रामस्वरूप व रामजी लाल जाट ‘मैन ऑफ़ द मंथ’ पुरस्कार से सम्मानित

अजमेर मंडल के अजमेर स्टेशन पर पदस्थ सवारी गाड़ी के लोको पायलट श्री रामस्वरूप बी व सहायक लोको पायलट श्री रामजी लाल जाट को उत्कृष्ट कर्मचारी ‘मैन ऑफ़ द मंथ’ पुरस्कार से सम्मानित किया गया है । इन दोनों कर्मचारियो द्वारा किये गए प्रशंसनीय कार्य के लिए मंडल रेल प्रबंधक अजमेर श्री नवीन कुमार परसुरामका द्वारा इन्हें माह के उत्कृष्ट कर्मचारी (मैन ऑफ़ द मंथ’) पुरस्कार से सम्मानित किया गया |
दिनांक 2.10.2019 को श्री रामस्वरूप बी लोको पायलट व श्री रामजी लाल जाट सहायक लोको पायलट द्वारा आबू रोड से अजमेर के मध्य गाड़ी संख्या 19413 अहमदाबाद- कोलकाता एक्सप्रेस का संचालन किया जा रहा था| गाड़ी बनास स्टेशन से थ्रू पास होने के पश्चात अजमेर मंडल के पिंडवाड़ा स्टेशन पर गाड़ी का ठहराव था, परंतु स्टेशन मास्टर पिंडवाड़ा ने गाड़ी के लिए होम सिग्नल सिंगल यलो मैनलाइन हेतु दे रखा था| इसके पश्चात जैसे ही गाड़ी 11:20 बजे होम सिग्नल के नजदीक आई तो स्टार्टर व एडवांस स्टार्टर सिग्नल ग्रीन दे दिए गए | जब गाड़ी का ठहराव होते हुए भी गाड़ी को थ्रू पास होने हेतु सिग्नल दिए गए तो लोको पायलट ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए गाड़ी को कंट्रोल कर होम सिग्नल पर ही खड़ा किया एवं वॉकी टॉकी पर स्टेशन मास्टर से पूछा कि गाड़ी का ठहराव होते हुए भी गाड़ी को ग्रीन सिग्नल दे रखे हैं तो स्टेशन मास्टर ने बताया कि गलती से सिग्नल दे दिए गए हैं एवं आपको मैंन लाइन में ही ठहराव हेतु ठहराव के अनुसार गाड़ी खड़ी करके चलना है, तो लोको पायलट ने गाड़ी को रवाना कर मैंन लाइन पर लाकर 11:22 बजे खड़ा किया एवम पुनः 11:26 बजे के बाद रवाना किया| इसमें देखा गया कि पिण्डवाडा स्टेशन पर लगभग 150 यात्री गाड़ी में चढ़े एवं गाड़ी से उतरे |

इस प्रकार यदि लोको पायलट एवं सहायक लोको पायलट अपनी सतर्कता का परिचय देते हुए गाड़ी को नहीं रोकते एवं थ्रू पास हो जाते तो सेक्शन में यात्रियों द्वारा चेन पुलिंग की संभावना थी जिससे गाड़ी को का अनावश्यक विलम्ब होता साथ ही अन्य गाड़ियों के समय पालन पर भी प्रभाव पड़ता, इसके साथ ही यात्रियों को भी बेवजह की परेशानी का सामना करना पड़ता जिससे रेल प्रशासन की छवि भी खराब होती |
इस प्रकार लोको पायलट व सहायक लोको पायलट ने अपनी सूझबूझ का परिचय देते हुए गाड़ी को थ्रू सिग्नल मिलने के बाद भी पास नहीं किया एवं स्टेशन मास्टर से बात कर के ठहराव के बाद ही गाड़ी को रवाना किया | श्री रामस्वरूप बी लोको पायलट व श्री रामजी लाल जाट सहायक लोको पायलट ने एक कर्तव्यनिष्ठ कर्मचारी की भांति अपना कर्तव्य को निभाते हुए एक अति प्रशंसनीय कार्य किया । इनकी कार्य के प्रति निष्ठा लगन, पूर्ण सजगता तथा इस उत्कृष्ट कार्य के लिये मंडल रेल प्रबन्धक महोदय श्री नवीन कुमार परसुरामका ने इन्हें अजमेर मंडल का उत्कृष्ट कर्मचारी पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

Leave a Comment

error: Content is protected !!