सूरसागर बने बीकानेर की पहचान, विकास कार्य चले निर्बाध गति से

यूआईटी चेयरमैन महावीर रांका व कलेक्टर के साथ सीएम की चर्चा
बीकानेर। राजस्थान गौरव यात्रा के तहत अपने दो दिवसीय दौरे के दौरान बीकानेर आई मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने शुक्रवार सुबह यहां बीकानेर के विकास को लेकर नगर विकास न्यास के चेयरमैन महावीर रांका व जिला कलेक्टर डॉ. एन.के. गुप्ता के साथ चर्चा की व आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं विधायक अशोक परनामी भी मौजूद थे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा कि बीकानेर के विकास में किसी भी स्तर पर रुकावट नहीं होनी चाहिए। बीकानेर का सूरसागर पूरे प्रदेश में अपनी एक अलग पहचान बनाते हुए कहीं भी इस तरह की झील का वर्णन आए, साथ ही सूरसागर बीकानेर की पहचान के रुप में स्थापित होना चाहिए। उन्होंने कहा कि सूरसागर अपने ऐतिहासिक वैभव में तो लौटै ही साथ ही साथ इस झील में होने वाले सभी आधुनिक संसाधन रंगीन रोशनीभरे फव्वारे सहित अन्य सभी सुविधाओं से सुसज्जित हों। इसके लिए न्यास अध्यक्ष महावीर रांका को व्यक्तिगत रुचि लेकर पूर्व की भांति कार्य करने की बात कही। रांका ने बताया कि मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि प्रशासन और नगर विकास न्यास मिलकर सूरसागर के ओर विकास के लिए एक दीर्घकालीन तकमीना बनाए जिसमें यह सुनिश्चित किया जाए कि बीकानेर में कितनी भी बारिश हो, मगर सूरसागर से वर्षा का गंदा पानी न भरे। उन्होंने कहा कि बीकानेर में अन्य सभी आधारभूत सुविधाओं के विकास के लिए संबंधित आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जाएंगे। बीकानेर पूरे प्रदेश में विकास कार्यों से अपनी एक अलग पहचाना बनाए, इसके लिए सभी को मिलजुलकर कार्य करना होगा। मुख्यमंत्री इसके बाद सार्दुल क्लब मैदान से हेलीकॉप्टर से गौरव यात्रा के तहत संभाग के अन्य कस्बों के लिए रवाना हो गई।

Leave a Comment

error: Content is protected !!