शैक्षणिक भ्रमण से लौटा गृह विज्ञान महाविद्यालय की छात्राओं का दल

बीकानेर, 11 जनवरी। स्वामी केशवानंद राजस्थान कृषि विश्वविद्यालय के गृह विज्ञान महाविद्यालय की बीएससी आॅनर्स हाॅमसाइंस चतुर्थ वर्ष की 13 छात्राओं का दल चार दिवसीय शैक्षणिक भ्रमण के बाद शुक्रवार को बीकानेर लौटा।
महाविद्यालय की अधिष्ठाता डाॅ. दीपाली धवन ने बताया कि सहायक आचार्य डाॅ. मंजू राठौड़ के नेतृत्व में छात्राओं ने हिसार और लुधियाना के कृषि विश्वविद्यालयों का भ्रमण किया। इन छात्राओं ने दोनों विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों, पुस्तकालयों, प्रयोगशालाओं आदि का अवलोकन किया तथा प्राध्यापकों-विद्यार्थियों से संवाद करते हुए अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने बताया कि यह दल 8 जनवरी को बीकानेर से रवाना हुआ था। इस दल ने यात्रा के दौरान एमएससी की प्रवेश प्रक्रिया तथा इस क्षेत्र में भविष्य की संभावनाओं के बारे में भी जानकारी हासिल की।
—–
‘हैरिटेज वाॅक’ रविवार को: ‘बीकाणे’ की सुरंगी संस्कृति होगी साकार
पर्यटन विभाग, लोकायन और फूडी देवता के संयुक्त तत्वावधान् में होगा आयोजन
बीकानेर, 11 जनवरी। अंतरर्राष्ट्रीय ऊंट उत्सव के दूसरे दिन रविवार को ‘हैरिटेज वाॅक’ का आयोजन होगा। इसकी शुरूआत प्रातः 9 बजे रामपुरिया हवेलियों के आगे से होगी। पर्यटन विभाग, लोकायन एवं फूडी देवता के संयुक्त तत्वावधान् में आयोजित इस कार्यक्रम में बीकानेर की सुरंगी संस्कृति और परम्पराओं का मनोहारी दृश्य देखने को मिलेगा।
लोकायन के सचिव गोपाल सिंह ने बताया कि रामपुरिया हवेलियों के पास राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रों और समाजों की पगड़ियों एवं साफों का प्रदर्शन किया जाएगा। यहां देशी-विदेशी पर्यटकों के पगड़ियां बांधी भी जाएंगी। आसाणियों के चौक में परम्परागत चौपड़ का प्रदर्शन किया जाएगा। मोहता चौक में स्थानीय कलाकार गणगौर के गीत गाएंगे। वहीं पर्यटकों को मोहता चौक स्थित राजू मोहता की हवेली में स्वर्ण नक्काशी का अवलोकन करवाया जाएगा। मरूनायक चौक में उस्ता आर्ट के तहत निर्मित विभिन्न कलाकृतियों का प्रदर्शन किया जाएगा।
ले सकेंगे रम्मत का आनंद
हैरिटेज वाॅक के दौरान बीकानेर की ऐतिहासिक रम्मतों का मंचन भी होगा। यह मंचन सब्जी बाजार स्थित गोल चौकी पर बारहगुवाड़ के लोक कलाकारों द्वारा किया जाएगा। भाण्डाशाह जैन मंदिर के आगे कपड़े पर ब्लाॅक प्रिंटिंग का प्रदर्शन किया जाएगा। हैरिटेज वाॅक यहां से बीकाजी की टेकरी पहुंचेगी, जहां ‘चंग पर धमाल’ कार्यक्रम होगा। यहां फोटो प्रदर्शनी का आयोजन भी किया जाएगा। इस प्रदर्शनी में ऊंट उत्सव, हवेलियों सहित विभिन्न कार्यक्रमों के फोटो प्रदर्शित किए जाएंगे।
गर्मागर्म कचौड़ी और जलेबी का उठाएंगे लुत्फ
हैरिटेज वाॅक के समापन पर बीकाजी की टेकरी में प्रतिभागी बीकानेरी कचौड़ी, कड़ाई के दूध और जलेबी का आनंद भी लेंगे। यहां पापड़, बड़ी और मूंगोड़ी की स्टाल भी लगाई जाएगी। हैरिटेज वाॅक के दौरान विभिन्न स्थानों पर बैंडवादन होगा तथा विभिन्न संस्थाओं द्वारा पुष्पवर्षा से स्वागत किया जाएगा। सजे-धजे ऊंट और रोबीले इस यात्रा के विशेष आकर्षण होंगे तो रमक-झमक संस्था की ओर से ‘खिड़किया पाग’ पहनकर परम्परागत रूप से दूल्हे का रूप धारण किए युवा भी साथ रहेंगे।

Leave a Comment