पटेल का योगदान भारत की आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण

fullsizerender-10अजमेर 15 दिसम्बर। शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन ने कहा कि लौह पुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल का योगदान भारत की आजादी की लड़ाई में महत्वपूर्ण था उन्हे देश को निर्णायक नेतृत्व देने के लिए याद किया जाता है।
जैन गुरूवार को कांग्रेस कार्यालय पर आयोजित उनकी 66वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देते हुऐ कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। उन्होने कहा भारत की महान विभूति लौह पुरुष कहे जाने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की आज 66वीं पुण्यतिथि है उन्होंने गृहमंत्री के तौर पर देश को एकजुट करने का एक बहुत ही महत्वपूर्ण प्रयास किया देश के पहले उप प्रधानमंत्री बने।
उन्होने कहा कि पटेल ने देश के गृहमंत्री के तौर पर महात्मा गांधी की हत्या और अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ हिंसा में कथित तौर पर शामिल होने के आरोप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर प्रतिबंध लगा दिया था। आजादी के बाद विभिन्न रियासतों में बिखरे भारत के भू-राजनीतिक एकीकरण में केंद्रीय भूमिका निभाने के लिए पटेल को भारत का बिस्मार्क और लौह पुरूष कहा जाता है। बरदोली सत्याग्रह का नेतृत्व कर रहे पटेल को सत्याग्रह की सफलता पर वहां की महिलाओं ने सरदार की उपाधि प्रदान की थी।
कांग्रेस कार्यालय पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा में शामिल हुऐ कांग्रेसी नेताओं ने सरदार पटेल की तसवीर पर पुष्पांजलि अर्पीत करते हुऐ देष के प्रति उनके योगदान को याद किया। श्रद्धांजलि सभा में विजय जैन, दिनेष शर्मा, सूनिल मोतियानी, बिपिन बैसिल, मुजफ्फर भारती, दयानन्द चतुर्वेदी, मनोज कंजर, ललित भटनागर, अषोक शर्मा, षिवराज भडाना, दिनेष वासन, अंकुर त्यागी, श्याम प्रजापति, परमानन्द आचार्य, इमरान सिद्दीकी, तौकीर सिद्दीकी, मनीष सेठी, विजय जैसवानी, दीपक धानका, अतुल अग्रवाल, राजीव जैन, दिलिप यादव, विष्वास तंवर, दयाषंकर कष्यप, मुकेष श्रीवास्तव सहित कई नेता मौजूद थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!