक शिक्षा के जरिये पचास हजार जिंदगियों में बदलाव लाने का लक्ष्य लेकर चल रहे गैर लाभकारी संगठन सितारे फाउंडेशन ने राजस्थान से वंचित तबके के पांच प्रतिभावान स्कूली विद्यार्थियों के अपने पहले बैच की घोषणा की है जिन्होंने अमेरिका में प्रख्यात विश्वविद्यालयों में स्नातक स्तर के कंप्यूटर साइंस प्रोग्राम में दाखिला लिया है।

इस महत्वाकांक्षी विजन को पूरा करने में मदद के लिए सितारे फाउंडेशन ने गुरूग्राम स्थित अग्रणी शिक्षा परामर्श फर्म एथेना एजुकेशन के साथ साझेदारी की है जिसके तहत एथेना ने सितारे के विद्यार्थियों को प्रो बोनो आधार पर लिया है।

सितारे फाउंडेशन की संस्थापक सुश्री शिल्पा सिंघल ने कहा, एथेना ने हमारे विद्यार्थियों को मानकीकृत प्रवेश परीक्षाओं, परियोजनाएं तैयार करने, कॉलेज के चयन और आवेदन के लिए मार्गदर्शन उपलब्ध कराकर मजबूत बनाने में उनकी प्रत्येक कदम पर मदद की है। एथेना सितारे की एक महान साझीदार रही है और हम एथेना की मदद के बगैर यह सपना पूरा नहीं कर सकते थे।श्

एथेना एजुकेशन से राहुल सुब्रमण्यम ने कहा, हम केवल कॉलेज परामर्शदाता नहीं है, बल्कि हम समाज पर एक छाप छोड़ना चाहते हैं। सितारे के इन पांच विद्यार्थियों के साथ काम करने के बाद हमें भरोसा हो गया कि ये विद्यार्थी बदलाव का झंडा बुलंद करेंगे। अपनी शिक्षा पूरी करने के बाद वे लौटकर भारत आएंगे और अपने परिवार एवं इस देश के वंचित तबके के लिए नए अवसरों का सृजन करेंगे।

एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर के बेटे मिलन रामधारी ने वर्जिनिया टेक में दाखिला लिया है। वहीं कभी बाल विवाह से अपना पिंड छुड़ाने वाली तनिशा नागोरी ने केस वेस्टर्न रिजर्व यूनिवर्सिटी में स्नातक की डिग्री की पढ़ाई शुरू की है। इसी तरह, कुसुम चौधरी और महेन्द्र कुमार ने यूनिवर्सिटी ऑफ मैरीलैंड में दाखिला लिया है तो वहीं निशा चौधरी ने यूनिवर्सिटी ऑफ मिनेसोटा में प्रवेश लिया है। इन सभी विद्यार्थियों को अमेरिका के विभिन्न प्रतिष्ठित विश्वविद्यालयों से प्रवेश के ऑफर मिले थे जिसके बाद इन्होंने उक्त संस्थानों में प्रवेश लिया। ये सभी पहली पीढ़ी के कॉलेज विद्यार्थी हैं जो अपने परिवार और समुदाय का भविष्य बदलेंगे।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!