बाढ़ बचाव के सम्बन्ध में बैठक आयोजित

ब्यावर, 07 मार्च। उपखण्ड अधिकारी श्री जसमीत सिंह संधू की अध्यक्षता में सोमवार को उपखण्ड कार्यालय के सभागार में आपदा प्रबन्धन एवं सम्भावित बाढ़ से बचाव के सम्बन्ध में बैठक आयोजित हुई।
उपखण्ड अधिकारी श्री सुधू ने कहा कि ब्यावर उपखण्ड में सम्भावित बाढ़ एवं आपदा से बचाव एवं प्रबन्धन को गम्भीरता से लिया जाए। बैठक में इस सम्बन्ध में कार्ययोजना बनाई गई। इसमें प्रत्येक विभाग को उसके उत्तरदायित्व सौंपे गये। साथ ही इनकी पालना सुनिश्चित करने कि लिए आवश्यक निर्देश प्रदान किए। समस्त विभाग आगामी 15 जून तक अपना नियन्त्राण कक्ष स्थापित कर इसकी सूचना उच्चाधिकारियों को प्रदान करेंगे। आपदा प्रबन्धन की कार्ययोजना बनाकर विभागों के द्वारा मंगलवार को दोपहर तक उपखण्ड अधिकारी कार्यालय में प्रस्तुत करना आवश्यक रहेगा। विभाग इस कार्यालय को अपने कार्यरत समस्त कार्मिकों की सूचना अपडेट करके तुरन्त उपलब्ध करायेंगे। साथ ही समस्त अधिकारी एवं कार्मिक अपने मुख्यालय पर ही रहेंगे।
उन्होंने कहा कि क्षेत्रा का सम्भावित आपदा की दृष्टि से व्यापक सर्वे किया जाए। इसमें लो लाईन एरिया का विशेष ध्यान दिया जाए। किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए सुरक्षित स्थलों एवं भवनों का चिन्हीकरण भी समय पर ही पूर्ण कर लिया जाए। ये समुचित ऊंचाई पर स्थित होने चाहिए। इसी प्रकार पशुधन की सुरक्षा भी की जाए। पशुओं को आपात स्थिति में आश्रय तथा चारे पानी की व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए।
उन्होंने कहा कि उपखण्ड क्षेत्रा में विभिन्न स्थानों पर आवश्यकतानुसार भरे तथा खाली सीमेण्ट के कट्टे रखवाए जाए। इनका भण्डारण आसान पहुंच वाले स्थान पर किया जाना चाहिए। क्षेत्रा के तालाबों, नदियों तथा नहरों के तटबन्धों एवं बांधों का मौका मुआयना सम्बन्धित विभाग के द्वारा किया जाए। आवश्यकता होने पर इनकी मरम्मत की भी व्यवस्था अंजाम दी जाए। उपखण्ड क्षेत्रा के 10 तालाबों की मोनिटरिंग की जाए।
उन्होंने कहा कि क्षेत्रा के जर्जर भवनों का सर्वे किया जाकर चिह्निकरण किया जाए। ऐसे जर्जर भवन जिनके कारण जान-माल की आशंका हो उनको नियमानुसार गिराने की कार्यवाही अंजाम दी जाए। इसके लिए सार्वजनिक निर्माण विभाग के द्वारा जांच की जाएगी। चिकित्सा संस्थाओं पर पर्याप्त मात्रा में दवाओं की उपलब्धता सुनिश्चित होनी चाहिए। पेट्रोल पम्प तथा गैस एजेन्सीयां पर्याप्त मात्रा में रिजर्व स्टाॅक रखेंगे। विद्युत तंत्रा को पूर्व तैयारी के साथ सुदृढ़ कर लें।
इस अवसर पर तहसीलदार श्री दिनेश शर्मा, विकास अधिकारी डाॅ. विजेन्द्र शर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. मुकेश अग्रवाल सहित समस्त विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment