वास्तविक वंचित वर्ग को नजरअंदाज किया गया

भारती
अजमेर । राज्य्य सरकार की ओर से किसी भी सरकारी योजना में शामिल नहीं गरीब और बेसहारा लोगों को भी भोजन सामग्री उपलब्ध कराए जाने के आदेश के बाद अजमेर जिला प्रशासन द्वारा सरकारी बीएलओ से ऐसे परिवारों की तैयार करवाई गई सूची को भेदभाव पूर्ण तरीके से तैयार कराई गई बताते हुए कांग्रेस ने आपत्ति करते हुए जिला कलेक्टर से मुलाकात की है कांग्रेस का आरोप है कि सरकारी बीएलओ द्वारा राजनीतिक हस्तक्षेप से प्रेरित होकर वास्तविक वंचित वर्ग को नजरअंदाज किया गया है।

शहर कांग्रेस प्रवक्ता मुजफ्फर भारती के अनुसार राज्य सरकार की ऐसी स्पष्ट मंशा है कि ऐसे परिवारों तक राहत सामग्री पहुंचना चाहिए जो किसी भी योजना में चयनित नहीं है और उन्हें राहत उपलब्ध नहीं मिल पा रही सरकार की इस मंशा को फलीभूत करने के लिए जिला प्रशासन ने सरकारी बीएलओ को ऐसे परिवारों को चयनित करने की जिम्मेदारी सौंपी। कांग्रेस का आरोप है कि सरकारी बीएलओ द्वारा राजनीतिक हस्तक्षेप से प्रेरित होकर असल वंचित वर्ग को नजरअंदाज किया गया शहर कांग्रेस अध्यक्ष को कांग्रेसी पार्षदों एवं कांग्रेस के वार्ड अध्यक्षों से लगातार इस बाबत शिकायतें मिल रही थी की सरकारी बीएलओ वंचित वर्ग के चयन में भेदभाव बरत रहे हैं और जिसमें राजनीतिक हस्तक्षेप साफ नजर आ रहा है नतीजतन शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन ने एक शिष्टमंडल के साथ जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा से मंगलवार शाम मुलाकात की और समस्त चयनित सूचियों पर आपत्ति दर्ज कराई। कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन के नेतृत्व में गए शिष्टमंडल ने जिला कलेक्टर को अवगत कराया कि ऐसे परिवारों को सामग्री निशुल्क उपलब्ध करवाई जानी चाहिए जो लॉक डाउन के दौरान खाद्य सामग्री की कमी से परेशानी का सामना कर रहे हो।

कांग्रेस प्रवक्ता के अनुसार शहर कांग्रेस अध्यक्ष के नेतृत्व में गए कांग्रेस के शिष्टमंडल ने जिला कलेक्टर को शहर के 60 वार्डों मैं मजदूर वर्ग रिक्शा चालक स्ट्रीट वेंडर तथा गरीब तबके के बेसहारा वंचित वर्ग जो कि किसी सरकारी योजना से नहीं जुड़े हुए हैं और उन्हें अभी तक सरकार द्वारा दी गई राहत सामग्री प्राप्त नहीं हुई है के तीन हजार परिवारों की एक सूची सोप कर यह आग्रह किया है कि जिला प्रशासन अपने स्तर पर इस सूची का निष्पक्ष रुप से भौतिक सत्यापन करवाए और वंचित वर्ग को सहायता उपलब्ध करवाएं। कांग्रेस ने मांग रखी कि राजनीतिक हस्तक्षेप से प्रेरित होने वाले बीएलओ द्वारा वंचित वर्ग को नजरअंदाज करके बनाई गई सूची को जांच के घेरे में लिया जाए और ऐसे कर्मचारियों के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की जाए जो सरकारी योजना लागू करने में भी राजनीतिक दखलअंदाजी से प्रेरित होते हैं। कांग्रेस अध्यक्ष ने इस प्रकार की घटना की निंदा करते हुए कहा कि वैश्विक आपदा के समय में भेदभाव करने वाले कर्मचारियोंं की की सूची राज्यय सरकार को भेजी जाएगी जिला कलेक्टर विश्व मोहन शर्मा से मिलने गए शिष्टमंडल में शहर कांग्रेस अध्यक्ष विजय जैन के अलावा महामंत्री श्याम प्रजापति विपिन बेसिल प्रवक्ता मुज़फ़्फ़र भारती मौजूद रहे।

Leave a Comment

error: Content is protected !!