कैंसर लाइलाज नहीं,रोग से डरें नहीं लड़ें

बीकानेर । कैंसर कोई लाइलाज बीमारी नहीं है। अगर पीडित सयमित भोजन नियमित योगाभ्यास करे और आत्मविश्वास रखे तो इस रोग पर विजय पा सकते है। ये उद्गार युवा उद्यमी कमल कल्ला ने विश्व कैंसर दिवस पर लॉयन्स क्लब सभागार में संजीवनी द बियोड कैंसर की ओर से आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में व्यक्त किये। उन्होंने कहा कि बीकानेर में आचार्य तुलसी कैंसर रिसर्च कैंसर सेन्टर व संजीवनी संस्थान नर सेवा नारायण सेवा के उद्देश्य से काम कर रही है। आने वाले समय बीकानेर की पहचान सेवाभावी शहर के रूप में होगी। इस मौके पर लॉयन क्लब के पूर्व चैयरमेन डॉ सुमेरचंद जैन ने कहा कि
कैंसर के प्रति जागरूकता फैलाने से ही कैंसर की बीमारी को रोका जा सकता है। बस पान-मसाला, गुटखा और तंबाकू को खाने के बारे में जागरूकता फैलाने की जरूरत है। केश्वानंद कृषि विवि डॉ वीर सिंह ने कहा कि निज पर शासन फि र अनुशासन की परिकल्पना को साकार कर मनुष्य रोग प्रतिरोधक क्षमता पैदा कर सकता है। सिंह ने कहा कि इस बीमारी से डरे नहीं, बल्कि लड़ें। आचार्य तुलसी कैंसर रिसर्च सेन्टर के निदेशक डॉ एम आर बरडिया व डॉ पंकज टांटिया ने कहा कि कैंसर रोग की बढ़ती संख्या जरूर चिंता का विषय हैं। लेकिन इस प्रकार की संस्थाओं से रोगियों का आत्मविश्वास जरूर बढ़ा हैं। उन्होंने कहा कि अगर लोगों में इस बीमारी और उसके उपचार के प्रति जागरुकता हो तो इससे होने वाली मृत्यु को कम किया जा सकता है। नर्सिग कॉलेज के प्राचार्य अब्दुल वाहिद ने भी संजीवनी के प्रयासों को सराहा। संस्था के संस्थापक अनिल आहलूवालिया ने बताया कि देश भर में संजीवनी की 12 शाखाएं जरूरतमंदों के लिये काम कर रही है। कार्यक्रम में लायन क्लब अनिल माथुर,लायनेस क्लब अध्यक्षा मधु खत्री,डॉ शंकर लाल जाखड,अनुराधा पारीक,मीनाक्षी ने विचार रखे। वहीं इनके्रडिबल हाइटस के बच्चों ने नाटक के जरिये कैंसर से बचने का संदेश दिया। कार्यक्रम में कैसर पीडि़त बालिका साक्षी तथा कॉलेजी छात्रा जया ने कविता के जरिये संजीवनी के कार्यों का सराहा। आभार बीकानेर कॉडिनेटर अभिषेक जोशी ने जताया। कार्यक्रम में उपस्थित जनों ने तम्बाकू सेवन न करने की शपथ ली।

Leave a Comment

error: Content is protected !!