उर्स के दौरान माकूल व्यवस्थाओं के लिए श्री नकवी ने दिए निर्देश

अजमेर, 26 फरवरी। केन्द्रीय अल्पसख्ंयक कार्य मंत्री श्री मुख्तार अब्बास नकवी ने बुधवार को उर्स की व्यवस्थाओं के संबंध में कायड़ विश्राम स्थली पर अधिकारियों की समीक्षा बैठक में उर्स के दौरान माकूल व्यवस्थाएं अंजाम देने के निर्देश प्रदान किए। जिला कलक्टर श्री विश्व मोहन शर्मा एवं पुलिस अधीक्षक कु. राष्ट्रदीप ने उर्स के दौरान की जाने वाली व्यवस्थाओं से अवगत कराया।

श्री नकवी ने कहा कि उर्स में देश के साथ -साथ विदेशों से भी जायरीन आते है। इस दौरान जायरीन को पूरी सुविधाएं उपलब्ध करवाए ंजाने की जिम्मेदारी सामूहिक है। हम सबकों मिलकर माकूल व्यवस्थाएं अंजाम देनी चाहिए। पुष्कर में ब्रह्मा मन्दिर और अजमेर में दरगाह सभी को प्रेम और शान्ति का संदेश देते है। उन्होंने अपने भाव को पेड़ जो सूख रहे है उन्हें फलदार करो, नफरतों को खत्म करो, प्यार करो प्यार करो कविता के माध्यम से प्रस्तुत किया।

उन्होंने कहा कि विभिन्न स्थानों पर लगाए जाने वाले मोबाइल टॉयलेट को दिन में दो बार साफ करने तथा खाली करने के लिए नगर निगम द्वारा व्यवस्था की जाएगी। रेलवे द्वारा उर्स के दौरान 15 अतिरिक्त गाड़िया संचालित की जा रही है। इस दौरान बड़ी संख्या में जायरीन आते है। संख्या के अनुरूप ही विभिन्न प्रकार की सुविधाओ में भी रेलवे स्टेशन पर बढोतरी की जानी चाहिए। राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के द्वारा 24 घण्टे अतिरिक्त बसे सुविधानुसार संचालित की जानी चाहिए।

उन्होंने उर्स में ड्यूटी पर तैनात अधिकारी एवं कार्मिकों की पुस्तिका की सराहना की। इसी प्रकार मोबाइल एप उर्स 20-20 के नवाचार को भी सराहा। उन्होंने कहा कि इस तरह के नवाचार अन्य धार्मिक स्थलों पर भी किए जाने चाहिए।

उन्होंने रंग ए चिश्त नामक कला प्रदर्शनी का भी शुभारम्भ किया इसमें दरगाह से संबंधित चित्र, पोटरेट एवं मॉडल को प्रदर्शित किया गया है। कायड़ पर आने वाले जायरीन दरगाह के अनदेखे पहलूहों को भी जान पाएंगे। उद्घाटन के अवसर पर श्री नकवी ने कलाकारों को प्रशिस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित भी किया।

इस अवसर पर अतिरिक्त जिला कलक्टर श्री कैलाश चंद शर्मा एवं श्री हीरालाल मीणा, उर्स मेला मजिस्ट्रेट श्री सुरेश कुमार सिंधी, उपखण्ड अधिकारी श्रीमती अर्तिका शुक्ला, नाजिम श्री शकील अहमद सहित विभिन्न विभागों के अधिकारीगण, पुलिस विभाग के अधिकारीगण तथा दरगाह एवं उर्स से जुड़ी संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!