किसान हितैषी व जन नेता थे राजेश पायलट – राठौड़

बाड़मेर के युवा नेता आजाद सिंह राठौड़ ने बताया कि पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं किसानों के नेता स्वर्गीय राजेश पायलट की पुण्यतिथि “प्रेरणा दिवस” के रूप में मनाई गई। प्रेरणा दिवस पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किए गए जिसमें गेंहू ग्राम स्थित सत्य साईं अन्ध व मूक बधिर विद्यालय जाकर वहाँ पर रह रहे बच्चों को भोजन करवाया गया। श्री सुमेर गोशाला हायर सेकंडरी स्कूल स्टेशन रोड व श्री गोपाल गौशाला गेंहू रॉड पर गायों को हरा चारा खिलाया।

राठौड़ ने स्व. राजेश पायलट के जीवन पर बोलते हुए कहा कि राजेश पायलट ने 1971 के भारत-पाक युद्ध में भारतीय वायुसेना कि तरफ महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। जन सेवा की भावना से प्रेरित होकर वायुसेना से इस्तीफा देकर राजनीति में प्रवेश किया था। 1980 में भरतपुर से सांसद चुने गये और 1984, 1991, 1996, 1998 एवं 1999 दौसा से सांसद चुने गये। 1985 से 1989 भूतल परिवहन मंत्री, 1991 से 1993 तक टेलिकॉम मिनिस्टर रहे और 1993 से 1995 तक आंतरिक सुरक्षा मंत्री रहे। आज हमें स्वर्गीय राजेश पायलट साहब के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए उन्होंने हमेशा पार्टी के अंदर भी और केंद्र सरकार में मंत्री रहते हुए सरकार में हमेशा किसानों और कमजोर वर्ग के लोगों की आवाज को बखूबी उठाया। और जीवन पर्यन्त किसानों और कमजोर वर्ग को आगे लाने का प्रयास किया। स्व. राजेश पायलट हमेशा कहते थे कि जब तक किसान और गरीब का बेटा पढ़ लिख कर उन पदों पर नहीं पहुंचेगा जहाँ से इस देश की नीतियाँ बनती है तब तक भारत का सही मायनों में विकास नहीं होगा। इसीलिए अगर हमें भारत का विकास करना है तो किसान और गरीब को आगे लाना होगा। स्व.राजेश पायलट की यह सोच आज के समय मे बेहद आवश्यक है। इसीलिए हम सबको उनसे प्रेरणा लेकर देश सेवा के लिए आगे आना चाहिए।

राठौड़ ने कहा कि वर्तमान में राज्य में कांग्रेस की सरकार है इसलिए हमारी जिम्मेदारी बनती है कि सरकार की प्रत्येक योजना का फायदा गांव के गरीब किसान को मिले। यही हमारी स्व.राजेश पायलट को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!