200 रुपये न देने पर गई नवजात की जान

जालंधर। डॉक्टर के पेशे को लोग भगवान से कम नहीं मानते, क्योंकि वह मरीजों की जान बचाते हैं। लेकिन जब जान बचाने वाला ही जान लेने पर उतारू हो जाए तो डॉक्टर किसी हैवान से जैसा हो जाता है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है, जालंधर के सिविल अस्पताल में जहां मात्र 200 रुपए न देने पर डॉक्टरों ने एक नवजात शिशु को मरने के लिए छोड़ दिया। मीडिया रिपो‌र्ट्स के अनुसार, बच्ची समय से पहले पैदा हो गई थी जिस कारण उसे इनक्यूबेटर में रखना पड़ा। और जब बच्ची के गरीब माता-पिता फीस के 200 रुपये देने में नाकामयाब रहे तो अस्पताल वालों ने सारी इंसानियत को भूल बच्ची को इनक्यूबेटर से निकाल दिया जिस कारण उसकी मौत हो गई। पेंटर का काम कर गुजारा चलाने वाले पिता को इस बात पर अभी यकीन भी नही हुआ कि उसकी पांच दिन की बेटी उसे छोड़ कर जा चुकी है। दूसरी तरफ अस्पताल के एस एम ओ ने नवजात की मौत की जिम्मेदारी लेने से मना कर दिया है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!