अजमेर की नई कलैक्टर आरती पर हैं भ्रष्टाचार के आरोप

आपको यह जान का अचरज होगा कि अजमेर की नई कलेक्टर आरती डोगरा पर गंभीर भ्रस्टाचार के आरोप लगे है। डोगरा पर नये हथियार लाईसेंस जारी करने एवं नवीनीकरण तथा भू.कारोबारियों की कॉलोनियों के नियमन में मिलीभगती को लेकर गंभीर आरोप है।एसीबी ने जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 2016 में एक परिवाद संख्या 325 पेश किया गया था। जिसकी जांच एसीबी के अपर पुलिस अधीक्षक रजनीश पूनियां को सौंपी गई है।
डोगरा के कार्यकाल में बीकानेर के कई जरूरतमंद नागरिकों ने संवैधानिक प्रक्रिया के अनुरूप हथियार लाईसेंस के लिये आवेदन कियेए लेकिन जिला कलक्टर ने इन आवेदनों पर कई तरह के आक्षेप दर्ज कर लंबित फाईलों में डाल दियेए नियमानुसार पेश किये गये लाईसेंस नवीनीकरण के आवेदनों में तत्काकालीन कलक्टर द्वारा यही नीति अपनाई गई। जबकि इसी कार्यकाल में जिले के रसूखदार और अपराधिक प्रवृति परिवार से जुड़े लोगों द्वारा पेश किये गये आवेदनों पर लाईसेंस जारी करने के साथ ऐसे कई के लोगों के लाईसेंस नवीनीकरण दिये। आरोप है कि आरती डोगरा ने अपने पद का दुरूपयोग करते हुए यहां नये हथियार लाईसेंस जारी करने एवं नवीनीकरण करने में लाखों रूपये वसूले है वहीं अपने इसी कार्यकाल में नगर विकास न्यास अध्यक्ष होने के नाते आरती डोगरा ने भू.कारोबारियों की अवैध जमीनों के नियम विरूद्ध नियमन कर दिये।

Leave a Comment

error: Content is protected !!