अधिकारी प्रबंधकीय क्षमता का उपयोग करते हुए लोगों को राहत प्रदान करें

अजमेर, 14 फरवरी। संभागीय आयुक्त श्री एल.एन.मीणा ने अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे अपनी प्रबंधकीय क्षमता का समुचित उपयोग करते हुए गरीब तबके को विभिन्न योजनाओं में लाभ प्रदान कर राहत दें।
संभागीय आयुक्त शुक्रवार को राजीव गांधी सेवा केन्द्र में मुख्यमंत्री जी की वीडियो कॉफ्रेंसिंग के पश्चात उपस्थित अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। उन्होंने कहा कि अधिकारी सरकार की विभिन्न योजनाओं में दूर दराज बैठे व्यक्ति को लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित करें। इसके लिए उसे व्यक्तिगत प्रयास करते हुए अपनी प्रबंधकीय क्षमता का परिचय देना होगा।
उन्होंने कहा कि सरकार के निरोगी राजस्थान के अभियान के तहत चिकित्सा विभाग एवं श्रम विभाग को सचेत रहकर कार्य करना होगा। इसके लिए अधिकारी सजगता से कार्य करें । उन्होंने आने वाली गर्मियो में पेयजल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए अभी से कंटेजेंसी प्लान तैयार करने व आवश्यक टेण्डर की प्रक्रिया प्रारम्भ करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभिन्न विभागों में अधिकारी एवं कर्मचारियों की समय की पाबंदी एवं कार्यस्थल पर उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिए समय – समय पर आकस्मिक निरीक्षण भी किए जाएं ताकि कार्यालयों में आने वाले लोगों को तत्काल राहत प्रदान की जा सके।
इस मौके पर जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा ने समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे मुख्यमंत्री कार्यालय से प्राप्त प्रकरणों तथा राजस्थान सम्पर्क पर दर्ज प्रकरणों पर विशेष ध्यान देते हुए उन्हें समयबद्धता के साथ निस्तारित करें। इसमें श्ििाथलता किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने सिलिकॉसिस के प्रकरणों को भी समय पर निस्तारित करने एवं मरीज को आर्थिक सहायता उपलब्घ कराने के निर्देश भी दिए। इस मौके पर समस्त जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।

प्रभारी सचिव की समीक्षा बैठक 17 फरवरी को
अजमेर, 14 फरवरी। जिले के प्रभारी सचिव श्री भवानी सिंह देथा सोमवार 17 फरवरी को प्रातः 9.30 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक लेंगे। वे इस बैठक में जनवरी माह तक विकास कार्यों की प्रगति की समीक्षा करेंगे। यह जानकारी जिला कलक्टर ने दी।

Leave a Comment

error: Content is protected !!