एमजीएसयू इतिहास विभाग में विद्यार्थियों ने की सरस्वती पूजा

बसंत पंचमी की पूर्व संध्या पर हुआ आयोजन
ज्ञान और विवेक की देवी सरस्वती की उत्पत्ति का है वृहद इतिहास : डॉ मेघना शर्मा

एमजीएसयू इतिहास विभाग के विद्यार्थियों द्वारा बसंत पंचमी की पूर्व संध्या पर आज विभाग में सरस्वती पूजा का आयोजन किया। इसके तहत मां सरस्वती को माल्यार्पण कर उन्हें कुमकुम लगाया गया और दीप प्रज्वलन कर सरस्वती के समक्ष पूजा अर्चना कर ज्ञान के प्रकाश की कामना की गई।
इतिहास विभाग की सह प्रभारी डॉ मेघना शर्मा ने बताया की ज्ञान और विवेक की देवी सरस्वती की उत्पत्ति का वृहद इतिहास है, पौराणिक मान्यता है कि श्री कृष्ण और ब्रह्मा ने सर्वप्रथम सरस्वती की पूजा आरंभ की और श्रीकृष्ण के वरदान से ही बसंत पंचमी पर सरस्वती की आराधना शुरू हुई।
आयोजन में विभाग के अतिथि शिक्षकों में डॉ रितेश व्यास, डॉ मुकेश हर्ष, सुधीर छींपा, सुनीता स्वामी, किरण व विभाग की वरिष्ठ लिपिक सोनम मीणा के अलावा विद्यार्थियों में राधिका पारीक, हिमांशु गहलोत, राकेश गोदारा, सुरेश सुथार, दिनेश, स्वरूप, जसराज, मुकेश मेघवाल, मुकेश कुमावत, दीपक स्वामी, जय, संजना, विष्णुदास, विकास आदि शामिल रहे।
उपरोक्त जानकारी देते हुए मीडिया प्रभारी डॉ मेघना शर्मा ने कहा कि ऐसे आयोजन विद्यार्थियों में ज्ञान की अभिवृद्धि व संस्कारों में समृद्धि लाते हैं।

Leave a Comment

This site is protected by reCAPTCHA and the Google Privacy Policy and Terms of Service apply.

error: Content is protected !!