बाल दिवस पर बच्चों ने लिया पेड़ो को गोद

दिनांक 14 नवंबर 2019 गुरूवार आज 14 नवंबर का दिन बच्चों के लिए समर्पित है। यह दिन देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की याद में मनाया जाता हैं क्योंकि वह बच्चों से बेहद प्यार करते थे। उनका मानना था कि बच्चे ही देश का उज्ज्वल भविष्य हैं। नेहरू जी का बच्चों के प्रति इतना प्रेम होने के कारण ही बच्चे उन्हें प्यार से चाचा नेहरू कहकर पुकारते थे।
जब हौंसला बना लिया ऊंची उड़ान का, फिर देखना फिजूल है कद आसमान का यह चंद पंक्तियां भले ही किताबी दुनिया में पढ़ी जाती रही हों, लेकिन शहर के बच्चों ने इन्हें चरितार्थ कर दिखाया है। आज राजस्थान समग्र कल्याण संस्थान अजमेर द्वारा नदी द्वितीय व नुरियावास के राजकीय माध्यमिक विद्यालय में बाल दिवस के अवसर पर निबंध तृतीय आने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कार से सम्मानित किया गया इस उपलक्ष पर प्रत्येक बालिकाओ ने एक एक फलदार पेड़ को गोद लिया साथ ही यह दृढ संकल्प लिया कि जीवन भर इस पेड़ की सेवा करेगी व इस पेड़ को आज के बाद उनके नाम से जाना जायेगा।
राजस्थान समग्र कल्याण संस्थान के मुख्य कार्यकारी अधिकारी एस .एन .शर्मा (दीपक) के अनुसार बचपन एक बार गुजर गया तो लौटकर कभी वापस कभी नहीं आता है। बचपन का हर पल सुहावना था, क्योंकि आखिरकार वो बचपन था। बाल दिवस पूरे देश में बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जा रहा है। इसी के उपलक्ष्य आज संसथान द्वारा जागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन किया गया जिसमे सभी बालिकाओ ने एक एक पेड़ को गोद लेकर अपने परिवार का न केवल सदस्य बनाया बल्कि उसकी सेवा का प्रण लिया।
कार्यक्रम में शाला प्रधान शिवकुमार सेनी व हमेंद्र कुमार वर्मा संस्थान से कार्यक्रम प्रबंधक दीपक शर्मा व कार्यकर्ता पीताम्बर का योगदान सराहनीय है।

डॉ.एस.एन. शर्मा
मुख्य कार्यकारी अधिकारी

Leave a Comment

error: Content is protected !!